सुशांत की दोस्त का बड़ा खुलासा, सीबीआई को सौंपे अहम सबूत

बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की जांच अपने अंतिम पड़ाव पर है. अभिनेता की मौत के कई महीनों बाद भी कई तरह के खुलासे हो रहे हैं.

सुशांत की दोस्त का बड़ा खुलासा, सीबीआई को सौंपे अहम सबूत
सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की जांच अब अपने अंतिम पड़ाव पर है. अभिनेता की मौत के कई महीनों बाद भी कई तरह के खुलासे हो रहे हैं. यकीनन, इनसे सीबीआई को जांच में और भी आसानी होगी. इस मामले की जांच में एनसीबी भी काफी सक्रिय है. इस केस की ड्रग एंगल से जांच जारी है. कई गिरफ्तारियां हो चुकी हैं. सुशांत की दोस्त स्मिता पारिख (Smita Parikh) ने एक बड़ा खुलासा किया था.

सुशांत की दोस्त का खुलासा
सीबीआई की जांच के बीच सुशांत की दोस्त स्मिता पारिख का एक वीडियो सामने आया था. इस वीडियो में स्मिता दावा कर रही हैं कि उनकी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है. जब यह मामला कोर्ट में पहुंचेगा, तब सुशांत के विरोधियों को करारा जवाब मिलेगा.

ये भी पढेंः दुल्हन बनीं नेहा कक्कड़ ने शेयर कीं गुरुद्वारा वेडिंग की तस्वीरें, वायरल हो रहीं फोटोज

स्मिता पारिख ने ट्विटर पर एक पोस्ट डाला है. पोस्ट में उन्होंने लिखा है, ‘शुरू से ही मैं सुशांत के लिए लड़ाई में शामिल हूं. तबसे ही पेड पीआर मेरे पीछे लगे हैं और मेरी आवाज को दबाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन मैं अपना काम कर चुकी हूं और सीबीआई के पास सबूत भी पहुंच चुके हैं.' स्मिता ने आगे लिखा कि मेरी आवाज को दबाने की व्यर्थ कोशिश की जा रही है. जब ये मामला कोर्ट में चला जाएगा, तब इन पीआर टीमों का भांडा फूट जाएगा.

 

सीबीआई को दें सबूत
सुशांत की दोस्त स्मिता ने आगे लिखा कि कुछ लोग सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर वीडियो बना रहे हैं, लेकिन इससे कुछ नहीं होने वाला अगर आपके पास सबूत हैं तो आगे बढ़ें और सीबीआई को सौंपे. स्मिता आगे लिखती हैं- कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सुशांत के समर्थकों के बीच फूट डालने की कोशिश कर रहे हैं. मैं उनसे कहना चाहती हूं कि कृपया आगे आएं और सीबीआई के समक्ष अपना पक्ष रखें.’

 

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.