close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एनआईटी में कक्षाएं स्थगित करने के लिए किसी तरह का निर्देश नहीं : प्रशासन

जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर जिला प्रशासन ने कहा है कि श्रीनगर स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) में कक्षाएं स्थगित करने के लिए निर्देश जारी नहीं किया गया है, बल्कि घाटी में मौजूदा हालात के मद्देनजर सिर्फ सतर्कता बरतने के लिए कहा है.

एनआईटी में कक्षाएं स्थगित करने के लिए किसी तरह का निर्देश नहीं : प्रशासन

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर जिला प्रशासन ने कहा है कि श्रीनगर स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) में कक्षाएं स्थगित करने के लिए निर्देश जारी नहीं किया गया है, बल्कि घाटी में मौजूदा हालात के मद्देनजर सिर्फ सतर्कता बरतने के लिए कहा है. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि एनआईटी ने घाटी की स्थिति देखते हुए जिले के सभी शैक्षणिक संस्थानों को सतर्कता बरतने के जिला प्रशासन के निर्देश को गलती से कक्षाओं को स्थगित करने का निर्देश समझकर कक्षाएं स्थगित करने का नोटिस जारी कर दिया था. उन्होंने बताया कि प्रशासन ने इस संबंध में संस्थान से जवाब मांगा है.

वीडियो मैसेज जारी कर खबर को गलत खबर
हालांकि घाटी में कॉलेज पहले से ही 1 अगस्त से 10 अगस्त तक बंद हैं. समर वेकेशन नॉर्मल रूटीन है. स्कूल को बंद करने की बात पर डिवीजनल कमिश्नर ने वीडियो मैसेज जारी कर साफ किया कि यह खबर गलत है. कल रात भी यह अफवाह फैल गई कि शनिवार को घाटी में कर्फ्यू होगा. लेकिन गृह सचिव ने कहा कि ऐसा कोई भी प्लान नहीं है कि घाटी में कर्फ्यू लगेगा या फिर किसी अन्य सुविधा पर प्रतिबंध लगेगा. साथ ही अपने जारी किए हुए आदेश पर स्पष्ट किया गया विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर यात्रियों और पर्यटकों को यहां से जाने के लिए कहा गया है क्योंकि ये लोग कश्मीर के विभिन्न इलाकों में घूमते हैं और हर जगह सुरक्षा देना संभव नहीं होगा.

घाटी में किसी भी जरूरी चीजों की कोई कमी नहीं
प्रशासन ने यह भी साफ किया कि कश्मीर घाटी में किसी भी जरूरी चीजों की कोई कमी नहीं है. गैस, पेट्रोल, राशन सबका भरपूर स्टॉक है. साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की कि अफवाहों पर ध्यान नहीं दें. राजनीतिक दलों से मिलने के बाद राज्यपाल ने भी अपील की कि अफवाहों पर ध्यान नहीं दें. राज्यपाल से मिलने के बाद महबूबा मुफ्ती ने कहा कि राज्यपाल दिल्ली बात करेंगे और फिर सारे मामले को लेकर स्पष्टीकरण देंगे.

निर्देश के बाद सभी पर्यटकों और श्रद्धालुओं से अपील की है कि जितना जल्द हो सके वे कश्मीर से अपना टूर खत्म कर कश्मीर से वापस लौट जाएं. श्रीनगर एयरपोर्ट अथॉरिटी ने भी बैठक बुलाकर सभी यात्रियों को हर किस्म की सुविधा देने का फैसला किया है. यहां से पर्यटकों और श्रद्धालुओं को पहुंचाने के लिए हर मुमकिन सुविधा पहुंचाने का प्रयास कर रही है.