जन्मदिन मुबारक : मिस्टर इण्डिया अनिल कपूर 59 साल के हुए, जानिए उनके फिल्मी सफर की कुछ रोचक बातें

बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर आज 59 साल के हो चुके है। बॉलीवुड में उनका नाम ऐसे अभिनेताओं में शुमार किया जाता है जिन्‍होंने अपने तीन दशक के करियर में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिलों में राज किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया। जन्मदिन के मौके पर उनकी बेटी सोनम कपूर ने जन्मदिन की जश्न की तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल पर साझा की है।

जन्मदिन मुबारक : मिस्टर इण्डिया अनिल कपूर 59 साल के हुए, जानिए उनके फिल्मी सफर की कुछ रोचक बातें

मुंबई : बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर आज 59 साल के हो चुके है। बॉलीवुड में उनका नाम ऐसे अभिनेताओं में शुमार किया जाता है जिन्‍होंने अपने तीन दशक के करियर में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिलों में राज किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया। जन्मदिन के मौके पर उनकी बेटी सोनम कपूर ने जन्मदिन की जश्न की तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल पर साझा की है।

अनिल कपूर 80 और 90 के दशक के सुपरस्टार थे और आज भी उनका चार्म लोगों के सिर पर चढक़र बोल रहा है। अनिल आज 59 साल के हो गए है लेकिन उम्र के इस पड़ाव में भी वे अपने समय के एक्टर्स और वर्तमान एक्टर्स से कहीं ज्यादा फिट और हैंडसम नजर आते है।

वे आज भी पूरे जोश के साथ एक्टिंग में सक्रिय है। अनिल कपूर भारतीय एक्टर ही नहीं बल्कि इंटरनेशनल एक्टर भी है। हॉलीवुड में उन्होंने 'स्लमडॉग मीलियनेर' और एक्शन सीरियल '24' की है जिसे विदेशों में सराहा गया।

अनिल कपूर के पिता बॉलीवुड के मशहूर प्रोड्यूसर सुरिंदर कपूर और मां का नाम निर्मल था। अनिल कपूर अपने चारों बहन-भाईयों में से दूसरे नम्बर के भाई है। अनिल के दो भाई प्रोड्यूसर बोनी कपूर और एक्टर संजय कपूर है,उनकी बहन का नाम रीना मारवाह है। 1984 में अनिल ने कॉस्ट्यूम डिजाइनर सुनिता भमभानी से विवाह कर लिया। अनिल के दो बेटियां और एक बेटा है। उनकी बेटी सोनम कपूर इंडस्ट्री में स्थापित एक्ट्रेस है और अपने पिता की ही तरह स्टाइल आइकॉन मानी जाती है। अनिल का बेटा हर्षवर्धन बहुत जल्द बॉलीवुड में फिल्म 'मिर्जिया' से डेब्यू करने वाले है और छोटी बेटी रेहा कपूर प्रोड्यूसर है।

अनिल ने अपना एक्टिंग करियर 1971 में 12 साल की उम्र में शशी कपूर की फिल्म 'तू पायल मैं गीत' में उनके बचपन का रोल प्ले करके शुरू किया था। लेकिन,फिल्म रिलीज ना हो सकी। इसके बाद अनिल का डेब्यू 1973 में 'हमारे तुम्हारे' में एक छोटे से रोल से शुरू हुआ। इसके बाद 'शक्ति' (1982) में भी एक छोटा सा रोल निभाया था। अनिल की लीड एक्टर के रूप में पहली फिल्म 'वो सात दिन' थी जिसमें उनके साथ नसीरूद्दीन शाह और पद्मिनी कोल्हापुरी थी। इसके बाद यश चोपड़ा की 'मशाल' में उन्होंने टपोरी का रोल किया जिसके लिए उन्हें पहला फिल्मफेयर अवार्ड मिला। इन फिल्मों के बाद युद्ध और साहेब करने के बाद उन्होंने 1985 में आई फिल्म 'मेरी जंग' से खुदको इंडस्ट्री में स्थापित कर लिया। अनिल ने एक से बढक़र एक हिट-सुपरहिट फिल्में दी है। जिनमें तेजाब, कर्मा, जाबांज, परिंदा, मिस्टर इंडिया, राम बलराम, राम लखन, बेटा, ईश्वर,किशन कन्हैया,लम्हें,विरासत,नायक और एक अंतहीन लिस्ट है जिससे उन्होंने दर्शकों को अपना दीवाना बनाया। 

फिल्म वैलकम बैक इनकी कुछ दिन पहले रिलीज हुई फिल्म है। अनिल ने एक्टिंग के अलावा फिल्में प्रोड्यूस भी की है। जिनमें बेटी सोनम की 'आइशा' और 'खूबसूरत' है। इसके अलावा उन्होंने 'गांधी माइ फादर' प्रोड्यूस की थी जिसमें उन्होंने एक्टिंग भी की थी और इस फिल्म को नेशनल अवार्ड में स्पेशल जूरी अवार्ड मिला।