Success Story: दो बार असफल होने के बावजूद भी चाहत ने नहीं छोड़ी उम्मीद, तीसरे प्रयास में बनीं IAS

चाहत वाजपेई आज एक आईएएस अफसर हैं. संघ लोक सेवा आयोग की 2018 की सिविल सर्विसेज परीक्षा में उन्हें ऑल इंडिया रैंक 59वीं मिली थी. लेकिन चाहत को यूपीएससी में सफलता पाने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा.

Success Story: दो बार असफल होने के बावजूद भी चाहत ने नहीं छोड़ी उम्मीद, तीसरे प्रयास में बनीं IAS

नई दिल्ली. IAS Topper Chahat Bajpai Success Story: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सर्विसेज (CSE) की परीक्षा को देश की सबसे प्रतिष्ठित और कठिन परीक्षाओं में एक माना जाता है. हर वर्ष यूपीएससी की सिविल सर्विसेज की परीक्षा में लाखों की संख्या में अभ्यर्थी शामिल होते हैं, जिसकी वजह से अधिकतर अभ्यर्थियों का पहली बार में चयन नहीं होता है. लेकिन कुछ अभ्यर्थी ऐसे होते हैं, जिनका चयन पहली ही बार में हो जाता है. इसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत और लगन होती है. ऐसे ही अभ्यर्थियों में शामिल हैं चाहत वाजपेई. 

चाहत वाजपेई आज एक आईएएस अफसर हैं. संघ लोक सेवा आयोग की 2018 की सिविल सर्विसेज परीक्षा में उन्हें ऑल इंडिया रैंक 59वीं मिली थी. लेकिन चाहत को यूपीएससी में सफलता पाने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा. वह तीसरे प्रयास में सफल हो पाईं. दो असफलताओं के बाद भी चाहत ने हिम्मत नहीं हारी और लगातार मेहनत करती रहीं. खास बात यह रही की चाहत ने निबंध के पेपर में काफी बढ़िया अंक प्राप्त किए, जिसकी बदौलत उनकी अच्छी रैंक आई. 

ऐसा रहा यूपीएससी का सफर
चाहत के मुताबिक इस पेपर को भी बेहद गंभीरता के साथ करना चाहिए. क्योंकि इससे मार्क्स बढ़ जाते हैं और रैंक भी बढ़ जाती है. चाहत ने पहली बार जब यूपीएससी की परीक्षा दी, तो उन्हें असफलता मिली. हालांकि इससे वे निराश नहीं हुईं और उन्होंने दूसरा प्रयास किया. इस बार भी किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और उन्हें सफलता नहीं मिली. चाहत ने तीसरी बार अपनी पुरानी गलतियों को सुधारा और परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर अपना सपना पूरा कर लिया.

IIT कानपुर से ग्रेजुएट हैं चाहत
चाहत के परिवारीजनों की मानें तो वे बचपन से ही पढ़ाई में ठीक थीं. इंटरमीडिएट के बाद उन्होंने आईआईटी का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर लिया. जिसके बाद उन्होंने आईआईटी कानपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की. इसी दौरान उन्होंने यूपीएससी में जाने का फैसला किया. इंजीनियरिंग के बाद उन्होंने तैयारी शुरू कर दी. 

IAS अभ्यर्थियों को टिप्स
चाहत ने ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में भी ग्रेजुएशन के सब्जेक्ट को ही चुना. इसमें उन्होंने अच्छे नंबर हासिल कर सफलता प्राप्त की. चाहत का मानना है कि अभ्यर्थियों को यूपीएससी की तैयारी करते समय कम से कम 9 घंटे पढ़ाई जरूर करनी चाहिए. इससे सभी विषयों को आसानी के साथ कवर किया जा सकता है. साथ रिवीजन भी अच्छी तरह हो जाता है. 

चाहत के मुताबिक अभ्यर्थियों को तैयारी करते समय एक नोट जरूर बनाना चाहिए. इससे रिवीजन में भी आसानी होती है. इसके अलावा निबंध लिखने की प्रैक्टिस करनी चाहिए. क्योंकि इससे परीक्षा में लिखते समय निबंध में गलतियां नहीं होती है और हम किसी भी टॉपिक पर अच्छे से लिख पाते हैं. 

WATCH LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.