close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

  • 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    98अन्य

अपनी सीट खोजें

मुज़फ़्फ़रपुर

मुजफ्फरपुर : प्रखर समाजवादी नेता जार्ज फर्नांडिस की कर्मभूमि रही मुजफ्फरपुर में लोकसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला दो निषादों के बीच है. मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) उम्मीदवार और वर्तमान सांसद अजय निषाद और महागठबंधन से वीआईपी उम्मीदवार राजभूषण चौधरी के बीच है. इस सीट पर 17.3 लाख मतदाता हैं, जिसमें सवर्ण मतदाता साढ़े तीन लाख, यादव पौने दो लाख, मुस्लिम दो लाख और वैश्य सवा दो लाख हैं. इनके अलावा यहां अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों की भी अच्छी खासी संख्या है.

अजय निषाद के खाते में पिछले पांच साल में ऐसी कोई चर्चित उपलब्धि नहीं आई है, इसलिए हर चुनावी सभा में वह अपनी जीत की बात कम नरेंद्र मोदी को मजबूत करने की बात अधिक करते हैं.




वीआईपी प्रत्याशी राजभूषण चौधरी के लिए सबसे बड़ी चुनौती पहचान की है. यूं तो अजय निषाद वैशाली के रहने वाले हैं. लेकिन, चार बार मुजफ्फरपुर के सांसद रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. कैप्टन जयनारायण निषाद के पुत्र होने के कारण उन्हें 2014 में बाहरी होने के बाद भी वैसी परेशानी नहीं हुई, जिस तरह की परेशानी राजभूषण झेल रहे हैं.

चुनावी नारों और वादों से इतर रोजमर्रा की परेशानियों से जूझ रहे स्थानीय लोगों का कहना है कि स्मार्ट सिटी का ख्वाब दिखाया जा रहा है जबकि धरातल पर जर्जर सड़क और जाम से बावस्ता होना पड़ रहा. फोर लेन रोड का काम अधूरा है. बागमती परियोजना भी मझधार में अटकी है. बच्चों के खेल-कूद के लिए अच्छी व्यवस्था नहीं है. शाही लीची के प्रसंस्करण की बात बयानों तक सिमटी है. लहठी उद्योग जयपुरिया लहठी के सामने दम तोड़ने लगा है. शिक्षा व्यवस्था की स्थिति खराब है और शहर के कई स्कूलों की जमीन अतिक्रमण एवं अवैध कब्जे से जूझ रही है.

कुढ़नी विधानसभा क्षेत्र के सोनबरसा चौक पर सैलून चलाने वाले ब्रजेश ठाकुर कहते हैं कि पहली बार उम्मीदवार से अधिक प्रधानमंत्री की चर्चा है. उम्मीदवार से कोई मतलब नहीं रह गया है. यहां के सांसद तो कभी क्षेत्र में भी नहीं आते.

खबरा गांव के रामेश्वर ओझा का कहना है कि किसी भी गठबंधन का उम्मीदवार ठीक नहीं है. महागठबंधन के उम्मीदवार का तो नाम ही नहीं सुना और राजग के कैंडिडेट एवं वर्तमान सांसद का कोई काम ही नहीं सुना. झापहा के संतोष यादव कहते हैं कि इस बार यादव वोटरों का एकमुश्त वोट किसी एक पार्टी को मिलने से रहा.

और पढ़े

और पढ़े

उम्मीदवार पार्टी वर्तमान स्थिति कुल वोट
अजय निषाद बीजेपी

जीते

666878
राजभूषण चौधरी वीआईपी

हारे

256890
सुखदेव प्रसाद वीपीआई

हारे

24526
सुधीर कुमार झा वाईकेपी

हारे

15843
नोटा नोटा

हारे

9171
स्वर्णलता देवी बीएसपी

हारे

9095
शिव शक्ति मोनू बीएलएनडी

हारे

8236
रेणु खारी जेएपी

हारे

7995
देवेंद्र राकेश बीवीपी

हारे

7709
सुरेंद्र राय आरएचएस

हारे

7258
मो. इदरिस एसयूसीआई

हारे

6116
शिव बिहारी सिंहानिया बीएचएनपी

हारे

5674
जौहर आजाद बीएमपी

हारे

4636
प्रदीप कुमार सिंह शिवसेना

हारे

4321
पंकज कुमार एएएचपी

हारे

3434
धर्मेंद्र पासवान बीएमएफ

हारे

3323
नागेश्वर प्रसाद सिंह आरआरपी

हारे

3195
अजितनाश गौर निर्दलीय

हारे

2621
नंदन कुमार जनता पार्टी

हारे

2572
अनिरुद्ध सिंह एआईएफबी

हारे

2543
सुरेश कुमार निर्दलीय

हारे

2314
रितेश प्रसाद निर्दलीय

हारे

2147
मुकेश कुमार निर्दलीय

हारे

1589

मुज़फ़्फ़रपुर खबरें

बच्चों की मौत पर सीपी ठाकुर बोले, 'नीतीश सरकार को पहले सक्रिय होना चाहिए था'

बच्चों की मौत पर सीपी ठाकुर बोले, 'नीतीश सरकार को पहले सक्रिय होना चाहिए था'

बीजेपी के वरिष्ठ नेता सीपी ठाकुर ने एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) को लेकर कहा है कि सरकार को पहले ही तैयार होना चाहिए था.

Jun 17, 2019, 07:26 PM IST
VIDEO: बिहार में बच्चे तोड़ रहे थे दम, स्वास्थ्य मंत्री पूछ रहे थे भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच का स्कोर

VIDEO: बिहार में बच्चे तोड़ रहे थे दम, स्वास्थ्य मंत्री पूछ रहे थे भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच का स्कोर

भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच को लेकर उत्सुक्ता से बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय भी दूर नहीं रह सके.

Jun 17, 2019, 06:48 PM IST
मुजफ्फरपुर: SKMCH के अधीक्षक का बड़ा बयान- 'अब तक नहीं मिला सरकार से कोई पैकेज'

मुजफ्फरपुर: SKMCH के अधीक्षक का बड़ा बयान- 'अब तक नहीं मिला सरकार से कोई पैकेज'

बिहार में जहां चमकी बुखार से 110 बच्चों की मौत हो चुकी है वहीं,  मुजफ्फरपुर के बाद अब एईस (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) से कई और भी जिले प्रभावित हो रहे हैं. 

Jun 17, 2019, 03:35 PM IST
चमकी बुखार से 126 बच्चों की मौत, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय पर मुकदमा दर्ज

चमकी बुखार से 126 बच्चों की मौत, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय पर मुकदमा दर्ज

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ परिवाद दायर किया है. परिवाद मुजफ्फरपुर सीजीएम कोर्ट में दायर किया गया है. 

Jun 17, 2019, 02:57 PM IST
मुजफ्फरपुर में सीएम के दौरे पर बोले श्याम रजक- 'इलाज-मॉनिटरिंग जरूरी, दौरा नहीं'

मुजफ्फरपुर में सीएम के दौरे पर बोले श्याम रजक- 'इलाज-मॉनिटरिंग जरूरी, दौरा नहीं'

डॉ हर्षवर्धन, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय मुजफ्फरपुर जा चुके हैं लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अभी तक मुजफ्फरपुर नहीं गए जिसको लेकर सियासत बेहद गर्म हो गई है.

Jun 17, 2019, 02:44 PM IST
बिहारः दो हफ्तों में 239 मौत के बाद भी 'मंत्री जी' को दुरुस्त दिख रही स्वास्थ्य व्यवस्था

बिहारः दो हफ्तों में 239 मौत के बाद भी 'मंत्री जी' को दुरुस्त दिख रही स्वास्थ्य व्यवस्था

अब तक के आकड़ों के मुताबिक, चमकी बुखार से 126 बच्चों की मौत हो चुकी है. वहीं, लू के कहर से 113 लोगों की मौत हो गई है.

Jun 17, 2019, 01:59 PM IST
पिछले पांच सालों से हर गर्मी में कहर बरपा रहा चमकी बुखार, 2014 में हुई थी 355 मौतें

पिछले पांच सालों से हर गर्मी में कहर बरपा रहा चमकी बुखार, 2014 में हुई थी 355 मौतें

हर साल गर्मियों के मौसम में खासकर बिहार के मुजफ्फरपुर में दस्तक देती है लेकिन फिर भी स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि इस बीमारी पर रिसर्च के लिए एक साल का समय चाहिए और इसके लिए टाइम लाइन दी गई है.

Jun 17, 2019, 12:50 PM IST
जानलेवा चमकी बुखार से बचने के डॉक्टर ने बताए उपाय, पढ़ें और जानें आप

जानलेवा चमकी बुखार से बचने के डॉक्टर ने बताए उपाय, पढ़ें और जानें आप

 एसकेएमसीएच के अधिक्षक एस के शाही ने परिजनों को बच्चों को चमकी बुखार से बचाने का सुझाव दिया है और कहा है कि वो गर्मी के समय में अधिक से अधिक बच्चों का ख्याल रखें.

Jun 17, 2019, 11:18 AM IST
बिहार: सीएम नीतीश कुमार बच्चों का हाल लेने अब तक नहीं पहुंचे मुजफ्फरपुर, सियासत हुई तेज

बिहार: सीएम नीतीश कुमार बच्चों का हाल लेने अब तक नहीं पहुंचे मुजफ्फरपुर, सियासत हुई तेज

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय मुजफ्फरपुर जा चुके हैं.

Jun 17, 2019, 10:24 AM IST
LIVE: चमकी बुखार से अब तक 110 बच्चों की मौत, मुजफ्फरपुर के बाद दूसरे जिले भी हो रहे प्रभावित

LIVE: चमकी बुखार से अब तक 110 बच्चों की मौत, मुजफ्फरपुर के बाद दूसरे जिले भी हो रहे प्रभावित

बिहार में जहां चमकी बुखार से 110 बच्चों की मौत हो चुकी है वहीं, मुजफ्फरपुर के बाद अब एईस (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) से कई और भी जिले प्रभावित हो रहे हैं. 

Jun 17, 2019, 08:53 AM IST
बिहार: नहीं थम रहा चमकी बुखार का कहर, 110 बच्चों की मौत के बाद मोतिहारी में आए 36 नए मामले

बिहार: नहीं थम रहा चमकी बुखार का कहर, 110 बच्चों की मौत के बाद मोतिहारी में आए 36 नए मामले

बिहार में एक तरफ भीषण गर्मी के कहर से लोगों की लगातार मौत हो रही है तो दूसरी ओर चमकी बुखार के कारण बच्चों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. 

Jun 17, 2019, 08:37 AM IST
 रहस्यमयी बीमारी पर रिसर्च के लिए एक साल का समय, डॉक्टर कर रहे अच्छा काम- हर्षवर्धन

रहस्यमयी बीमारी पर रिसर्च के लिए एक साल का समय, डॉक्टर कर रहे अच्छा काम- हर्षवर्धन

पिछले एक पखवाड़े में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के कारण 81 बच्चों की मौत हो चुकी है. वहीं, दौरे के बाद हर्षवर्धन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और कहा कि पिछले कुछ सालों में ऐसे केस में काफी कमी आई थी.

Jun 16, 2019, 04:00 PM IST
बिहार में AES से 100 से अधिक बच्चों की मौत, आखिर कहां हुई बड़ी चूक...

बिहार में AES से 100 से अधिक बच्चों की मौत, आखिर कहां हुई बड़ी चूक...

 मुजफ्फरपुर में एईएस का प्रकोप शुरू हुआ और अब यह इसके आसपास के जिलों में भी पैर पसारना शुरू कर दिया है. अब तक आंकड़ों की मानें तो प्रदेश में 102 बच्चों की मौत हो चुकी है.

Jun 16, 2019, 02:33 PM IST
मुजफ्फरपुर के अलावा कई जिलों में फैल रहा AES का प्रकोप, 100 से अधिक बच्चों की मौत

मुजफ्फरपुर के अलावा कई जिलों में फैल रहा AES का प्रकोप, 100 से अधिक बच्चों की मौत

अस्पताल के इमरजेंसी में किया जा रहा इलाज, एक डॉक्टर के भरोसे सभी बच्चों का इलाज चल रहा है. हाजीपुर में एक बच्ची की आज मौत हे गई जिसके बाद परिजनों ओर जिला के लोगों मे दहशत फैल गया है.

Jun 16, 2019, 02:14 PM IST
मुजफ्फरपुर: एईएस से अब तक 100 बच्चों की हुई मौत, स्वास्थ्य मंत्री लेंगे जायजा

मुजफ्फरपुर: एईएस से अब तक 100 बच्चों की हुई मौत, स्वास्थ्य मंत्री लेंगे जायजा

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन आज मुजफ्फरपुर दौरे पर हैं. रविवार को पटना एयरपोर्ट पर उनका स्वागत बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने किया. इसके बाद दोनों पटना एयरपोर्ट से सीधे मुजफ्फरपुर के लिए रवाना हो गए हैं

Jun 16, 2019, 11:18 AM IST
LIVE: हर्षवर्धन का मुजफ्फरपुर दौरा आज, AES से हो चुकी है 84 बच्चों की मौत

LIVE: हर्षवर्धन का मुजफ्फरपुर दौरा आज, AES से हो चुकी है 84 बच्चों की मौत

 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन पटना पहुंचे, एयरपोर्ट के अंदर मंत्री कर रहे रिव्यू मीटिंग, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे मीटिंग में मौजूद, स्वास्थ्य विभाग के  सचिव संजय सिंह शामिल, स्वास्थ्य विभाग के सभी आला अधिकारी मौजूद हैं.

Jun 16, 2019, 10:17 AM IST
मुजफ्फरपुर के हालात देखकर अररिया अस्पताल में जारी किया गया अलर्ट

मुजफ्फरपुर के हालात देखकर अररिया अस्पताल में जारी किया गया अलर्ट

मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार का प्रकोप जारी है. अभी तक बिहार में इस बीमारी से 80 से अधिक बच्चों की मौत हो गई. अकेले मुजफ्फरपुर में आंकड़ा 60 के पार हो गयी है.

Jun 15, 2019, 05:26 PM IST
बिहार में बच्चों की मौत का आंकड़ा 63 पहुंचा, अस्पतालों में बेड तक देने में सरकार नाकाम

बिहार में बच्चों की मौत का आंकड़ा 63 पहुंचा, अस्पतालों में बेड तक देने में सरकार नाकाम

सभी बच्चे हाइपोग्लीसेमिया के शिकार हुए हैं, यह ऐसी स्थिति है जिसमें ब्लड शुगर का स्तर बहुत घट जाता है और इलेक्ट्रोलाइट असंतुलित हो जाते हैं. मुजफ्फरपुर के दो सरकारी अस्पतालों में 63 बच्चों की मौत हुई जिनमें से एक अस्पताल का स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने दिन में दौरा किया था. 

Jun 15, 2019, 08:05 AM IST
बिहार में चार और बच्चों की मौत, अब तक 57 बच्चों की मौत

बिहार में चार और बच्चों की मौत, अब तक 57 बच्चों की मौत

पांडे ने बताया कि श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एसकेएमसीएच) में 47 बच्चे और केजरीवाल अस्पताल में 10 बच्चों की मौत हो गयी.

Jun 15, 2019, 12:45 AM IST
बिहारः मुजफ्फरपुर में आरजेडी के 2 नेताओं को गोली मारी, हालत गंभीर

बिहारः मुजफ्फरपुर में आरजेडी के 2 नेताओं को गोली मारी, हालत गंभीर

 यह हमला किसने किया और क्यों किया इसकी जानकारी फिलहाल नहीं मिल पाई है. अभी पुलिस की तरफ से भी कोई बयान जारी नहीं किया गया है. 

Jun 14, 2019, 07:59 AM IST