...और लता मंगेशकर ने हमेशा के लिए छोड़ दिया स्कूल, जानिए क्यों, जन्मदिन विशेेेेष

 आपको जानकार हैरानी होगी कि उनकी यही बहन वाली ममता उनके लिए ऐसी परेशानी बनी कि फिर लता ने कभी स्कूल की तरफ पलटकर नहीं देखा

...और लता मंगेशकर ने हमेशा के लिए छोड़ दिया स्कूल, जानिए क्यों, जन्मदिन विशेेेेष
फाइल फोटो

नई दिल्ली. लता मंगेशकर एक ऐसा नाम जो संगीत और सादगी का पर्याय है, मीठा गाने के साथ अपने आसपास सबको बड़ी बहन सा प्यार देने वाला लता मंगेशकर कब लता दीदी बन गईं किसी याद नहीं. आज इस महान व्यक्तित्व को लोग जीते जी भी देवी देवताओं की तरह पूजते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि लता मंगेशकर कुछ ही दिन स्कूल में पढ़ाई की और 5 साल की उम्र में ही एक दिन अचानक स्कूल जाना पूरे से त्याग दिया. सुनकर आपको भी अचंभा हो रहा होगा, लेकिन यह सच है कि लता ने पूरी पढ़ाई अपने घर से की वह स्कूल से एक कक्षा भी पूरी नहीं पढ़ी. 

स्वर कोकिला लता मंगेशकर को दीदी की उपाधी ऐसे ही नहीं मिली, घर में 4 भाई बहनों में सबसे बड़ी लता को बचपन से ही सबसे ज्यादा प्यार अपने छोटे भाई बहनों से रहा. फिर उनके अंदर की बहन वाली ममता के कारण वह एक दिन पूरे बॉलीवुड और संगीत की दुनिया की दीदी बन गई. लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि उनकी यही बहन वाली ममता उनके लिए ऐसी परेशानी बनी कि फिर लता ने कभी स्कूल की तरफ पलटकर नहीं देखा.

यह बात तो लता मंगेशकर ने कभी नहीं बताई लेकिन उनकी छोटी बहन आशा भोंसले ने लता के स्कूल छूटने का किस्सा सुनाया. जीटीवी के शो 'सारेगामापा लिटिल चेंप 5' में अपने बचपन का यह पूरा किस्सा सुनाया. आशा ताई ने बताया, 'जब कोल्हापुर के आगे सांगली में 5 साल की उम्र में दीदी स्कूल जाती थी, तो मैं भी उनका हाथ पकड़ के उनके साथ स्कूल चली जाती थी, मैं बहुत छोटी सी थी, मैं उसे छोड़ती नहीं थी एक पल भी. स्कूल में बिछे दरीचे पर मैं भी दीदी के पास बैठ जाती थी.' उन्होंने आगे बताया कि 8 दिन के बाद मास्टर ने कहा, 'एक लड़की की फीस में दो लड़कियां बैठेंगी क्या, जाओ इसे घर छोड़कर आओ' आशा ने बताया कि बस इसी बात पर दोनों बहनें रोते हुए घर लौटीं, और इसके बाद कभी स्कूल नहीं गईं. 

यह किस्सा सुनाते हुए आशा भौंसले अपने बचपन की यादों में खो गई और बड़ी बहन का प्यार याद करके भावुक हो गईं, उन्होंने कहा कि 'हम एक ही हाथ की उंगलियों जैसे हैं, कभी अलग हो भी जाएं तो मुश्किल समय में मुट्ठी बनकर एक दूसरे के साथ जुड़ जाते हैं. बता दें कि सुरों की जादूगरी करने वाली लता मंगेशकर आज अपना 89वां जन्मदिन मना रही हैं. 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें