इस तस्वीर को शेयर करते हुए मनोज बाजपेयी ने लिखा- '...और मेरी जिंदगी बदल गई'

मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) की फिल्म 'सत्या' 3 जुलाई, 1998 में रिलीज हुई थी.

इस तस्वीर को शेयर करते हुए मनोज बाजपेयी ने लिखा- '...और मेरी जिंदगी बदल गई'
फोटो साभार: इंस्टाग्राम

नई दिल्ली: राम गोपाल वर्मा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'सत्या' 3 जुलाई, 1998 में रिलीज हुई थी. सत्या को रिलीज हुए आज 22 साल पूरे हो गए हैं, जिस पर मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) ने फिल्म को याद किया है. शेयर फोटो को उन्होंने कैप्शन दिया, 'और मेरी जिंदगी बदल गई...3 जुलाई, 1998 को कभी नहीं भूल सकता.' 

उन्होंने आगे लिखा, 'मॉनसून.. इस फिल्म को फ्लॉप घोषित कर दिया गया था और यह उस समय की सबसे बड़ी हिट हुई. फिल्म 25 हफ्तों तक सिनेमाघरों में चली. 'सत्या' का संपादन अपूर्व असरानी (उस समय 19 साल के थे) ने किया था, इसे लिखा था अनुराग कश्यप (उस समय वह 23 साल के थे) और सौरभ शुक्ला ने, निर्देशन राम गोपाल वर्मा का.'

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Manoj Bajpayee (@bajpayee.manoj) on

फिल्म में मनोज बाजपेयी के अलावा उर्मिला मातोंडकर, परेश रावल, सौरभ शुक्ला, मकरंद देशपांडे जैसे प्रमुख कलाकार थे. बता दें, मनोज बाजपेयी अपनी एक्टिंग के बल पर बॉलीवुड ही नहीं लोगों के दिलों की गहराइयों में भी बस चुके हैं, लेकिन कभी एक दौर उनके लिए ऐसा भी आया था जब वह अपनी नाकामियों से दुखी होकर आत्महत्या करने जा रहे थे. एक्टिंग की दुनिया में कदम रखने से पहले ही उन्हें इतनी नाकामियां मिलीं कि उन्हें लगा कि उनके सपने कभी हकिकत नहीं बन सकेंगे. मनोज बाजपेयी ने हाल ही में एक इंटरव्यू में ये बताया कि वह इतने दुखी हो चुके थे कि वह आत्महत्या करने वाले थे.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें