close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

  • 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    98अन्य

अपनी सीट खोजें

बंगलुरु ग्रामीण

बेंगलुरु: बेंगलुरु ग्रामीण सीट 2008 में अस्‍त‍ित्‍व में आई. तब से लेकर अब तक इस सीट पर 3 चुनाव हो चुके हैं, लेकिन इसमें एक बार भी बीजेपी को जीत नसीब नहीं हुई. लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव में बीजेपी ने इस सीट से अश्‍वत नारायण को अपना उम्‍मीदवार बनाया है. वहीं कांग्रेस ने यहां से दो बार जीत हा‍सिल कर चुके डीके सुरेश को मैदान में उतारा है. डीके सुरेश ने 2013 के उपचुनाव में कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी की पत्‍नी को हराया था. 2014 में भी वह इस सीट को अपने नाम कर चुके हैं. लेकिन बीजेपी के अश्‍वत को भरोसा है इस बार जनता उनका साथ देगी.

2009 में इस सीट पर पहली बार चुनाव हुए थे. तब एचडी कुमारस्‍वामी ने बीजेपी के सीपी योगेश्‍वर को करीब 1.3 लाख वोट के मार्जिन से हराया था. 2013 में इस सीट पर उपचुनाव हुए. तब कुमारस्‍वामी की पत्‍नी अनिता इस सीट पर जेडीएस की उम्‍मीदवार बनीं. लेकिन तब कांग्रेस के डीके सुरेश ने उन्‍हें 1.37 लाख वोट से हरा दिया. 2014 के चुनाव में डीके सुरेश ने बीजेपी के मुनिराजू गौड़ा पी को करीब 2.31 लाख वोट से हरा दिया. अब लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव में डीके सुरेश और अश्‍वत नारायन आमने सामने हैं.

इन चीजों के लिए जाना जाता है बेंगलुरु ग्रामीण
बेंगलुरु ग्रामीण का ये क्षेत्र अपने तेजी से बढ़ते आईटी क्षेत्र और खेती के लिए जाना जाता है. यहां पर रागी, चावल और मूंगफली के लिए खास पहचान रखता है. इस लोकसभा सीट में 8 विधानसभा सीटें आती हैं. इस सीट से इस बार 15 उम्‍मीदवार मैदान में हैं. इनमें 9 अलग अलग दलों का प्रतिनिधि‍त्‍व करने वाले हैं. वहीं छह उम्‍मीदवार निर्दलीय हैं.

कौन हैं डीके सुरेश
डीके सुरेश कर्नाटक की राजनीति में बड़ा चेहरा हैं. इसके पीछे वजह है उनके भाई डीके शिवकुमार. वह कांग्रेस का बड़ा वोक्‍कालिगा चेहरा हैं. एक साल पहले विधानसभा चुनाव में जब बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनी थी, तब डीके शिवकुमार ने ही कांग्रेस विधायकों को टूटने से बचाया और कांग्रेस जेडीएस की सरकार बनवाई थी. इस समय वह कर्नाटक में कांग्रेस का बड़ा चेहरा हैं. डीके सुरेश की कुल संपत्‍त‍ि 338 करोड़ रुपए से ज्‍यादा है.

अश्‍वत नारायण गौड़ा
बीजेपी के एमएलसी रह चुके हैं. वर्तमान में राज्‍य में पार्टी प्रवक्‍ता हैं. कृषि और बिजनेस बैकग्राउंड से आते हैं. डीके सुरेश ही तरह वोक्‍कालिगा समुदाय से ताल्‍लुक रखते हैं. उनकी कुल संपत्‍त‍ि 29 करोड़ है.

और पढ़े

और पढ़े

उम्मीदवार पार्टी वर्तमान स्थिति कुल वोट
डीके सुरेश कांग्रेस

जीते

878258
अश्‍वथ नारायणगौड़ा बीजेपी

हारे

671388
डॉ. चिनप्‍पा वाइ चिक्‍काहेगड़े बीएसपी

हारे

19972
नोटा नोटा

हारे

12454
मंजूनाथ एम यूपीपी

हारे

9889
एन कृष्‍णाप्‍पा पीपीआई

हारे

8123
जे टी प्रकाश निर्दलीय

हारे

4785
डी एम माधेगौड़ा आरपीएस

हारे

2801
रघु जनागेरे निर्दलीय

हारे

2490
रामा टी सी एसयूसीआई

हारे

2094
वेंकटेशप्‍पा एसजेपी

हारे

2025
एम सी देवाराजू निर्दलीय

हारे

2020
बी गोपाल निर्दलीय

हारे

1859
डॉ. एम वेंकटस्‍वामी आरपीआई (ए)

हारे

1462
एच टी चिक्‍काराजू निर्दलीय

हारे

1362
ईश्‍वर निर्दलीय

हारे

924

बंगलुरु ग्रामीण खबरें

बेंगलुरु : एक्‍ट्रेस श्रुति हरिहरण की एफआईआर दर्ज करने की याचिका पर सुनवाई टली

बेंगलुरु : एक्‍ट्रेस श्रुति हरिहरण की एफआईआर दर्ज करने की याचिका पर सुनवाई टली

श्रुति हरिहरण ने अभिनेता अर्जुन सारजा पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है.

Nov 15, 2018, 03:14 PM IST
IPL 2018 : आखिर चला विराट का बल्ला लेकिन रंग में नहीं आ पाए कोहली

IPL 2018 : आखिर चला विराट का बल्ला लेकिन रंग में नहीं आ पाए कोहली

विराट कोहली की बल्ला इस बार आईपीएल में उम्मीद के मुताबिक नहीं चल रहा है. हालांकि तीसरे मैच में वे 57 रन जरूर बना गए लेकिन इस मैच में टीम को इससे ज्यादा की जरूरत थी. 

Apr 15, 2018, 07:27 PM IST
NCA बनने के बाद मुख्यालय को बेंगलुरू में स्थानांतरित कर सकता है BCCI

NCA बनने के बाद मुख्यालय को बेंगलुरू में स्थानांतरित कर सकता है BCCI

राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के पूरी तरह तैयार होने के बाद बीसीसीआई अपना मुख्यालय मुंबई के प्रतिष्ठित वानखेड़े स्टेडियम से हटाकर बेंगलुरू ले जा सकता है. 

Feb 6, 2018, 05:59 PM IST
36 सालों के बाद होगा नीले चांद का दीदार, झलक पाने को बेताब हैं 'सिलिकन वैली' के हजारों लोग

36 सालों के बाद होगा नीले चांद का दीदार, झलक पाने को बेताब हैं 'सिलिकन वैली' के हजारों लोग

चांद जब अपनी कक्षा में पृथ्वी से सबसे नजदीक होता है तो सामान्य से 10 फीसदी ज्यादा बड़ा दिखता है. इसे सुपरमून कहते हैं और पूर्णमासी का चांद ब्ल्यूमून यानी नीला चांद कहलाता है

Jan 31, 2018, 05:07 PM IST
बेंगलुरु छेड़छाड़ प्रकरण : कई दिनों से लड़की का पीछा कर रहे थे आरोपी, छह बदमाशों में से 4 गिरफ्तार

बेंगलुरु छेड़छाड़ प्रकरण : कई दिनों से लड़की का पीछा कर रहे थे आरोपी, छह बदमाशों में से 4 गिरफ्तार

नववर्ष की पूर्व संध्या पर एक लड़की से दो स्कूटर सवार बदमाशों के छेड़छाड़ करने के सिलसिले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया। स्तब्ध कर देने वाली यह घटना कैमरे में दर्ज हुई थी और इस घटना को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर रोष जाहिर किया गया। दोषियों को पकड़ने में देरी पर लोगों में बढ़ती नाराजगी के बीच बेंगलुरू पुलिस आयुक्त प्रवीण सूद ने संवाददाताओं को बताया कि आरोपी चार या पांच दिनों से पीड़िता का पीछा कर रहे थे और नया साल मना कर घर लौटने के दौरान उससे छेड़छाड़ की।

Jan 5, 2017, 05:51 PM IST
दो लोग रेप करते हैं तो वह गैंगरेप नहीं: कर्नाटक के मंत्री

दो लोग रेप करते हैं तो वह गैंगरेप नहीं: कर्नाटक के मंत्री

कर्नाटक के गृहमंत्री केजे जार्ज ने रेप को लेकर विवादास्पद बयान दिया है। जॉर्ज ने दो लोगों द्वारा दुष्कर्म को गैंगरेप मानने से इनकार कर इस अपराध की नई व्याख्या दी। जार्ज ने कहा कि उनकी नजर में एक सामूहिक बलात्कार के लिए कम से कम तीन या चार लोग होने जरूरी हैं।

Oct 9, 2015, 11:27 AM IST