close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एजुकेशन में बढ़ा भारत का रुतबा, 'नेचर' की लिस्ट में शामिल हुआ यह संस्थान

दुनिया की जानीमानी रिसर्च मैग्जीन नेचर ने दुनिया के टॉप 10 एकेडमिक इंस्टीट्यूशंस की लिस्ट में भारत के एक संस्थान को शामिल किया है, जो विज्ञान के क्षेत्र में भारत के बढ़ते रुतबे का प्रतीक है.

एजुकेशन में बढ़ा भारत का रुतबा, 'नेचर' की लिस्ट में शामिल हुआ यह संस्थान

नई दिल्ली : दुनिया की जानीमानी रिसर्च मैग्जीन नेचर ने दुनिया के टॉप 10 एकेडमिक इंस्टीट्यूशंस की लिस्ट में भारत के एक संस्थान को शामिल किया है, जो विज्ञान के क्षेत्र में भारत के बढ़ते रुतबे का प्रतीक है. नेचर ने कहा है कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ 10 एकेडमिक संस्थानों की नॉरमलाइज्ड लिस्ट में भारत के बेंगलुरू में स्थित 30 साल पुराना जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस साइंटिफिक रिसर्च (JNCASR) का 7वां स्थान है. इस लिस्ट में हार्वर्ड यूनीवर्सिटी की दि कोल्ड स्प्रिंग हार्बर लेबोरेटरी पहले स्थान पर है.

JNCASR में 53 फैकल्टी मेंबर और 300 छात्र
नेचर ने लिखा है कि नेचर इंडेक्स अनुअल टेबल में शामिल कई संस्थानों के मुकाबले जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस साइंटिफिक रिसर्च काफी नया और छोटा है. इस संस्थान में 53 फैकल्टी मेंबर और 300 छात्र हैं. कुछ अलग होना ही इसकी ताकत है. इसके अलावा भारत की सिलिकॉन वैली कहे जाने वाले बेंगलुरू में होने का भी इस संस्थान को फायदा मिला. शोध को लेकर इस संस्थान का नजरिया एकदम अलग और नया है.

हाल के वर्षों में JNCASR शोधकर्ताओं द्वारा किए गए प्रमुख अध्ययनों में वैश्विक किशोर स्वास्थ्य और सेहत की 2016 लैंसेट समीक्षा और लैसेंट द्वारा भारत में महिला मृत्यु दर की जांच 2018 शामिल है. इस संस्थान ने कई उच्चस्तरीय शोधकर्ता और पूर्व छात्र निकले हैं, जैसे भौतिक विज्ञानी रमा गोविंदराजन, जो विज्ञान के क्षेत्र की एक प्रसिद्ध हस्ती और शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार विजेता हैं और राममूर्ति राजारमन, जो स्टैनफोर्ड, हार्वर्ड और एमआईटी में विजिटिंग प्रोफेसर और परमाणु सिद्धांत तथा परमाणु हथियार नियंत्रण के प्रमुख विशेषज्ञ हैं.