World Students Days 2021: क्यों मनाया जाता है 'विश्व छात्र दिवस', जानें इसका इतिहास
X

World Students Days 2021: क्यों मनाया जाता है 'विश्व छात्र दिवस', जानें इसका इतिहास

15 अक्टूबर 2010 को , संयुक्त राष्ट्र संगठन (UNO) ने शिक्षा को बढ़ावा देने की कोशिशों के लिए डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के 79वें जन्मदिवस पर विश्व छात्र दिवस या विश्व विद्यार्थी दिवस के रूप मनाने मनाने का एलान किया था. इसके बाद हर साल उनकी जयंती को विश्व  'विश्व छात्र दिवस' के रूप मनाया जाता है.

World Students Days 2021: क्यों मनाया जाता है  'विश्व छात्र दिवस', जानें इसका इतिहास

नई दिल्ली. दुनियाभर में हर वर्ष 15 अक्टूबर को  'विश्व छात्र दिवस' मनाया जाता है. यह दिवस भारत रत्न और पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की जयंती के रूप में मनाया जाता है. संयुक्त राष्ट्र संगठन (U.N.O) ने उनके जन्मदिन 15 अक्टूबर 2010 को 'विश्व विद्यार्थी दिवस' घोषित किया था. 

'विश्व छात्र दिवस' का इतिहास
15 अक्टूबर 2010 को , संयुक्त राष्ट्र संगठन (UNO) ने शिक्षा को बढ़ावा देने की कोशिशों के लिए डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के 79वें जन्मदिवस पर विश्व छात्र दिवस या विश्व विद्यार्थी दिवस के रूप मनाने मनाने का एलान किया था. इसके बाद हर साल उनकी जयंती को विश्व  'विश्व छात्र दिवस' के रूप मनाया जाता है.

'विश्व छात्र दिवस' का उद्देश्य
छात्र देश के भविष्य हैं, इसलिए यह काफी महत्वपूर्ण है कि उनके लिए समर्पित इस दिवस को मनाया जाए और छात्रों की प्रशंसा की जाए. इस दिन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम और उनके जीवन से संबंधित प्रेरणादायक कहानियों से छात्रों को रूबरू कराया जाता है और उन्हें जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता है. 'विश्व छात्र दिवस' दिवस को मनाने का उद्देश्य छात्रों को महत्व देना और समाज में उनके महत्व को समझना है.

बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल क्लाम
ए.पी.जे अब्दुल क्लाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को धनुषकोडी, रामेश्वर तमिलनाडु में हुआ था. उनका पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था. 2002 में उन्हें भारत के राष्ट्रपति के रूप में चुना गया था. इससे पहले वे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) में एक एयरोस्पेस इंजीनियर के रूप में काम करते थे. 

WATCH LIVE TV

Trending news