close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आदित्य ठाकरे के चुनाव प्रचार का अनोखा अंदाज, उर्दू-हिंदी समेत कई भाषाओं में लगाए होर्डिंग

शिवसेना के संस्थापक बाला साहब ठाकरे से लेकर राज ठाकरे और उद्धव ठाकरे ने भी कभी चुनाव नहीं लड़ा है. लेकिन ठाकरे परिवार की तीसरी पीढ़ी से इस बार चुनावी ताल ठोकने के लिए उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे चुनाव मैदान में है

आदित्य ठाकरे के चुनाव प्रचार का अनोखा अंदाज, उर्दू-हिंदी समेत कई भाषाओं में लगाए होर्डिंग

मुंबईः महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए ठाकरे परिवार से पहली बार कोई सदस्य मैदान में उतरने जा रहा है. इसलिए पार्टी किसी भी तरह से कोई जोखिम नहीं उठाना चाहती है. अपने राजनीति जीवन के शुरुआत से ही मराठी मानुस और मराठी अस्मिता के नाम पर राजनीति करने वाली शिवसेना ने साल 2019 के विधानसभा चुनाव में शायद अपनी विचारधारा में थोड़ा लचीलापन अपनाया है.

ऐसा इसलिए भी कहा जा सकता है कि क्योंकि कि इस बार शिवसेना के प्रचार में मराठी ही नहीं कई भारतीय भाषाओं की झलक देखने को मिल रही है.

शिवसेना, भाजपा और खुद के लिए 50:50 के अनुपात में सीटों का बंटवारा चाह रही है. इसके तहत दोनों पार्टियों को 135-135 सीटें मिलेंगी और 288 सदस्यीय विधानसभा में 18 सीटें छोटी पार्टियों के लिए छोड़ी जाएंगी. महाराष्ट्र विधानसभा के लिए चुनाव 21 अक्टूबर को होंगे और नतीजे 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे.