भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड्स 2018: निरहुआ बने बेस्ट एक्टर, आम्रपाली को बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड

13वें 'भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड' में इस साल के सभी अवॉर्ड शो की तरह निरहुआ और खेसारीलाल यादव की फिल्मों का बोलबाला रहा.

भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड्स 2018: निरहुआ बने बेस्ट एक्टर, आम्रपाली को बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड
मंजुल ठाकुर को 'निरहुआ हिंदुस्तानी 2' के लिए बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड मिला.

नई दिल्ली: पिछले 13 साल से विनोद गुप्ता द्वारा आयोजित किए जा रहे 'भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड' का आयोजन मुंबई में किया गया. 13वें 'भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड' में इस साल के सभी अवॉर्ड शो की तरह निरहुआ और खेसारीलाल यादव की फिल्मों का बोलबाला रहा. बेस्ट फिल्म की कैटेगरी में जहां निर्माता राहुल खान की 'निरहुआ हिंदुस्तानी 2' ने बाजी मारी, वहीं पॉपुलर फिल्म का खिताब मिला अनंजय रघुराज की फिल्म 'मेहंदी लगा के रखना' को. 

मंजुल ठाकुर को 'निरहुआ हिंदुस्तानी 2' के लिए बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड मिला, तो इसी फिल्म के लिए जुबली स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ को बेस्ट एक्टर के खिताब से नाबाजा गया. बेस्ट एक्ट्रेस का खिताब हासिल किया आम्रपाली दुबे ने फिल्म काशी अमरनाथ के लिए. इसी तरह पॉपुलर एक्टर का खिताब मिला खेसारी लाल यादव को तो पॉपुलर एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला अंजना सिंह को. खेसारीलाल यादव को साल का सर्वश्रेष्ठ गायक का भी अवॉर्ड मिला वहीं प्रख्यात गायिका इंदु सोनाली को सर्वश्रेष्ठ गायिका का अवॉर्ड मिला. 'मेहंदी लगा के रखना' के लिए संगीतकार रजनीश मिश्रा और मधुकर आनंद को अवॉर्ड से नवाजा गया. प्यारेलाल यादव कवि को बेस्ट लिरिक्स राइटर का अवॉर्ड मैं सेहरा बांध के आऊंगा के लिए दिया गया.

 

हरफनमौला मनोज टाइगर को बेस्ट स्टोरी का अवॉर्ड फिल्म 'सिपाही' के लिए मिला. इसी फिल्म के लिए सुशील सिंह को बेस्ट खलनायक का अवॉर्ड मिला. बेस्ट स्क्रीनप्ले का अवॉर्ड मिला राजकुमार पांडे को तो बेस्ट डायलॉग का रजनीश मिश्रा को. समीर आफताब को उनकी फिल्म चेलेंज के लिये बेस्ट न्यू कमर एक्टर का तो संचिता बनर्जी को बेस्ट न्यू कमर एक्ट्रेस का खिताब मिला. अवधेश मिश्रा को बेस्ट एक्टर इन सपोर्टिंग रोल का तो माया यादव को बेस्ट एक्ट्रेस इन सपोर्टिंग रोल का अवॉर्ड मिला. 

बेस्ट कोरियोग्राफर का अवॉर्ड हासिल किया रिक्की गुप्ता ने तो इसी केटेगरी में जूरी अवॉर्ड मिला संजय कोरबे को. वासु को बेस्ट सिनेमेटोग्राफी के लिए अवॉर्ड मिला तो जितेंद्र सिंह जीतू को बेस्ट एडिटर का आवर्ड मिला. सामाजिक सरोकार वाली सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवॉर्ड मिला प्रियंका चोपड़ा की संतोष मिश्रा निर्देशित फिल्म काशी अमरनाथ को. निर्देशक प्रमोद शास्त्री की फिल्म रब्बा इश्क़ न होवे को बेस्ट ऑडियो ग्राफी का अवॉर्ड मनोज सिंह को मिला. 

भोजपुरी फिल्मों के प्रचार प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले उदय भगत को विशेष अवॉर्ड से सम्मानित किया गया. आपको बता दें कि उदय भगत ने साल 2018 में  समपन्न हुए चार भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड में बेस्ट पी आर ओ का अवॉर्ड हासिल किया है. दिल्ली में सम्पन्न हुए विश्व भोजपुरी सम्मेलन में भी उन्हें बेस्ट पी आर ओ का अवॉर्ड हासिल हुआ था, इसी तरह कोलकाता में हुए स्क्रीन एंड स्टेज सिने अवॉर्ड में, मुंबई में हुए सबरंग फिल्म अवॉर्ड में भी उन्हें भोजपुरी फिल्म जगत का सर्वश्रेष्ठ प्रचारक के अवॉर्ड से नवाजा गया था. 

13वें भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड में स्पेशल अवॉर्ड की श्रेणी में वर्ल्ड वाइड रिकॉर्ड के रत्नाकर कुमार, फिल्म निर्देशक रंजन सिंह, दीपक कुमार ठाकुर, राजकुमार पांडे,  अभिनेता अजय दीक्षित के साथ हमारा महानगर अखबार को भी अवॉर्ड दिया गया. बेस्ट आयटम डांसर का खिताब मिला ग्लोरी मोहन्ता को तो बेस्ट एक्शन डायरेक्टर का अवॉर्ड मिला टीनू वर्मा को. प्रसिद्ध डिजायनर नरसू को बेस्ट पब्लिसिटी डिजायनर के अवॉर्ड से नवाजा गया.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें