Zee Rozgar Samachar

पुलिस हिरासत में कारोबारी पिता-बेटे की मौत पर फूटा Bollywood Celebs का गुस्सा

प्रियंका चोपड़ा, तापसी पन्नू, टाइगर श्रॉफ सहित कई बॉलीवुड सेलेब्स ने पी जयराज और जे फेनिक्स की तमिलनाडु पुलिस की हिरासत में मौत की निंदा की है.

पुलिस हिरासत में कारोबारी पिता-बेटे की मौत पर फूटा Bollywood Celebs का गुस्सा
फाइल फोटो

नई दिल्ली: तमिलनाडु के थूथुकुडी जिले के सथनकुलम के रहने वाले कारोबारी पिता पुत्र की पुलिस हिरासत में मौत से बॉलीवुड गलियारे में भी गुस्सा दिख रहा है. अमेरिका में जहां अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया, वहीं अब तमिलनाडु के सथनकुलम में हुई घटना से भी लोगों में उबाल आने लगा है. तमिलनाडु पुलिस पर बर्बरता के आरोप लग रहे हैं. बता दें कि लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में पिता-पुत्र को पुलिस उठा ली थी.  इसके बाद पी जयराज और जे फेनिक्स की हिरासत में मौत हो गई. इस घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया. इस घटना से कई बॉलीवुड सेलेब्स हिल गए हैं और अपने सोशल मीडिया अकाउंट से ऐसी घटना की निंदा भी की और दोषियों पर कार्रवाई की मांग भी की है.

बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) ने #JusticeForJayarajandBennicks को सपोर्ट करते हुए लिखा कि, जो मैंने सुना, उससे पूरी तरह हिल गई हूं और मुझे दुख के साथ गुस्सा भी है. किसी ने कोई भी क्राइम किया हो लेकिन उसके साथ ऐसी क्रूरता नहीं की जानी चाहिए. इस मामले में जो भी दोषी हैं, उन्हें सजा मिलनी चाहिए. मैं कल्पना भी नहीं कर सकती कि परिवार पर क्या बीत रही होगी. मैं प्रार्थना करती हूं कि उनके परिवार को हिम्मत मिले. हमें एक होकर इस घटना पर न्याय की मांग करनी चाहिए.

नेहा धूपिया (Neha Dhupia) ने लिखा कि, पुलिस द्वारा पीट पीटकर हत्या करना. क्या सिर्फ इन पुलिसकर्मियों का निलंबन ही काफी है? क्या गुजर-बसर की जद्दोजहद में लगे लोगों के प्रति पुलिसकर्मियों का ये अपराध जघन्य नहीं है? हम बर्बरता इंतहा से नाराज हैं.

वहीं टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff) ने बहुत ही अलग तरीके से तमिलनाडु पुलिस की निंदा की है. उन्होंने एक पोस्ट किया है जिसमें पुलिस वाले दो व्यक्तियों को पीट रहे हैं. ये दो व्यक्ति कारोबारी पिता-पुत्र का सिंबल हैं. इस पर एक कैप्शन भी है, जिसमें लिखा है 'द अनचेंड एनिमल'. वहीं एक्ट्रेस तापसी पन्नू (Taapsee Pannu) ने भी इस घटना पर दुख जताते हुए लिखा कि, यह सिर्फ एक मामला नहीं है, ऐसे कई और मामले भी हैं. ऐसी घटना का शिकार कोई भी हो सकता है. मामले की डीटेल्स बेहद डरावनी है.

बता दें कि 19 जून को पी जयराज और जे फेनिक्स ने समय पर अपने मोबाइल की दुकान बंद नहीं किया था और चेन्नई में लॉकडाउन मानदंडों का उल्लंघन किया गया था. इसके लिए उन्हें गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया और 21 जून को कोविलपट्टी जेल भेज दिया गया था, लेकिन एक दिन बाद संदिग्ध हालात में 22 जून को पी जयराज की मौत हो गई और अगले दिन 23 जून को उनके बेटे फेनेक्स की मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि पुलिस कर्मियों ने सत्कुलम पुलिस स्टेशन में दोनों को बुरी तरह से पीटा था और इस कारण ही उनकी मौत हुई. परिजनों ने दो उप-निरीक्षकों को हत्या का जिम्मेदार बताने हुए उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की है.

ये भी देखें-

इस घटना से राज्य में अफरातफरी मच गई और  दो उपनिरीक्षकों सहित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. इस बीच, अन्नाद्रमुक और द्रमुक ने पी जयराज और  जे फेनिक्स के परिजनों को 25-25 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा भी की है.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.