'हैप्पी न्यू ईयर' रिव्यू : अन्य किरदारों पर भारी शाहरुख का अंदाज

फिल्म निर्देशक फराह खान की फिल्म 'हैप्पी न्यू ईयर' शुक्रवार को रुपहले पर्दे पर दस्तक दी। अपने स्टार कॉस्ट को लेकर यह फिल्म काफी चर्चा में थी।

'हैप्पी न्यू ईयर' रिव्यू : अन्य किरदारों पर भारी शाहरुख का अंदाज

ज़ी मीडिया ब्यूरो

नई दिल्ली : फिल्म निर्देशक फराह खान की फिल्म 'हैप्पी न्यू ईयर' शुक्रवार को रुपहले पर्दे पर दस्तक दी। अपने स्टार कॉस्ट को लेकर यह फिल्म काफी चर्चा में थी। बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख खान, दीपिका पादुकोण, अभिषेक बच्चन, बोमन ईरानी, सोनू सूद और विवान जैसे कलाकारों से सजी इस फिल्म में नया कुछ खास नहीं है। शाहरुख पूरी फिल्म अपने कंधे पर खींचते हैं। फराह मसाला फिल्में बनाने में माहिर हैं और इस बार भी वह अपने इस हूनर को दिखाने में कामयाब हुई है। शाहरुख के साथ फराह की केमेस्ट्री काफी जमती है और यह केमेस्ट्री ही है जो खामियों के बावजूद  फिल्म मनोरंजन करने में कामयाब हो जाती हैं। शाहरुख की यह पहली मल्टीस्टारर फिल्म है।

फिल्म की कहानी हीरा चुराने को लेकर है। शाहरुख की अगुवाई में पूरी टीम हीरा चुराने दुबई जाती है। शाहरुख खान चार्ली की भूमिका में हैं। अभिषेक कपूर ने नंदू भिड़े का किरदार निभाया है। अभिषेक का किरदार शराबी-कबाबी का है। बोमन ईरानी ने एक पारसी का किरदार निभाया है, जो तिजोरी खोलने में माहिर हैं तो सोनू सूद को बम बनाना आता है, क्योंकि वह सेना में काम कर चुके हैं। अभिनेता नसीरूद्दीन शाह के बेटे विवान कंप्यूटर हैकिंग में उस्ताद हैं जो हीरा चुराने में अपने इस हूनर का बखूबी इस्तेमाल करते हैं।

खास बात है कि हीरा चुराने के लिए इन्हें दुबई जाना होता है और दुबई जाने के लिए ये सभी किरदार एक डांस कम्पटीशन में हिस्सा लेते हैं लेकिन इनमें से किसी को डांस नहीं आता। दीपिका पादुकोण बार डांसर मोहनी के किरदार में हैं। शाहरुख की यह टीम हीरा क्यों चुराना चाहती है और टीम हीरा चुरा पाती है कि नहीं, इसके लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

'हैप्पी न्यू ईयर' को हम एक हल्की-फुल्की फिल्म कह सकते हैं, जिसमे कई ऐसे दृश्य हैं, जो आपको हंसाएंगे। शाहरुख तो अपने अंदाज के मालिक हैं, साथ ही बोमन ईरानी और अभिषेक बच्चन ने अच्छा अभिनय किया है। दर्शकों को हंसाने में इनकी भूमिका अहम है।

दीपिका पादुकोण बार डांसर की भूमिका में जंची हैं और उनकी भाषा और लहजा भी ठीक लगा। सोनू का सनकी मिजाज भी दर्शकों को हंसाता है। हां, विवान के पास कुछ करने को खास नहीं है, सिवाए इस टीम के साथ रहने के। फिल्म की सिनेमेटोग्राफी काफी अच्छी है और दुबई के सुंदर दृश्यों को खूबसूरती से परदे पर उतारा गया है।

यह फिल्म आपका मनोरंजन तो करेगी, मगर फिल्म में कुछ खास और नया नहीं है। 'हैप्पी न्यू ईयर' में पुरानी फिल्मों के डायलॉग्स की नकल कर उन्हें मजाकिया अंदाज में पेश किया गया है। फिल्म जरूरत से ज्यादा लम्बी है और इसका पहला हिस्सा तो फिर भी ठीक से गुजरता है, मगर दूसरा हिस्सा कहानी के हिसाब से लंबा लगने लगता है। कई हिस्सों में कहानी बिखरी नजर आती है। मोटे तौर पर कह सकते हैं कि 'हैप्पी न्यू ईयर' की कहानी ढीली है।

कुल मिलाकर आप यदि मसाला फिल्में देखने के शौकीन हैं तो आप इस फिल्म को देख सकते हैं। शाहरुख खान का अंदाज और दीपिका की केमस्ट्री आपको अच्छी लग सकती है। बाकी किरदारों के लिए फिल्म में ज्यादा कुछ नहीं है। या यों कहें कि शाहरुख जिस फिल्म में होते हैं, उसमें अन्य किरदारों के हिस्से में ज्यादा कुछ नहीं होता।