UP Board Exam: आसान नहीं होगा परीक्षा में नकल करना, इतने लाख CCTV कैमरें करेंगे निगरानी

10वीं और 12वीं के 56 लाख से ज्यादा बच्चे परीक्षा देंगे. 

UP Board Exam: आसान नहीं होगा परीक्षा में नकल करना, इतने लाख CCTV कैमरें करेंगे निगरानी
फाइल फोटो

नई दिल्ली: आज से उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UP Board Exam 2020) की परीक्षाए शुरु हो रही हैं. जिसमें 10वीं (10th ) और 12वीं (12th) के 56 लाख से ज्यादा बच्चे परीक्षा देंगे. वहीं नकल पर अंकुश लगाने के लिए बेहद हाईटेक इंतजाम किये गए हैं. राजधानी लखनऊ में राज्य स्तरीय निगरानी एवं नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है. परीक्षा केंद्रों के हरे एक कमरे में सीसीटीवी(CCTV) के साथ ही वॉयस रिकार्डर लगाए गए हैं. वेब कास्टिंग के ज़रिये हरेक कमरे की मानीटरिंग की जाएगी. पेपर लीक और कापियां बदलने की घटनाओं को रोकने के लिए पहली बार शुरू से ही एसटीएफ और इंटेलिजेंस को सक्रिय कर दिया गया है, साथ ही विभाग के मंत्री समेत दूसरे प्रमुख लोग इस बार भी हेलीकॉप्टर से हवाई दौरा कर हालात का जायज़ा लेंगे. 

माध्यमिक शिक्षा परिषद के अपर सचिव शिव लाल ने बताया कि प्रदेश के सभी 75 जिलों में एक-एक नियंत्रण कक्ष बनाया गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने 8 फरवरी को सभी जिलों के डीएम, जिला विद्यालय निरीक्षकों और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए नकल विहीन परीक्षा के लिए ठोस कदम उठाने का निर्देश दिया था. उन्होंने परीक्षा के दौरान बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के आदेश दिए. 

आपको बता दें कि वर्ष 2020 की हाईस्कूल की परीक्षा में 30,22,607 परीक्षार्थी और इंटरमीडिएट में 25,84,511 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं. हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 7,859 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जाएंगी. जिन पर 1,90,000 सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी. हाईस्कूल की परीक्षा 3 मार्च को और इंटरमीडिएट की परीक्षा 6 मार्च को समाप्त होगी. इन परीक्षाओं के परिणाम 25 अप्रैल तक घोषित किए जाने की संभावना है.