close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

28 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया पवन सिंह और काजल राघवानी का यह VIDEO

कहा जा रहा है कि भोजपुरी फिल्म इतिहास का यह पहला मौका है जब किसी गाने को यूट्यूब में इतने दर्शक मिले हैं.

28 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया पवन सिंह और काजल राघवानी का यह VIDEO
पवन सिंह की कई फिल्में सिनेमाघरों में दस्तक देने को तैयार हैं (फोटो साभारः वीडियो ग्रैब, यूट्यूब)

नई दिल्ली: भोजपुरी सुपरस्टार पवन सिंह और काजल राघवानी का एक वीडियो इन दिनों इंटरनेट पर काफी तेजी से देखा जा रहा है. यह वीडियो पवन सिंह और काजल की फिल्म 'भोजपुरिया राजा' के गाने 'छलकत हमरो...' गाने का है, जिसने इंटरनेट पर एक अनोखा रिकॉर्ड बनाया है. इस गाने को यूट्यूब पर देखने वालों की संख्या 28 करोड़ पार कर गई है. कहा जा रहा है कि भोजपुरी फिल्म इतिहास का यह पहला मौका है जब किसी गाने को यूट्यूब में इतने दर्शक मिले हैं. इस गाने में पवन सिंह का साथ गायिका प्रियंका सिंह ने दिया है. इस गीत को संगीत मधुकर आनंद ने दिया है जबकि गीतकार आजाद सिंह ने इसे लिखा है. 

'शेर सिंह' में नजर आने वाले हैं पवन सिंह
बता दें, भोजपुरी सिनेमा में पवन सिंह को सफलता की गारंटी माना जाता है. पवन सिंह की कई फिल्में सिनेमाघरों में दस्तक देने को तैयार हैं जिसमें 'शेर सिंह' का नाम सबसे ऊपर है. इस फिल्म पहली बार उन्के साथ आम्रपाली दुबे नजर आने वाली हैं. भोजपुरी सिनेमा के इतिहास में पहली बार निर्देशक शशांक राय की फिल्‍म ‘शेर सिंह’ की शूटिंग बैंकॉक में किया गया है. फिल्‍म की शूटिंग मुंबई और जोधपुर और बैंकॉक में किया गया है. फिलहाल फिल्म का पोस्ट प्रोडक्शन तेजी से मुंबई में किया जा यह है. इस फिल्म में कुल आठ गाने है. 

पवन सिंह मूल रूप से बिहार के आरा के रहने वाले हैं और उन्होंने दर्जनों भोजपुरी फिल्मों और सैकड़ों एल्बम में काम किया है. खबर के अनुसार बलिया के मिट्टी मोहल्ले में ज्योति का परिवार रहता है और ज्योति के चाचा सभासद भी रह चुके हैं. वहीं, 20 साल की उम्र में काजल ने भोजपुरी फिल्म में एंट्री मारी. काजल खुद को बहुत लकी मानती हैं कि उनके फैन्स ने उन्हें इतना सपोर्ट किया और वह पिछले 7 सालों से भोजपुरी फिल्म जगत से जुड़ी हुई हैं. चूंकि काजल गुजराती हैं और वह लगातार भोजपुरी फिल्मों में काम करती आ रही हैं, तो ऐसे में क्या उन्हें भाषा की समस्या कभी हुई या नहीं. इस पर काजल का कहना है कि भाषा को लेकर ज्यादा समस्याएं नहीं आई, क्योंकि भोजपुरी भाषा बहुत स्वीट है और हिंदी से काफी मिलता जुलता है. इसलिए इस भाषा को अपनना बहुत ही आसान था. 

भोजपुरी की और भी खबरें यहां पढ़ें