close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

CM फडणवीस हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बचे, कीचड़ में फंस गया था हेलिकॉप्टर

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में कर्जत की सभा खत्म करने के बाद वह पेण में जनसभा को संबोधित करने आए थे. पेण-बोरगांव में उनके हेलिकाप्टर ने लैंड किया था, लेकिन मिट्टी गीली होने की वजह से पहिया फिसल गया. 

CM फडणवीस हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बचे, कीचड़ में फंस गया था हेलिकॉप्टर
दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बचा CM फडणवीस का हेलिकॉप्टर.

प्रफुल्ल पवार, मुंबई: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 (Maharashtra Assembly Elections 2019) में प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra fadnavis) हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बच गए. रायगढ़ जिले के पेण में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस हेलिकाप्टर हादसे का शिकार होते बाल-बाल बचा है. महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में कर्जत की सभा खत्म करने के बाद वह पेण में जनसभा को संबोधित करने आए थे. पेण-बोरगांव में उनके हेलिकाप्टर ने लैंड किया था, लेकिन मिट्टी गीली होने की वजह से पहिया फिसल गया. इसके चलते हेलिकाप्टर के पायलट ने कुछ पलों के लिए कंट्रोल खो दिया था, हालांकि कुछ पल में ही पायलट ने हेलिकाप्टर को काबू में कर लिया.

हेलिकाप्टर में उस वक्त मुख्यमंत्री के अलावा उनका पीए, इंजीनियर, पायलट और को-पायलट थे. पुलिस अधीक्षक अनिल पारसकर का कहना है कि मुख्यमंत्री समेत सभी पूरी तरह सुरक्षित हैं. 

इससे पहले गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र में रैली की थी. शाह ने महाराष्ट्र में फडणवीस सरकार के कार्यों के आंकड़े गिनाते हुए कहा कि महाराष्ट्र में 26,000 करोड़ सिंचाई, 3,000 करोड़ सूखे से निपटने, 13,000 करोड़ प्रधानमंत्री आवास योजना, 7,000 करोड़ स्वच्छ भारत, 20,000 करोड़ मेट्रो, 7,700 करोड़ अमृत योजना और 97,000 करोड़ रुपये अन्य विकास योजनाओं के लिए दिए गए हैं. शाह ने रैलियों में परिवारवाद के मुद्दे पर भी कांग्रेस-राकांपा की घेराबंदी की. उन्होंने कहा कि परिवारवादी पार्टियां लोकतंत्र का और देश का भला नहीं कर सकतीं, वो सिर्फ अपने परिवार का भला कर सकती हैं.

उन्होंने कश्मीर के मुद्दे पर कांग्रेस के रुख की आलोचना करते हुए कहा, '1994 में यूएन में कश्मीर पर चर्चा होनी थी, तब के प्रधानमंत्री नरसिम्हा रावजी ने अटलजी को भारत की तरफ से चर्चा में भाग लेने का आग्रह किया था. तब अटल जी ने विपक्ष के नेता होने के बावजूद यूएन में कश्मीर के बारे में भारत का पक्ष रखा. राहुल बाबा कुछ मुद्दे ऐसे होते हैं जिसमें पार्टी से ऊपर उठकर देश के लिए सोचा जाता है.' शाह ने कहा, 'हम भाजपा के कार्यकर्ता हैं, हम चुनाव में जीत-हार की चिंता नहीं करते बल्कि देशहित का सोचते हैं. इसी वजह से नरेन्द्र मोदी ने इस बार चुनाव के बाद संसद के पहले ही सत्र में अनुच्छेद 370 को उखाड़ दिया.'

महाराष्ट्र की चुनावी रैलियों में अमित शाह ने एनआरसी पर भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि सरकार 2024 तक घुसपैठियों को निकाल बाहर करेगी. हम घुसपैठियों को निकालने के लिए एनआरसी लाना चाहते हैं. लेकिन कांग्रेस-राकांपा वाले विरोध कर रहे हैं.

उन्होंने जनता से मुखातिब होते हुए कहा कि ये लोग वोट मांगने आएं तो उनसे पूछना कि वो घुसपैठियों को क्यों बचा रहे हैं? 2024 से पहले पूरे देश से एक-एक घुसपैठिये को चुन-चुन कर बाहर निकालने का काम मोदी सरकार करेगी.