close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

  • 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    98अन्य

अपनी सीट खोजें

पेड्डापल्ली

पेड्डापल्ली: तेलंगाना की पेड्डापल्ली लोकसभा सीट पर अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. इस सीट को तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के नेता बल्का सुमन ने 2014 में कांग्रेस से छीन लिया था. हालांकि, इस बार टीआरएस ने नए चेहरे बोरलाकुंटा वेंकटेश नेथानी (Borlakunta Venkatesh Nethani ) पर दांव लगाया. उनके सामने कांग्रेस की ओर से भी नया उम्मीदवार डॉ. अगामा चंद्रशेखर मैदान में रहे. वहीं, बीजेपी ने इस सीट से एस. कुमार को लड़ाया. सभी उम्मीदवारों की किस्मत 11 अप्रैल को ईवीएम में कैद हो चुकी है. अब 23 मई को वोटिंग रिजल्ट का इंतजार है.

नशाबंदी और आबकारी विभाग के डिप्टी कमिश्नर वेंकटेश ने नौकरी से इस्तीफा देने के बाद 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर चेन्नूर निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा था. वह आम चुनावोें के पहले ही टीआरएस में शामिल हुए. हालांकि, यह अनुमान लगाया गया था कि पेड्डापल्ली संसदीय क्षेत्र से सरकार के सलाहकार जी विवेकानंद को दिया जाएगा, लेकिन पार्टी ने वेंकटेश को इसकी पेशकश कर दी. जी विवेक वेंकटस्वामी के नाम से भी पहचाने जाने वाले विवेकानंद 2014 में कांग्रेस के टिकट पर टीआरएस के प्रत्याशी बल्का सुमन से चुनाव हार गए थे.

बता दें कि पेड्डापल्ली लोकसभा सीट पर आजादी के बाद से कांग्रेस का दबदबा रहा है. अब तक यहां 14 बार हो चुके आम चुनावों में 10 बार कांग्रेस की ही जीत हुई है. बाकी चार कार्यकाल तेलुगू प्रजा समिति, तेलुगू देशम पार्टी और तेलुगू राष्ट्र समिति के सांसदों के पास रहे हैं.

2014 के चुनाव में टीआरएस के बल्का सुमन को 45.53 फीसदी (4,65,496) वोट मिले थे. इस सीट से कांग्रेस के जी विवेकानंद 17.55 प्रतिशत (1,74,338) मतों के साथ दूसरे नंबर पर रहे थे. टीडीपी उम्मीदवार जनपति सरत बाबू 63, 334 वोट पाकर तीसरे स्थान पर थे. पेड्डापल्ली सीट पर 74.12 फीसदी मतदान हुआ था, जिसमें 10, 22,184 मतदाताओं ने भाग लिया था.

इस संसदीय क्षेत्र में सात विधानसभा सीटें आती हैं, जिनमें चेन्नूर, बेल्लमपल्ली और धरमपुरी सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है जकि मानचेरिअल, रामागुंडम, मानथानी और पेड्डापल्ली अनारक्षित सीट हैं.

तेलंगाना भारत के आंध्रप्रदेश राज्य से अलग होकर भारत का 29वां राज्य बना था. राज्य में मुख्यमंत्री के. चन्द्रशेखर राव की अगुवाई में टीआरएस पार्टी की सरकार है. इस राज्य में 119 विधानसभा सीटें और 17 लोकसभा सीटें हैं. वहीं प्रदेश में कुल जिलों की संख्या 31 है.

और पढ़े

और पढ़े

उम्मीदवार पार्टी वर्तमान स्थिति कुल वोट
वेंकटेश नेथा बोरलाकुंटा टीआरएस

जीते

441321
अगम चंद्रशेखर कांग्रेस

हारे

346141
एस कुमार बीजेपी

हारे

92606
कुंतला नरसैया निर्दलीय

हारे

18219
बाला कल्याण पांजा बीएसपी

हारे

10203
नोटा नोटा

हारे

8971
दुर्गम राजन्ना निर्दलीय

हारे

7384
अंबाला महेंद्र निर्दलीय

हारे

6905
सब्बानी कृष्णा एमसीपीआई (यू)

हारे

6818
गद्दाला विनय कुमार निर्दलीय

हारे

6537
राजेश एरिकिल्ला निर्दलीय

हारे

4267
एरुगुरला भाग्यलक्ष्मी पीपीआई

हारे

4055
गोडिसेल्ला नागमणि निर्दलीय

हारे

3886
एस कृष्णा एसडीसी

हारे

3501
वेल्थुरु मल्लैया आरपीआई (के)

हारे

2598
अरशम अशोक निर्दलीय

हारे

2459
संकेनापल्ली देवदास एसीडीपी

हारे

2215
थादेम राजू आईपीबीपी

हारे

1965

पेड्डापल्ली खबरें

VIDEO, तेलंगाना में टीआरएस-कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच चली कुर्सियां

VIDEO, तेलंगाना में टीआरएस-कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच चली कुर्सियां

तेलंगाना में सत्ताधारी गठबंधन के दो प्रमुख दलों के कार्यकर्ताओं के ऐसी भिड़ंत हुई कि भरी बैठक में कुर्सियां चलने लगी.

Aug 24, 2017, 09:43 AM IST