close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

  • 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    98अन्य

अपनी सीट खोजें

राजसमन्द

देशभर में होने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर 2019 की शुरुआत से ही सभी सियासी दल चुनावी मोड में आ गए हैं. और राजस्थान की बात करें तो हाल ही में यहां विधानसभा चुनाव खत्म हुए हैं और इस वजह से राज्य में चुनावी सरगर्मी लोकसभा चुनाव तक जारी रहेगी. एक तरफ राजस्थान में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली जीत के बाद पार्टी के हौसले बुलंद है तो वहीं मामुली मत प्रतिशत से पिछड़ने के कारण बीजेपी भी बाजी पलटने की फिराक में है.

2018 में राजस्थान में हुए विधानसभा चुनावों में 200 सीटों में से 99 सीटों के साथ कांग्रेस ने सत्ता में वापसी की. वहीं बीजेपी 73 सीटों के साथ विपक्ष में है. वैसे तो सूबे में इस तरह का ट्रेंड रहा है कि जिस पार्टी की सरकार विधानसभा में बनती है, लोकसभा में भी उसी दल का दबदबा रहता है. यही कारण है कि 2013 के विधानसभा चुनाव में बहुमत से जीती बीजेपी ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश की सभी 25 सीटों पर कब्जा जमा लिया लेकिन बाद में हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने अलवर और अजमेर सीट पर वापसी कर ली.

इसी बीच प्रदेश की राजसमंद लोकसभा सीट की बात करें तो मौजूदा वक्त में यहां से बीजेपी के हरिओम सिंह राठौड़ सांसद हैं. उन्होंने साल 2014 के चुनाव में कांग्रेस के कद्दावर नेता गोपाल सिंह शेखावत को 3,95,705 मतों से हराया था. राजसमंद लोकसभा सीट मेवाड़ और मारवाड़ के चार जिलों में फैली हुई है और यह 2008 में हुए परीसीमन के बाद अस्तित्व में आई थी.

जिसके बाद साल 2009 में पहला आम चुनाव हुआ था. जिसे कांग्रेस नेता गोपाल सिंह शेखावत ने जीता था. वहीं 2014 के चुनाव में ये सीट बीजेपी के खाते में चली गई और यहां से हरिओम सिंह राठौड़ जीतकर लोकसभा पहुंचे. इससे पहले हरिओम सिंह राठौड़ पाली जिला प्रमुख भी रह चुके हैं. हरिओम सिंह राठौड़ की स्वच्छ छवि, मोदी लहर और स्थानीय लोगों में गोपाल सिंह शेखावत के प्रति बेरुखी ने हरिओम सिंह की जीत को आसान कर दिया था और वह 6,44,794 वटों से राजसमंद सीट पर जीत गए.

राजसमंद लोकसभा सीट में कुल 8 विधानसभा सीटे हैं. राजसमंद जिला अरावली पर्वतमाला के बीच स्थित है. इस जिले का नाम मेवाड़ के राणा राज सिंह द्वारा 17वीं सदी में राजसमंद झील के नाम पर रखा गया है. राजसमंद की 95 प्रतिशत आबादी हिंदू है और 2 प्रतिशत इस्लाम में यकीन करने वालों की आबादी है.

और पढ़े

और पढ़े

उम्मीदवार पार्टी वर्तमान स्थिति कुल वोट
दिया कुमारी बीजेपी

जीते

863039
देवीनंदन (काका) कांग्रेस

हारे

311123
छेनाराम बीएसपी

हारे

15955
चंद्र प्रकाश तंवर एपीओआई

हारे

12887
नोटा नोटा

हारे

12671
राकेश समदोलव निर्दलीय

हारे

10339
भंवर लाल माली निर्दलीय

हारे

5923
भंवर लाल कुमावत निर्दलीय

हारे

2438
मिश्री कटहट आईपीजीपी

हारे

2371
नीरू राम काप्री निर्दलीय

हारे

1550
जितेंद्र कुमार खातिक निर्दलीय

हारे

1549

राजसमन्द खबरें

कुम्भलगढ: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गणेश सिंह परमार को दिखाया आइना, कहा- खुद हैं हार के जिम्मेवार

कुम्भलगढ: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गणेश सिंह परमार को दिखाया आइना, कहा- खुद हैं हार के जिम्मेवार

कुम्भलगढ आमेट विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी रहे गणेश सिंह परमार के हार का ठीकरा कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर थोपने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं ने बैठक कर परमार को ही उनकी हार का जिम्मेवार बता दिया. आपको बता दें कि, परमार ने 2 जनवरी को केलवाड़ा गांव में बैठक कर पार्टी विरोधी चुनाव प्रचार करने वाले कार्यकर्ताओ को निष्कासित करने की मांग की थी. 

Jan 6, 2019, 12:48 PM IST