Zee Rozgar Samachar

छात्र की खुदकुशी के बाद IAS ने शेयर किए अपने मार्क्स, कहा- कम नंबर से न हों परेशान

आजकल बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने का दौर चल रहा है. परीक्षा में उम्मीद के अनुसार नंबर नहीं आने या फिर कम नंबर आने पर छात्र कई बार घातक कदम उठा लेते हैं. ऐसे ही दुखद घटना पिछले दिनों छत्तीसगढ़ में सामने आई.

छात्र की खुदकुशी के बाद IAS ने शेयर किए अपने मार्क्स, कहा- कम नंबर से न हों परेशान

नई दिल्ली : आजकल बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने का दौर चल रहा है. परीक्षा में उम्मीद के अनुसार नंबर नहीं आने या फिर कम नंबर आने पर छात्र कई बार घातक कदम उठा लेते हैं. ऐसे ही दुखद घटना पिछले दिनों छत्तीसगढ़ में सामने आई. छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में एक 18 वर्षीय छात्र ने बोर्ड एग्जाम में फेल होने पर खुदकुशी कर ली. मीडिया रिपोर्टस के अनुसार सुसाइड करने वाला छात्र पिछले साल भी बोर्ड परीक्षा में फेल हो गया था. इस खबर से परेशान होकर 2009 बैच के आईएएस अधिकारी अवनीश कुमार शरण ने फेसबुक पर अपनी मार्कशीट शेयर की है.

नंबर कम आने से परेशान न हो
आईएएस अधिकारी ने फेसबुक पर हाईस्कूल, इंटरमीडिएट और ग्रेजुएशन में प्राप्त खुद के नंबरों शेयर करते हुए छात्रों से कहा कि नंबर कम आने या फिर फेल होने से परेशान न हों और अपनी उम्मीद न छोड़ें. अवनीश कुमार शरण फिलहाल राज्य के कबीरधाम जिले के डीएम हैं. इससे पहले अवनीश अपनी बेटी को प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने और उसके साथ मिड डे मील खाने को लेकर चर्चा में आए थे.

परीक्षा परिणामों को गंभीरता से न लें
उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि मैं सभी छात्रों और उनके माता-पिता से अपील करता हूं कि वे परीक्षा परिणामों को गंभीरता से न लें. यह केवल एक नंबर गेम है. आपको अपनी क्षमताओं को साबित करने के लिए जीवन में और कई मौके मिलेंगे. उन्होंने अपना उदाहरण देते हुए अपने कक्षा 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं और कॉलेज के नंबर फेसबुक पर शेयर किए.

जिलाधिकारी के अनुसार उन्होंने कक्षा 10वीं में 44.5 फीसदी, 12वीं की परीक्षा में 65 प्रतिशत और स्नातक में 60.7 फीसदी नंबर हासिल किए थे. उन्होंने अपने संदेश में यह भी बताया कि उन्होंने 10वीं की परीक्षा 1996 में, 12वीं की परीक्षा 1998 और स्नातक की डिग्री साल 2002 में पूरी की थी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.