तनुश्री-नाना मामले पर किरकिरी झेल रहे अमिताभ बच्‍चन ने आखिरकार तोड़ी चुप्‍पी

बिग बी ने कहा, 'किसी भी महिला को ऐसी किसी घटना या अभद्र व्‍यवहार का शिकार नहीं होना चाहिए, खासकर वर्कप्‍लेस पर.'

तनुश्री-नाना मामले पर किरकिरी झेल रहे अमिताभ बच्‍चन ने आखिरकार तोड़ी चुप्‍पी
(फोटो साभार @SrBachchan/Twitter)

नई दिल्‍ली: आखिरकार, बॉलीवुड इंडस्‍ट्री में शुरू हुए #MeToo मूवमेंट पर बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्‍चन ने अपनी चुप्‍पी तोड़ दी है. तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर के उठे विवाद पर जब अमिताभ बच्‍चन से सवाल पूछा गया था तो उन्‍होंने कहा था, 'न मैं तनुश्री हूं और न ही नाना पाटेकर'. बिग बी के इस जवाब के बाद उनकी काफी आलोचना हुई थी. लेकिन आखिरकार अब अमिताभ बच्‍चन ने इस पूरे मसले पर अपनी खामोशी तोड़ते हुए अपने विचार रख दिए हैं.

आज अपने 76वें जन्‍मदिन के मौके पर अमिताभ बच्‍चन ने अपने ट्विटर पर एक इंटरव्‍यू शेयर किया है, जिसमें कई सवालों के जवाब उन्‍होंने दिए हैं. हालांकि ये इंटरव्‍यू उन्‍होंने किस संस्‍थान को दिया है, यह साफ नहीं हुआ है. अपने इस इंटरव्‍यू में एक सवाल के जवाब में अमिताभ ने वर्कप्‍लेस पर महिलाओं के साथ होने वाले सेक्‍शुअल हैरासमेंट पर बात की है.

thugs of hindostan

इस सवाल में उनसे पूछा गया कि वर्कप्‍लेस पर महिलाओं के साथ होने वाले सेक्‍शुअल हैरासमेंट, खासकर मनोरंजन जगत में, पर आपका क्‍या कहना है? इस पर बिग बी ने कहा, 'किसी भी महिला को ऐसी किसी घटना या अभद्र व्‍यवहार का शिकार नहीं होना चाहिए, खासकर वर्कप्‍लेस पर. इस तरह की हरकतों को तुरंत वर्कप्‍लेस के अधिकारियों के नोटिस में आना चाहिए और इनपर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए. अनुशासन, नागरिक, सामाजिक और नैतिक शिक्षा जैसी चीजें शिक्षा के छोटे स्‍तर पर ही शुरू करनी चाहिए. महिलाएं, बच्‍चे और समाज के शोषित तबके के साथ ऐसी घटनाएं सबसे ज्‍यादा होती हैं. ऐसे लोगों को ज्‍यादा संरक्षण की जरूरत है. यह बहुत दुखद है यदि हम इन महिलाओं को वर्कप्‍लेस पर वह स्‍वागत या उस तरह का महौल नहीं दे सकते जैसा उन्हें मिलना चाहिए.'

बता दें कि अमिताभ बच्‍चन से फिल्‍म 'ठग्‍स ऑफ हिंदोस्‍तान' के ट्रेलर लॉन्‍च के मौके पर पूछा गया था कि उनका तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर के मुद्दे पर क्‍या कहना है, जिसे उन्‍होंने टाल दिया था.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें