close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

  • 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    98अन्य

अपनी सीट खोजें

बालाघाट

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश की बालाघाट लोकसभा सीट प्रदेश की उन सीटों में से एक है, जिन पर पिछले 5 लोकसभा चुनावों से भाजपा ही परचम लहराती आई है. 1998 में जीत दर्ज कराने के बाद से लेकर अब तक बालाघाट लोकसभा सीट पर भाजपा का ही कब्जा रहा है, न तो कांग्रेस और न ही कोई अन्य पार्टी, इस सीट को भाजपा से छीनने में नाकाम ही रही हैं, लेकिन कुछ नेताओं और कार्यकर्ताओं के बगावती सुरों के बाद बालाघाट के राजनीतिक समीकरण कुछ हिले-डुले से नजर आ रहे हैं और कांग्रेस इसी का फायदा उठाकर भाजपा के गढ़ में सेंधमारी की कोशिश में जुटी है.

राजनीतिक इतिहास
बालाघाट में पहली बार लोकसभा चुनाव 1951 में हुए. जिसमें कांग्रेस को जीत मिली. इसके बाद के चुनाव में भी कांग्रेस ही इस सीट से विजयी रही, लेकिन 1962 के चुनाव में कांग्रेस को हार का मुंह देखना पड़ा. 1967 में कांग्रेस ने वापसी की और इसके बाद 1998 तक वही इस सीट पर विजयी रही, लेकिन 1998 में भाजपा की पहली जीत के साथ ही कांग्रेस की हार का सिलसिला शुरू हो गया, जो कि अब तक खत्म नहीं हो सका है. बता दें पिछले 5 लोकसभा चुनाव से बालाघाट लोकसभा सीट पर भाजपा का कब्जा है. ऐसे में कांग्रेस इस बार पूरी कोशिश में है कि भाजपा के गढ़ को भेद सके और अपनी जीत सुनिश्चित कर सके.

2014 के राजनीतिक समीकरण
2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से भारतीय जनता पार्टी के बोधसिंह भगत ने जीत हासिल की. उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी हिना लिखीराम कांवरे को 96,041 वोटों के अंतर से हराया था. 2014 के चुनाव में जहां बोधसिंह को 4,80,594 वोट मिले थे तो वहीं उनकी प्रतिद्वंद्वी हिना लिखीराम कांवरे को 3,84,553 वोट ही मिल सके. बता दें बोधसिंह भगत 2014 में जीतकर पहली बार संसद पहुंचे थे.
सांसद का रिपोर्ट कार्ड
64 साल के बोधसिंह भगत को उनके निर्वाचन क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए 25 करोड़ का फंड आवंटित हुआ था, जिसमें से उन्होंने करीब 21 करोड़ की राशि खर्च कर दी, जबकि 4 करोड़ फंड बिना खर्च किए रह गया.

और पढ़े

और पढ़े

उम्मीदवार पार्टी वर्तमान स्थिति कुल वोट
डॉ. ढाल सिंह बिसेन बीजेपी

जीते

696102
मधु भगत कांग्रेस

हारे

454036
कंकर मुंजारे बीएसपी

हारे

85177
बोधसिंह भगत निर्दलीय

हारे

47220
अली .एम आर खान सीपीआई

हारे

9685
जयसिंह टेकाम जीजीपी

हारे

8711
नारायण बंजारे निर्दलीय

हारे

8463
किशोर समरीते निर्दलीय

हारे

7365
अभिषेक बिल्हौरे बीएससीपी

हारे

5922
एडवोकेट सत्य प्रकाश शुक्ला (लोधी) एमपीजेवीपी

हारे

5882
मकबूल शाह निर्दलीय

हारे

4787
जी. एल. जी टांडेकर निर्दलीय

हारे

4504
नोटा नोटा

हारे

4242
बाबू राजेंद्र ढोके पीपीआई (डी)

हारे

4172
मुकेश बंसोड़ एपीओआई

हारे

4076
श्रीमति मनीषा वैद निर्दलीय

हारे

3809
सतीश तिवारी बीएलआरपी

हारे

3435
पीतम बोरकर निर्दलीय

हारे

2740
करण सिंह नागपुरे बीएमपी

हारे

2440
मीरश्याम लिल्हारे लोधी निर्दलीय

हारे

2320
राजन मसीह बीपीएचपी

हारे

2022
युवराज सिंह बैस पीबीआई

हारे

1890
रूपलाल कुत्राहे (समाज सेवक) लोधी निर्दलीय

हारे

1513
राकेश कुमार निर्दलीय

हारे

1505

बालाघाट खबरें