close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

UP Board 10th Result 2019: गणित और विज्ञान में नहीं, हिंदी में हुए सबसे ज्यादा फेल

UP Board Results 2019: 27 अप्रैल को 10वीं और 12वीं के नतीजे घोषित कर दिए गए. इस साल 10वीं बोर्ड में सबसे ज्यादा 5.74 लाख छात्र हिंदी में फेल हुए.

UP Board 10th Result 2019: गणित और विज्ञान में नहीं, हिंदी में हुए सबसे ज्यादा फेल
10 वीं में इस साल 3192587 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था. इनमें से 2839284 छात्र परीक्षा में शामिल हुए.

नई दिल्ली: UP Board Results 2019: शनिवार यानी 27 अप्रैल को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की तरफ से 10वीं (UP Board 10th Result 2019) और 12वीं के नतीजे घोषित किए गए. इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा में करीब 29.50 लाख छात्र शामिल हुए थे. आपको जानकर हैरानी होगी कि हिंदी भाषी प्रदेश होते हुए भी सबसे ज्यादा छात्र हिंदी के विषय में ही फेल हुए. इस साल हिंदी विषय में 5.74 लाख, अंग्रेजी में 5.02 लाख और गणित में 5.03 लाख छात्र फेल हुए हैं. कुल 80.54 फीसदी छात्र 10वीं बोर्ड की परीक्षा में पास हुए हैं.

हिंदी में सबसे ज्यादा छात्रों के फेल होने को लेकर बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने कहा कि इसकी कोई खास वजह नहीं है. हिंदी भाषी होने के कारण ज्यादातर छात्र हिंदी को लेकर गंभीर नहीं होते हैं. इसकी एक वजह ये भी हो सकती है. शिक्षाविदों का यही मानना है कि हिंदी बहुत ज्यादा आसान नहीं है. ऐसे में छात्रों को इस विषय पर भी उचित समय देने की जरूरत है. भविष्य में जो छात्र बोर्ड की परीक्षा देंगे उन्हें इस नतीजे से सबक सीखना चाहिए.

कानपुर के गौतम रघुवंशी ने 10वीं में किया टॉप, इंजीनियर बनने की है चाहत

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक,  अंग्रेजी की परीक्षा में कुल 23.95 लाख छात्र शामिल हुए थे, जिनमें 18.93 लाख छात्र ही परीक्षा पास कर पाए. उसी तरह गणित की परीक्षा में 19.12 लाख छात्र शामिल हुए जिनमें 14.09 लाख छात्र ही परीक्षा पास कर पाए.

रोज 19 घंटे पढ़ाई करती थी किसान की बेटी तनु तोमर, आज 12वीं में टॉप कर बढ़ाया मान

बता दें, इस साल 3192587 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था. इनमें से 2839284 छात्र परीक्षा में शामिल हुए. परीक्षा में शामिल छात्रों में 1517984 लड़के और 1321300 लड़कियां थीं. कुल 2273304 छात्र पास हुए, जिनमें 1163735 लड़के और 1109569 लड़कियां हैं.