close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र चुनाव रिजल्ट 2019: उद्धव ठाकरे बोले- 50-50 के फॉर्मूले से नहीं झुकेगी शिवसेना

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का रिजल्ट (Maharashtra Assembly Elections results 2019) आने के बाद यहां की राजनीति में ट्विस्ट देखने को मिल रहा है. शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने रिजल्ट आने के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा है कि वह 50-50 के फॉर्मूले से कम में नहीं झुकेंगे. 

महाराष्ट्र चुनाव रिजल्ट 2019: उद्धव ठाकरे बोले- 50-50 के फॉर्मूले से नहीं झुकेगी शिवसेना
Maharashtra Assembly Elections results 2019 : शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बीजेपी के सामने रखी शर्त.

मुंबई: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का रिजल्ट (Maharashtra Assembly Elections results 2019) आने के बाद यहां की राजनीति में ट्विस्ट देखने को मिल रहा है. शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने रिजल्ट आने के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा है कि वह 50-50 के फॉर्मूले से कम में नहीं झुकेंगे. दरअसल, महाराष्ट्र चुनाव में अभी भी वोटो की गिनती जारी है, लेकिन अब तक आए रिजल्ट के मुताबिक बीजेपी+शिवसेना (Shiv Sena) गठबंधन के खाते में 159 सीटें जाती दिख रही है. इसमें से शिवसेना (Shiv Sena) के खाते में 58 और बीजेपी के खाते में 101 सीटें जाती दिख रही है. इसे देखते हुए शिवसेना (Shiv Sena) मोल-भाव की स्थिति में आ गई है.

उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान ही 50-50 फॉर्मूला तय हुआ था, जिसपर शिवसेना (Shiv Sena) कायम है. शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने साफ तौर से कहा कि 50-50 के फॉर्मूले पर शिवसेना (Shiv Sena) नहीं झुकेगी. ठाकरे ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान यह फॉर्मूला तय हुआ था. 

लाइव टीवी देखें-:

ठाकरे ने महाराष्ट्र की जनता का धन्यवाद करते हुए कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने जागरूक होकर मतदान किया. महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना (Shiv Sena) मिलकर सरकार बनाएंगे. शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख ठाकरे ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ लोकसभा चुनाव के दौरान जो फॉर्मूला तय हुआ था, वह लागू है. महाराष्ट्र में सीएम कौन बनता है, यह देखना होगा. हालांकि उद्धव ने स्पष्ट किया कि वह कांग्रेस-एनसीपी से गठबंधन नहीं करेंगे. उद्धव ने कहा कि हर बार बीजेपी का प्रस्ताव नहीं मानेंगे. छोट भाई- बड़े भाई का कोई फर्क नहीं है.

यहां आपको बता दें कि 288 विधानसभा सीटों वाले महाराष्ट्र में अब तक आए रिजल्ट में कांग्रेस+एनसीपी 108 सीटों पर या तो जीत चुके हैं या बढ़त बनाए हुए हैं. ऐसे में एक विकल्प है कि शिवसेना (Shiv Sena) अपनी शर्त पर एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बना ले. इसी स्थिति को देखते हुए शिवसेना (Shiv Sena) बीजेपी के सामने अपनी शर्तें मनवाना चाह रही है. पहली बार ठाकरे परिवार की ओर से आदित्य ठाकरे चुनाव लड़े हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि शिवसेना (Shiv Sena) आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनवाने पर अड़ सकती है.