'छपाक' का बॉक्स ऑफिस पर बुरा हाल देख दीपिका पादुकोण को करना पड़ा ये काम

'छपाक' की रिलीज से पहले दीपिका जेएनयू में प्रदर्शन कर छात्रों के साथ खड़ी हुईं. वह जेएनयू में 10 मिनट के करीब रुकीं और उन्होंने वहां कोई बयान नहीं दिया, लेकिन दीपिका के सामने देश को तोड़ने वाले नारे लगे, जिस पर लोग नाराज हो गए कि वह देश को तोड़ने वाली ताकतों के साथ खड़ी हैं. 

'छपाक' का बॉक्स ऑफिस पर बुरा हाल देख दीपिका पादुकोण को करना पड़ा ये काम

नई दिल्ली :  फिल्म 'छपाक' (Chhapaak) की रिलीज के बाद पहली बार दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) फैंस के लाइव रिएक्शन जानने के लिए मुंबई सिनेमा हॉल पहुंच गईं. आपको बता दें कि फिल्म को रिलीज हुए तकरीबन एक हफ्ता बीत गया है. इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कोई करिश्मा नहीं किया. ऐसे में कह सकते हैं कि आने वाले वीकेंड की तैयारी करने के लिए दीपिका ने फैंस मिलना शुरू किया. फिल्म का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा, सो इसे भी फिल्म के प्रचार का तरीका ही बताया जा रहा है. वहीं इस फिल्म के साथ रिलीज हुई 'तानाजी' बॉक्स ऑफिस पर छठे दिन 100 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई.

ट्रेड एनालिस्ट तरन आदर्श के मुताबिक- दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक ' ने पहले दिन 4.77 करोड़ की कमाई की थी. फिल्म ने शनिवार को 6.90 करोड़ से ऊपर की कमाई की, रविवार को फिल्म ने 7 से 7.50 करोड़ रुपये, सोमावार को 2 से 2.50 करोड़ और मंगलवार को 2.55 करोड़ रुपये की कमाई की थी. फिल्म ने मंगलवार तक 23.92 करोड़ रुपये की कमाई की.

वैसे दीपिका ने छपाक की टीम के साथ मिलकर एक स्टिंग ऑपरेशन भी किया, जिसमें दीपिका व उनकी टीम यह पता लगाने की कोशिश करती हैं कि देश में तेजाब खरीदने की क्या प्रक्रिया है और दुकानदार से तेजाब लेते वक्त किन किन सवालों से गुजरना पड़ता है. दीपिका ने एक वीडियो जारी करके इस ऑपरेशन की जानकारी दी. इस वीडियो में दीपिका कहती हैं कि अगर कोई आपको प्रपोज करता है और आप कहते हैं नहीं, आप उसका विरोध करते हैं तो आप पर तेजाब से हमला हो जाता है. आपको अपने अधिकारों के लिए आवाज उठानी चाहिए. दीपिका का मानना है कि तेजाब फेंके जाने का सबसे बड़ा कारण खुद तेजाब है. उस हिसाब से अगर ये बिकता नहीं तो फिकता नहीं. देखें वीडियो-

दीपिका की फिल्म 'छपाक' 10 जनवरी को रिलीज हुई, लेकिन फिल्म विवादों में आ गई जब इसकी रिलीज से पहले दीपिका जेएनयू में प्रदर्शन कर छात्रों के साथ खड़ी हुईं. दीपिका जेएनयू में 10 मिनट के करीब रुकीं और उन्होंने वहां कोई बयान नहीं दिया, लेकिन दीपिका के सामने देश को तोड़ने वाले नारे लगे, जिस पर लोग नाराज हो गए कि वह देश को तोड़ने वाली ताकतों के साथ खड़ी हैं. इसके बाद से दीपिका की मुश्किलें काफी बढ़ गईं. इसके बाद #BoycottChhapaak ट्रेंड करने लगा. इस हैशटैग के साथ लोग ट्वीट करने लगे कि उन्होंने देश को तोड़ने वाली ताकतों का समर्थन किया है. वह भी चाहती हैं देश के टुकड़े हो जाएं.

वैसे दीपिका ने जेएनयू में हुए हमले पर अपनी प्रतिक्रिया भी दी थी. उन्होंने कहा था कि यह देखकर मुझे गर्व होता है कि हम अपनी बात कहने से डर नहीं हैं. यह देखकर खुशी होती है कि लोग सामने आ रहे हैं और बिना किसी खौफ के अपनी आवाज उठा रहे हैं. दीपिका  ने कहा कि यह जरूरी है कि लोग चुप न रहें, खुलकर अपने विचार व्यक्त करें. 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें

यह भी देखें