Lockdown: स्कूल से जुड़ी वो सारी बातें जो आप जानना चाहते हैं. आपके मन में उठ रहे सवालों का हम दे रहे जवाब

अभिभावक बच्चों की फीस और अन्य खर्चों को लेकर संशय में हैं

Lockdown: स्कूल से जुड़ी वो सारी बातें जो आप जानना चाहते हैं. आपके मन में उठ रहे सवालों का हम दे रहे जवाब
फाइल फोटो

नई दिल्ली: इस वक्त लॉकडाउन के बाद आपके मन में अपने बच्चे और स्कूल को लेकर कई सवाल उठ रहे होंगे. कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी पर पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद हर अभिभावक अपने स्कूल जाने वाले बच्चों की फीस और अन्य खर्चों को लेकर संशय में है. आइए आपको बताते हैं मन में उठ रहे कुछ सवालों के जवाब...

सवाल: स्कूल को बच्चों की ट्यूशन फीस दे दी गई है. लेकिन बच्चा तो स्कूल ही नहीं जा रहा. ऐसे में क्या दिया हुआ पैसा बरबाद हो गया?
जवाब: नोएडा स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल का कहना है कि बच्चों की पढ़ाई के लिए दी गई ट्यूशन फीस को अगले सत्र में एडजस्ट किया जाएगा. क्योंकि राज्यों में हेल्थ इमरजेंसी लगी है. इसीलिए अभिभावको को इसके लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है.

सवाल: बच्चों को घर से स्कूल से लाने और ले जाने के लिए ट्रांसपोर्ट की फीस पहले ही जमा कर ली गई है? 
जवाब: दिल्ली के सेंट मैरी स्कूल मैनेजमेंट के अनुसार ट्रांसपोर्ट की फीस महीने के हिसाब से चार्ज किया जाता है. हालांकि फरवरी और मार्च में परीक्षा होने की वजह से ज्यादातर स्कूलों में ट्रांसपोर्ट ज्यादातर बच्चे नहीं लेते हैं. लेकिन फिर भी जिन लोगों ने ट्रांसपोर्ट फीस का अग्रिम भुगतान किया है उनका पैसा स्कूल खुलने के बाद एडजस्ट किया जाएगा.

सवाल: आगामी स्कूल का सत्र अप्रैल में शुरू होता है, लेकिन फिलहाल सब कुछ बंद है. क्या इसकी फीस अभी से देनी होगी?
जवाब: दिल्ली सरकार के आदेश के अनुसार लॉकडाउन तक कोई भी स्कूल नहीं खुलेगा. इसके अलावा शिक्षा सत्र शुरू होने की घोषणा सरकार ही करेगी. स्कूल इस दौरान बच्चों से फीस नहीं वसूल सकते.

ये भी पढ़ें- Lockdown: EMI, सैलरी और मुफ्त राशन को लेकर मन में है सवाल? यहां जानिए सरल भाषा में जवाब

सवाल: 12वीं परीक्षा के नतीजे आने में देरी की आशंका है. क्या कॉलेजों में एडमिशन के लिए देरी नहीं होगी?
जवाब: इस वक्त देश के सभी राज्यों में लॉकडाउन है. कोई भी विश्वविद्यालय दाखिले की प्रक्रिया राज्यों में 12वी के परीक्षा परिणाम आने के बाद ही शुरू करता है. इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है. 12वीं के नतीजे आने के बाद ही कॉलेजों के दाखिले शुरू होंगे.