रिश्वत ट्वीट : कपिल शर्मा की मुश्किलें बढ़ीं, मनसे ने शिकायत दर्ज करायी

बीएमसी कर्मचारी द्वारा रिश्वत मांगने संबंधी ट्वीट करके विवाद खड़ा करने वाले हास्य कलाकार कपिल शर्मा की दिक्कतें बढ़ती नजर आ रही हैं। राज ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नव-निर्माण सेना (मनसे) ने निकाय कर्मचारियों द्वारा रिश्वत मांगे जाने पर चुप रहने तथा भवन निर्माण नियमों का उल्लंघन करने की शिकायत दर्ज करायी है।

रिश्वत ट्वीट : कपिल शर्मा की मुश्किलें बढ़ीं, मनसे ने शिकायत दर्ज करायी

मुंबई : बीएमसी कर्मचारी द्वारा रिश्वत मांगने संबंधी ट्वीट करके विवाद खड़ा करने वाले हास्य कलाकार कपिल शर्मा की दिक्कतें बढ़ती नजर आ रही हैं। राज ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नव-निर्माण सेना (मनसे) ने निकाय कर्मचारियों द्वारा रिश्वत मांगे जाने पर चुप रहने तथा भवन निर्माण नियमों का उल्लंघन करने की शिकायत दर्ज करायी है।

 

कपिल शर्मा ने पिछले सप्ताह बीएमसी के एक अधिकारी द्वारा पांच लाख रुपए का रिश्वत मांगे जाने का आरोप लगाते हुए ट्वीट किया था। इसके बाद स्थानीय निकाय ने दावा किया कि अभिनेता ने ना सिर्फ अपने वर्सोवा कार्यालय में बल्कि गोरेगांव स्थित अपने बंगले में भी भवन निर्माण नियमों का उल्लंघन किया है।

बृहन्नमुंबई नगरपालिका परिषद (बीएमसी) में मनसे के नेता संदीप देशपांडे ने सोमवार को वर्सोवा थाने में कपिल शर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी है। उन्होंने शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज करने और मामले की जांच का आदेश देने की मांग की है।

देशपांडे ने कहा, ‘हां, मैंने अपने वकील की मदद से वर्सोवा थाने में हास्य कलाकार के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 176 के तहत श्रिकायत दर्ज करायी है क्योंकि उन्होंने कथित रिश्वतखोरी के मामले पर चुप्पी साधे रखी, किसी से शिकायत नहीं की और नाहीं संबंधित अधिकारियों को सूचित किया।’’ देशपांडे के वकील द्वारा दी गयी शिकायत की प्रति में कहा गया है, चूंकि बीएमसी अधिकारी भारतीय दंड संहिता की धारा 21 के तहत सरकारी कर्मचारी हैं और यदि वे रिश्वत मांगते हैं तो वह सीआरपीसी की धारा 39 के तहत अपराध है।

शिकायत में कहा गया है कि साथ ही यह व्यक्ति का कर्तव्य है कि वह सरकारी कर्मचारी के खिलाफ संबंधित प्राधिकार के पास शिकायत दर्ज कराए, यदि वह धारा 176 के तहत अपना कर्तव्य पूरा करने में असफल रहता है तो, यह अपराध है।

देशपांडे ने कहा, ‘इस मामले में कपिल शर्मा ने जिम्मेदार नागरिक की तरह व्यवहार नहीं किया और अपना कर्तव्य निभाने में असफल रहे। इसलिए, मैंने पुलिस अधिकारियों से मेरी शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने तथा उन्हें आगे की जांच के लिए बुलाने की मांग करता हूं।’ इसके अलावा मनसे की महासचिव शालिनी ठाकरे अपने समर्थकों सहित आज अंधेरी के तहसीलदार कार्यालय में गयीं और संबंधित अधिकारियों से मांग की कि मैनग्रोव जंगलों को कथित रूप से नष्ट करने के आरोप में कपिल शर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करें।

शालिनी ने कहा, ‘हमने हास्य कलाकार के खिलाफ तहसीलदार और वर्सोवा थाने में शिकायत दर्ज करायी है ताकि मामले में विस्तृत जांच हो सके। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोकप्रिय लोगों को विशेष सुविधा दी जाती है और वे अकसर कानून को अपने हाथों में ले लेते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘अपने अध्यक्ष की मांगों के अनुसार, संबंधित अधिकारी ‘पंचनामा’ भरकर मामले की रिपोर्ट वर्सोवा पुलिस को सौंपने वाले हैं। हम इस मुद्दे को इसके तर्कपूर्ण अंजाम तक ले कर जाएंगे।’

विपक्षी दल कांग्रेस ने इस शिकायत का इस्तेमाल भाजपा और शिवसेना पर निशाना साधने के लिए किया। हालांकि शिवसेना ने कपिल शर्मा को चुनौति दी है कि वह रिश्वत मांगने वाले अधिकारी का नाम सार्वजनिक करें।