• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    98अन्य

अपनी सीट खोजें

बाराबंकी

बाराबंकी: हमेशा से समाजवादियों का गढ़ रहा बाराबंकी लोकसभा क्षेत्र इस दफा लोकसभा चुनाव में दिलचस्प जंग का गवाह बन गया है. यहां अपने-अपने समीकरण साधने में जुटे प्रत्याशियों की नजर खामोश खड़े मुस्लिम मतदाताओं पर टिक गई है. समाजवाद के प्रणेताओं में शुमार किये जाने वाले रामसेवक यादव की कर्मभूमि बाराबंकी में वर्ष 1957 से लेकर ज्यादातर वक्त तक समाजवादियों का ही दबदबा रहा. इस सीट पर आम चुनाव और उपचुनावों के कुल 17 मौकों में से सिर्फ पांच बार कांग्रेस, दो बार भाजपा और एक बार बसपा के प्रत्याशी जीते हैं. बाकी मौकों पर समाजवादी विचारधारा के जनप्रतिनिधियों ने ही यहां कब्जा किया है.

कौन-कौन है मैदान में
बाराबंकी, जैदपुर, रामनगर, हैदरगढ़ और कुर्सी विधानसभा सीटों को खुद में समेटे इस सुरक्षित श्रेणी की सीट पर सपा-बसपा गठबंधन ने चार बार सांसद रह चुके राम सागर रावत को मैदान में उतारा है. कांग्रेस ने अपने पूर्व सांसद पी.एल. पुनिया के बेटे तनुज पुनिया पर दांव लगाया है. भाजपा ने जैदपुर सीट से मौजूदा विधायक उपेन्द्र रावत को उम्मीदवार बनाया है.

अहम है जातीय समीकरण
करीब 18 लाख मतदाताओं वाले इस लोकसभा क्षेत्र में जातीय समीकरण खासा अहम है लेकिन जीत-हार का दारोमदार करीब 25 प्रतिशत आबादी वाले मुस्लिम मतदाताओं पर रहता है. अब तक मुसलमानों का समर्थन ही किसी भी प्रत्याशी का भाग्य तय करता रहा है.
त्रिकोणीय है मुकाबला
वरिष्ठ पत्रकार हशमत उल्ला कहते हैं कि इस दफा यहां त्रिकोणीय मुकाबला है मगर मुस्लिम वोट जिधर जाएगा, वही जीतेगा. अगर यह बंट गया तो भाजपा को फायदा होगा. हालांकि मुसलमान मतदाता बिल्कुल खामोश हैं और वे यह जाहिर नहीं होने दे रहे कि उनका रुझान किस तरफ है. उन्होंने कहा कि वर्ष 2009 में बाराबंकी से सांसद रहे पुनिया को अपने कार्यकाल में क्षेत्र में किये गये विकास कार्यों का फायदा मिल सकता है लेकिन गठबंधन प्रत्याशी राम सागर को भी कम नहीं आंका जा सकता. गठजोड़ के बाद उन्हें बसपा का भी पक्का वोट मिलने की सम्भावना है.

प्रियंका रावत का बागी रुख बीजेपी के खरतनाक
हशमत ने कहा कि जहां तक भाजपा उम्मीदवार उपेन्द्र रावत का सवाल है तो वह जिस पार्टी से हैं, उसका अपना ठोस वोट बैंक है. उपेन्द्र को भाजपा का पूरा वोट मिलने की सम्भावना इसलिये भी है, क्योंकि उसके कोर वोटर उपेन्द्र की शक्ल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को वोट दे रहे हैं. अपना टिकट काटे जाने से नाराज मौजूदा भाजपा सांसद प्रियंका रावत का बागी रुख उपेन्द्र के लिये कितना नुकसानदेह होगा, इस बारे में हशमत कहते हैं कि इससे कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि प्रियंका को भी मोदी के नाम पर ही जीत मिली थी.

सभी उम्मीदवारों के अपने-अपने दावे
बाराबंकी सीट पर कुर्मी, पासी और यादव बिरादरी के मतदाताओं की भी खासी तादाद है. इन्हें लेकर सभी उम्मीदवारों के अपने-अपने दावे हैं. बाराबंकी की सियासत को करीब से जानने वाले रिजवान मुस्तफा का मानना है कि यादव, कुर्मी, रावत, मुसलमान और गठबंधन का वोट राम सागर को मिल सकता है. सपा-बसपा का काडर डबल हो गया लगता है, जिसका फायदा राम सागर को मिलने की सम्भावना तो दिखती है. उन्होंने कहा कि मुसलमानों का वोट पुनिया को भी मिल रहा है और राम सागर को भी. पुनिया को अपने काम, अपने व्यवहार का फायदा मिल रहा है, लेकिन गठबंधन के समीकरण उनके लिये चुनौती बन रहे हैं. भाजपा की कोशिश है कि मुस्लिम वोट में ज्यादा से ज्यादा बंटवारा हो जाए ताकि वह जीत जाए.

मुसलमान बिल्कुल खामोश
मुस्तफा कहते हैं कि मुसलमान बिल्कुल खामोश है. वह पुनिया के साथ भी दिख रहा है और राम सागर के साथ भी. जैसा कि पहले भी होता रहा है, वह ऐन वक्त पर अपना रुख तय करता है. यह हालात ही बाराबंकी के चुनावी रण को दिलचस्प बना रहे हैं. हालांकि क्षेत्र में घूमने पर पता चलता है कि यहां भाजपा, कांग्रेस और गठबंधन के प्रत्याशियों में कांटे की टक्कर है. अगड़ी जातियों के सम्पन्न लोगों के लिये मोदी अब भी पहली पसंद हैं. मगर, छोटे कारोबारियों और निचले तबकों तक आते-आते बाकी विकल्प भी असरदार होते दिखते हैं.

ऐसा है राजनीतिक इतिहास
बाराबंकी लोकसभा सीट के इतिहास पर नजर डालें तो वर्ष 1951-52 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के मोहन लाल सक्सेना तो वर्ष 1957 में कांग्रेस के ही स्वामी रामानंद शास्त्री चुने गये. हालांकि इसी साल हुए उपचुनाव में समाजवादी नेता रामसेवक यादव यहां से चुनाव जीते. उसके बाद 1962 और 1967 में भी वह क्रमश: सोशलिस्ट पार्टी और संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से सांसद रहे. वर्ष 1971 में यह सीट फिर कांग्रेस के पास आ गयी. वहीं, 1977 और 1980 के लोकसभा चुनाव में यह भारतीय लोकदल और जनता पार्टी सेक्युलर के पास चली गयी. वर्ष 1984 में 'इंदिरा लहर' के दौरान कमला रावत कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते. उसके बाद वर्ष 1989, 1991 और 1996 में राम सागर रावत ने यहां जीत की हैट्रिक लगायी. वर्ष 1998 में पहली बार बाराबंकी सीट भाजपा के खाते में गयी. साल 2004 में कमला रावत बसपा के टिकट पर सांसद बने. वर्ष 2009 में कांग्रेस के पी.एल. पुनिया ने यहां से जीत हासिल की. वहीं, 2014 में 'मोदी लहर' ने प्रियंका रावत की नैया पार लगायी थी.

और पढ़े

और पढ़े

उम्मीदवार पार्टी वर्तमान स्थिति कुल वोट
उपेंद्र सिंह रावत बीजेपी

जीते

535917
राम सागर रावत समाजवादी पार्टी

हारे

425777
तनुज पुनिया कांग्रेस

हारे

159611
नोटा नोटा

हारे

8785
आशा देवी लोक दल

हारे

5762
मोल्हे राम रावत निर्दलीय

हारे

4381
मंजू देवी निर्दलीय

हारे

3683
किशन लाल निर्दलीय

हारे

2289
तारावती एडब्ल्यूएसपी

हारे

1921
फूल दुलारी एसएसपी

हारे

1624
विनोद कुमार एजेपी (आई)

हारे

1622
संतोष कुमारी डीबीएडी

हारे

1549
ओम कार बीएमपी

हारे

1371
कल्पना रावत बीपीएचपी

हारे

1049

बाराबंकी खबरें

बाराबंकी: 6 साल की उम्र में बनी इंस्पेक्टर ! संभाली बड़ी जिम्मेदारी

बाराबंकी: 6 साल की उम्र में बनी इंस्पेक्टर ! संभाली बड़ी जिम्मेदारी

मिशन शक्ति के तहत आज सीएम योगी ने प्रदेश भर में 1535 थानों में महिला डेस्क का उद्घाटन किया. लेकिन लखनऊ से सटे बाराबंकी में महिला शक्ति हेल्प डेस्क का शुभारंभर करने एक 6 साल की इंस्पेक्टर बिटिया पहुंची.

Oct 23, 2020, 06:32 PM IST
गैंगरेप पीड़िता को नहीं मिला इंसाफ, पिता ने दी विधानसभा के सामने आत्महत्या करने की धमकी

गैंगरेप पीड़िता को नहीं मिला इंसाफ, पिता ने दी विधानसभा के सामने आत्महत्या करने की धमकी

युवती ने आरोप लगाया कि पांचों लोग पैसे के बल पर उसे परेशान कर रहे हैं और पुलिस-प्रशासन भी उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही. पिता ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उसे इंसाफ नहीं मिला तो वह विधानसभा के सामने खुद को और बेटी को भी आग के हवाले कर देगा.

Sep 17, 2020, 04:45 PM IST
मॉकड्रिल में फायर मिस करने वाली बाराबंकी पुलिस झाड़-फूंक में हिट

मॉकड्रिल में फायर मिस करने वाली बाराबंकी पुलिस झाड़-फूंक में हिट

 मौलाना पुलिसकर्मियों की पूरी फौज के सामने मजलिस लगाकर भूत भगाने का तमाशा दिखाता है. यहां खड़े पुलिसकर्मी इस खेल को बेहद दिलचस्पी से देखते हैं. एक महिला पुलिसकर्मी तो अंधविश्वास के नाटक को दम भर सच साबित करने की बात कहती है. 

Aug 31, 2020, 03:33 PM IST
बाराबंकी आयशा हत्याकांड: पति ने ही हत्या कर टुकड़ों में काटा था शव, बिजली के बिल ने खोल दिया सारा राज

बाराबंकी आयशा हत्याकांड: पति ने ही हत्या कर टुकड़ों में काटा था शव, बिजली के बिल ने खोल दिया सारा राज

अयोध्या-बाराबंकी रोड पर जुलाई महीने की 7 तारीख को मिला एक युवती का कटा हुआ शव पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ था. आखिरकार SIT टीम ने अब इस गुत्थी को सुलझा लिया है. 

Aug 17, 2020, 11:01 AM IST
राम मंदिर भूमिपूजन: सुरक्षा के लिहाज से अयोध्या की सीमाएं हुईं सील, निमंत्रित मेहमानों के अलावा किसी को एंट्री नहीं

राम मंदिर भूमिपूजन: सुरक्षा के लिहाज से अयोध्या की सीमाएं हुईं सील, निमंत्रित मेहमानों के अलावा किसी को एंट्री नहीं

अयोध्या शहर की सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया गया है. अब जिले में किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश नहीं हो सकता. यहां के स्थानीय लोगों को भी बिना आईडी कार्ड के प्रवेश नहीं दिया जा रहा है. जिले में अब सिर्फ भूमिपूजन कार्यक्रम में आमंत्रित किए गए अतिथियों को ही प्रवेश दिया जा रहा है.

Aug 4, 2020, 10:50 AM IST
यूपी STF को मिली बड़ी कामयाबी, 1 लाख के इनामी बदमाश टिंकू कपाला को मार गिराया

यूपी STF को मिली बड़ी कामयाबी, 1 लाख के इनामी बदमाश टिंकू कपाला को मार गिराया

कानपुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खात्मे के बाद दोबारा से अपराधियों के खिलाफ ऑपरेशन क्लीन शुरू करने वाली यूपी पुलिस ने एक लाख रुपये के इनामी बदमाश टिंकू कपाला उर्फ कमल किशोर को मार गिराया है.

Jul 25, 2020, 09:41 AM IST
बाराबंकी: पति-पत्नी ने 2 बच्चों के साथ लगाई फांसी, खुदकुशी की वजह साफ नहीं, मौके पर मिली ये स्लिप

बाराबंकी: पति-पत्नी ने 2 बच्चों के साथ लगाई फांसी, खुदकुशी की वजह साफ नहीं, मौके पर मिली ये स्लिप

थाना नगर कोतवाली के आवास विकास कॉलोनी में एक ही परिवार के चार सदस्यों के फांसी पर झूल जाने के बाद इलाके में दहशत छा गई है. मरने वालों में पति-पत्नी और उनके दो छोटे बच्चे शामिल हैं. आत्महत्या की वजह का अभी साफ पता नहीं चला है.

Jul 14, 2020, 02:47 PM IST
बाराबंकी: एक ही परिवार के 5 लोगों ने की खुदकुशी, जानें क्या लिखा सुसाइड नोट में

बाराबंकी: एक ही परिवार के 5 लोगों ने की खुदकुशी, जानें क्या लिखा सुसाइड नोट में

मौके से सुसाइड नोट मिला है, जो इंग्लिश में लिखा हुआ है. सुसाइड नोट में खुदकुशी करने वाले मां-बाप के दस्तखत भी हैं.

Jun 5, 2020, 02:15 PM IST
कोरोना महामारी में एक मां के आंगन में गूंजी पांच बच्चों की किलकारियां, डॉक्टर ने कही ये बात

कोरोना महामारी में एक मां के आंगन में गूंजी पांच बच्चों की किलकारियां, डॉक्टर ने कही ये बात

कोरोना महामारी के बीच बाराबंकी में एक मां ने 5 बच्चों को जन्म दिया है. बच्चों के सीएचसी में जन्म लेने के बाद उन्हें जिला अस्पताल में रैफर कर दिया गया.

Apr 29, 2020, 09:06 PM IST
बाराबंकी में एक महिला ने 5 बच्चों को दिया जन्म, 4 स्वस्थ 1 की हालत थोड़ी अस्थिर

बाराबंकी में एक महिला ने 5 बच्चों को दिया जन्म, 4 स्वस्थ 1 की हालत थोड़ी अस्थिर

जिला अस्पताल के डॉक्टर इंद्र मोहन तिवारी ने बताया कि बाराबंकी जनपद के विकासखंड सूरतगंज इलाके के गांव कुतलूपुर निवासी कुंदन गौतम की पत्नी अनीता गौतम ने स्थानीय सीएचसी में पांच बच्चों को जन्म दिया है. 

Apr 29, 2020, 09:02 PM IST
घर के द्वार पर धारदार हथियार से रेत दिया पत्नी का गला, कटा सिर लेकर थाने पहुंच गया सिरफिरा

घर के द्वार पर धारदार हथियार से रेत दिया पत्नी का गला, कटा सिर लेकर थाने पहुंच गया सिरफिरा

पत्नी का कटा सिर हाथ में लेकर जा रहे हत्यारे को देखकर रास्ते में आवाजाही कर रहे लोग बुरी तरह डर गए.

Feb 1, 2020, 11:01 PM IST
UP: बाराबंकी में दुष्कर्म पीड़िता ने लगाई फांसी, पुलिस बोली- चल रही है मामले की जांच

UP: बाराबंकी में दुष्कर्म पीड़िता ने लगाई फांसी, पुलिस बोली- चल रही है मामले की जांच

एसपी ने बताया कि पुलिस जांच में सामने आया है कि दो लोगों ने मृतका और उसकी मां पर एक गाड़ी के फाइनेंस को लेकर जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया था. इसकी पेशबंदी में मृतका की मां ने उन्हीं लोगों पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया है.

Jan 9, 2020, 11:07 AM IST
बाराबंकी: ठंड में घंटों तक पानी की टंकी पर चढ़ी रही विधवा, बयां की दर्द भरी दास्तां

बाराबंकी: ठंड में घंटों तक पानी की टंकी पर चढ़ी रही विधवा, बयां की दर्द भरी दास्तां

पीड़िता ने बताया कि ससुराल से निराश होकर वो न्याय के लिए थाना देवा पहुंची. तो वहां, एक पुलिस के सिपाही ने उससे अभद्रता की और अश्लील बात कही.

Dec 27, 2019, 02:44 PM IST

लखनऊ: CAA के खिलाफ हुई हिंसा का मास्टरमांइड गिरफ्तार

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया का नदीम बाराबंकी से हुआ गिरफ्तार..देखे वीडियो

Dec 23, 2019, 03:18 PM IST
UP By Elections Results: 11 में से 8 पर बीजेपी और 3 पर सपा को मिली जीत

UP By Elections Results: 11 में से 8 पर बीजेपी और 3 पर सपा को मिली जीत

उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों के लिए चल रही मतगणना थम गई है. चुनावी नतीजों में बीजेपी को 8 और सपा को 3 सीटों पर जीत हासिल हुई है.

Oct 24, 2019, 07:02 AM IST
गोकशी के आरोप में गिरफ्तार युवक को छुड़ाने पहुंचे कांग्रेस नेता पीएल पुनिया, थाने के बाहर दे रहे धरना

गोकशी के आरोप में गिरफ्तार युवक को छुड़ाने पहुंचे कांग्रेस नेता पीएल पुनिया, थाने के बाहर दे रहे धरना

गोकशी की शिकायत पर पुलिस थाना क्षेत्र के टेरा गांव निवासी शाकिर को पकड़कर थाने लाई थी. शाकिर के छोटे भाई ने सांसद पीएल पुनिया से मिलकर भाई को बेकसूर बताया.

Oct 10, 2019, 02:06 PM IST
उत्तर प्रदेश में आफत बनी बारिश, अब तक 24 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में आफत बनी बारिश, अब तक 24 लोगों की मौत

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक आपात बैठक कर सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे 24 घंटे के भीतर बारिश से संबंधित घटनाओं में मारे गए लोगों को चार-चार लाख रुपये का मुआवजा प्रदान करें.

Sep 27, 2019, 05:30 PM IST
टोल प्लाजा पर दबंगों की दबंगई LIVE,  टैक्स मांगने पर टोलकर्मी को धुना, मचाया उत्पात

टोल प्लाजा पर दबंगों की दबंगई LIVE, टैक्स मांगने पर टोलकर्मी को धुना, मचाया उत्पात

Barabanki: मामला बाराबंकी जिले के थाना मसौली क्षेत्र में लखनऊ-बहराइच मार्ग पर स्थित टोल प्लाजा का है. आरोप है कि टोल कर्मियों द्वारा वाहन चालक से टोल टैक्स अदा करने की बात कहने पर उनके साथ मारपीट की गई.

Sep 17, 2019, 12:02 PM IST
ड्यूटी पर जा रहे होमगार्ड की ट्रक से कुचल कर दर्दनाक मौत, CCTV में कैद हुई घटना

ड्यूटी पर जा रहे होमगार्ड की ट्रक से कुचल कर दर्दनाक मौत, CCTV में कैद हुई घटना

शनिवार को यूपी के बाराबंकी (Barabanki) जिले में, जहां ड्यूटी के लिए घर से निकले एक होमगार्ड (Home guard) को मौत ने दुर्घटना के रूप में आकर उसे मौत की नींद सुला दिया

Sep 7, 2019, 10:29 PM IST
बाराबंकी: परिवार के सभी बच्चों ने पी थी '2 बूंद जिंदगी की', फिर भी हो गया पोलियो

बाराबंकी: परिवार के सभी बच्चों ने पी थी '2 बूंद जिंदगी की', फिर भी हो गया पोलियो

पीड़ित बच्चों की मां ने कहा कि मेरे सभी बच्चे 10 वर्ष के होने के बाद पोलियो से पीड़ित हो गए. मैं उन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई और उसके बाद कुछ निजी डॉक्टरों के पास ले गई, लेकिन कोई फायदा नहीं मिला.

Aug 29, 2019, 12:22 PM IST