जब कोर्ट तक पहुंच गई थी Valentine's Day पर जन्मीं मधुबाला और दिलीप कुमार की Love Story

मधुबाला (Madhubala) अपनी प्रोफेशनल लाइफ में जितनी सफल रहीं, मोहब्बत में उन्हें उतने ही दर्द मिले.

जब कोर्ट तक पहुंच गई थी Valentine's Day पर जन्मीं मधुबाला और दिलीप कुमार की Love Story
मधुबाला का जन्म साल 1933 में आज ही के दिन यानी 14 फरवरी (वेलेंटाइन डे) को हुआ था.

नई दिल्ली: बड़ी-बड़ी आंखे, मुस्कुराते होंठ और लहराती जुल्फें... इतनी खूबसूरत थीं बॉलीवुड की एक एक्ट्रेस मधुबाला (Madhubala). इनकी अदाएं किसी को भी दीवाना कर देने के लिए काफी थीं. आज की हर एक्ट्रेस उनके जैसा बनने के ख्वाब संजोती हैं, लेकिन मधुबाला का अक्स भी किसी में नजर नहीं आता. मधुबाला अपनी प्रोफेशनल लाइफ में जितनी सफल रहीं, मोहब्बत में उन्हें उतने ही दर्द मिले. मधुबाला और दिलीप कुमार (Dilip Kumar) का इश्क भी कभी अपने मुकाम पर नहीं पहुंच पाया. दिलीप कुमार को मधुबाला से इस कदर मोहब्बत थी कि वो उनकी हां सुनने के लिए कोर्ट तक गए. मधुबाला का जन्म साल 1933 में आज ही के दिन यानी 14 फरवरी (वेलेंटाइन डे) को हुआ था.  

B'day: मधुबाला के प्यार में दीवाने हो गए थे दिलीप कुमार, कोर्ट तक पहुंच गई थी Love Story

दिलीप कुमार ने अपनी बायोग्राफी में बताया है कि मधुबाला बहुत ही जिंदादिल इंसान थीं. उन्हें मेरे जैसे संकोची और शर्मीले व्यक्ति के साथ बात करने में कोई दिक्कत नहीं होती थी. लेकिन मधुबाला के पिता को उनकी लव लाइफ से बहुत परेशानी थी. मधुबाला की छोटी बहन मधुर भूषण ने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि अब्बा को लगता था कि दिलीप उनसे उम्र में बड़े हैं. जबकि वो मेड फॉर ईच अदर थे. लेकिन अब्बा कहते थे यह सही रास्ता नहीं है.  

मधुबाला ने अपने पिता की एक नहीं सुनी और वो कहती थीं कि वह उन्हें (दिलीप कुमार) प्यार करती हैं. कुछ समय बाद बीआर चोपड़ा के साथ 'नया दौर' फिल्म को लेकर कोर्ट केस हो गया तो मेरे वालिद और दिलीप साहब के बीच मनमुटाव हो गया. दरअसल, इस फिल्म की शूटिंग 40 दिनों तक आउटडोर होनी थी, लेकिन उनके पिता इसके लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं हुए. इसकी वजह दोनों की प्रेम कहानी और मधुबाला की बिगड़ी सेहत बताई जाती है. दरअसल, आउटडोर शुटिंग पर न जाने के कारण बीआर चोपड़ा ने उनकी जगह वैजयंतीमाला को साइन कर लिया. मधुबाला की जगह वैजयंतीमाला को साइन किए जाने का यह मामला इतना बिगड़ा कि यह कोर्ट तक पहुंच गया. इसके साथ ही दोनों की प्रेम कहानी भी अदालत पहुंच गई. इस दौरान दिलीप कुमार ने फिल्म के डायरेक्टर का साथ दिया और मधुबाला के खिलाफ कोर्ट में गवाही दी. दिलीप कुमार के इस बयान से न सिर्फ मधुबाला का दिल टूट गया, बल्कि वो बहुत आहत भी हुईं.

Madhubala, Birth Anniversary, Happy Birthday, Kishore Kumar, मधुबाला, बर्थ एनिवरसरी, हैप्पी बर्थडे, किशोर कुमार

दिलीप कुमार ने अपनी बायोग्राफी में अपने और मधुबाला के रिश्ते का जिक्र करते हुए बताया कि हम फिल्म 'मुगल ए आजम' के लिए पर्दे पर अमर प्रेम निभा रहे थे, तभी असल जिंदगी में हमारे रिश्ते खत्म हुए. फिल्म आधी ही बन पाई थी और हालत ये थी कि हम आपस में बात तक नहीं करते थे. 'मुगल ए आजम' के एक प्रेम दृश्य को सर्वकालिक महान प्रेम दृश्यों में गिना जाता है. जब सलीम की गोद में अनारकली सिर रख लेटी हैं. बैकग्राउंड में उस्ताद तानसेन का आलाप चल रहा है. और सलीम अभिसार के लिए अनारकली के चेहरे पर एक पंख घुमा रहा है. पर असल जिंदगी में हम उस वक्त बात तो छोड़िए, दुआ सलाम भी नहीं करते थे.

Madhubala, Birth Anniversary, Happy Birthday, Kishore Kumar, मधुबाला, बर्थ एनिवरसरी, हैप्पी बर्थडे, किशोर कुमार

14 फरवरी 1933 में जन्मी मधुबाला में 1942 से लेकर 1962 तक काम किया. उन्हें अक्सर हिंदी सिनेमा की सबसे प्रतिष्ठित महिला सेलिब्रिटी के रूप में माना जाता है. वह 'महल' (1949), 'अमर' (1954), 'मिस्टर एंड मिसेज 55' (1955), 'चलती का नाम गाड़ी' (1958), 'मुगल-ए-आजम' (1960) और 'बरसात की रात' (1960) जैसी फिल्मों में अपने जलवे बिखेर चुकी हैं. बता दें कि 23 फरवरी, 1969 को मात्र 35 साल की उम्र में मधुबाला ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें