चंद मिनटों में सोशल मीडिया पर ऐसे फैली लता मंगेशकर के बारे में झूठी खबर

सोशल मीडिया पर लता मंगेशकर की निधन की झूठी खबर वायरल होने के बाद उनके परिवार वाले काफी परेशान हुए, और आखिरकार उन्हें लगा दीदी के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करके यह जानकारी देनी पड़ी कि वह ठीक हैं और उनकी सेहत में सुधार आ रहा है.

चंद मिनटों में सोशल मीडिया पर ऐसे फैली लता मंगेशकर के बारे में झूठी खबर
मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती हैं लता मंगेशकर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) की लंबी उम्र की हम सब कामना करते हैं और प्रार्थना भी करते हैं कि वह जल्द ही पूरी तरह से स्वस्थ्य हो जाएं. वैसे लता मंगेशकर के परिवार वालों की तरफ से लगातार यह बयान समाने आ रहा है कि उनकी हालत स्थिर है और सेहत में लगातार सुधार भी हो रहा है, लेकिन आज के समय में संचार का सबसे बड़ा माध्यम माना जाने वाला सोशल मीडिया पर कुछ भी वायरल होने में ज्यादा वक्त नहीं लगता, अब चाहे वह बात सच हो या झूठ. कल (14 नवंबर) रात की ही बात ले लीजिए, जब अचानक से सोशल मीडिया पर लता मंगेशकर की निधन की खबर सामने आई. 

यह हम सबको चौंका देने वाली खबर थी, लेकिन यह खबर झूठी निकली. पर जरा सोचिए, इस तरह की अफवाहों से हम सब को कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. सोशल मीडिया पर लता मंगेशकर की निधन की झूठी खबर वायरल होने के बाद उनके परिवार वाले काफी परेशान हुए, और आखिरकार उन्हें लगा दीदी के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करके यह जानकारी देनी पड़ी कि वह ठीक हैं और उनकी सेहत में सुधार आ रहा है, लेकिन सवाल उठता है कि यह झूठी खबर सोशल मीडिया से उठी कैसे?

दरअसल, होता कुछ यूं है कि हम बिना कुछ सोचे-समझे और बिना फैक्ट की जांच किए दूसरों की ट्वीट को सच मानकर उसे रीट्वीट करने लगते हैं. इसमें गलती हमारी नहीं, क्योंकि अक्सर यह देखा जाता है कि किसी की भी मौत की खबर आते ही हम भावुक हो जाते हैं और इस भावुकता में हम उसके फैक्ट को जांच करना भूल जाते हैं और यही हुआ लता मंगेशकर की निधन की झूठी खबर में.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 13 नवंबर को किसी एक शख्स ने अपने ट्वीटर पर एक ट्वीट करते हुए लिखा कि 'RIP lata ji... We will miss you', इसके बाद से लोग एक दूसरे के ट्वीट को रीट्वीट करने में जुट गए और चंद मिनटों में यह झूठी खबर ट्विटर पर वायरल हो गई. आलम यह हुआ कि 14 नवंबर की रात तक यह झूठी खबर सोशल मीडिया पर पूरी तरह से छा गई.  

वहीं, इस मामले में जब लता मंगेशकर के ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट के जरिए परिवार वालों की तरफ से यह जानकारी दी गई कि वह ठीक हैं, तो उसके बाद से ही लोगों ने ट्विटर पर अपने-अपने ट्वीट डिलीट करने लगे. इस मामले में फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर ने भी गुरुवार को एक ट्वीट करते हुए कहा था कि उन्होंने परिवार से बात की है, लता मंगेशकर ताई स्थिर हैं और ठीक हो रही हैं. उन्होंने सभी से विनम्र अनुरोध करते हुए कहा था कि आधारहीन अफवाहें न फैलाएं. बता दें, सांस लेने में परेशानी और सीने में खून का जमाव होने की शिकायत के चलते लता मंगेशकर को 11 नवंबर को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनके जल्दी से ठीक होने की दुआएं देश-विदेश में तमाम प्रशंसकों के साथ-साथ बॉलीवुड सेलेब्रिटीज ने भी मांग रहे हैं. 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें