थप्‍पड़ मारे जाने से चोट पहुंची लेकिन मैं पहले से ज्यादा मजबूत बन गई: गौहर खान

उपनगरीय गोरेगांव के फिल्‍म सिटी में एक रियलिटी शो की शूटिंग के दौरान एक दर्शक द्वारा थप्पड़ मारे जाने पर रियलिटी टीवी स्टार, फिल्म अभिनेत्री और मॉडल गौहर खान ने कहा कि वह हमले से ‘दुखी और स्तब्ध’ हैं लेकिन इस घटना ने उन्हें और मजबूत बनाया है।

थप्‍पड़ मारे जाने से चोट पहुंची लेकिन मैं पहले से ज्यादा मजबूत बन गई: गौहर खान

मुंबई : उपनगरीय गोरेगांव के फिल्‍म सिटी में एक रियलिटी शो की शूटिंग के दौरान एक दर्शक द्वारा थप्पड़ मारे जाने पर रियलिटी टीवी स्टार, फिल्म अभिनेत्री और मॉडल गौहर खान ने कहा कि वह हमले से ‘दुखी और स्तब्ध’ हैं लेकिन इस घटना ने उन्हें और मजबूत बनाया है।

यह घटना रविवार को हुई थी जब गौहर एक संगीत रियलिटी शो के फिनाले की मेजबानी कर रही थी। तभी एक ब्रेक के दौरान एक दर्शक ने उन पर हमला कर दिया। हमलावर ने कहा कि मुस्लिम महिला होने के नाते गौहर को छोटे कपड़े नहीं पहनने चाहिए।

‘बिग बॉस’ सीजन 7 की विजेता ने अपने समर्थन के लिए अपने परिवार के लोगों और बॉलीवुड का आभार जताया। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि मैं इस प्यार और समर्थन के लिए अपने परिवार, दोस्तों, प्रशंसकों, मीडिया, टीवी जगत और फिल्म जगत का आभार जताती हूं। मैं आपको बताना चाहती हूं कि मैं दुखी हूं लेकिन निराश नहीं हूं। मैं स्तब्ध हूं लेकिन मेरा निश्चय और दृढ़ हो गया है। मुझे चोट पहुंची है, लेकिन मैं पहले से ज्यादा मजबूत भी बन गई हूं।

अभिनेत्री ने उम्मीद जताई कि उन पर हमला करने वाले मोहम्मद अकील मलिक (24) को उसके हिंसक व्यवहार के लिए सजा मिलेगी। मलिक फिलहाल पुलिस हिरासत में है। गौहर ने कहा कि वह बेवकूफ इंसान मेरे खूबसूरत धर्म का नहीं है जिसके खुद के मायने शांति और समर्पण हैं। उसने जाहिर तौर पर मुझपर हमला किया क्योंकि मैं एक अभिनेत्री हूं। वह अपना विकृत संदेश देना चाहता था। मैं उसी स्थिति का इस्तेमाल सभी महिलाओं से इस तरह की घटनाओं के खिलाफ खड़े होने की अपील के लिए करती हूं।

‘रॉकेट सिंह : सेल्समैन ऑफ दि ईयर’, ‘इशकजादे’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकी अभिनेत्री ने कहा कि हमले से स्तब्ध होने के बावजूद उन्होंने घटना से रियलिटी शो के फिनाले में खलल पड़ने नहीं दिया और अपना शूट पूरा किया। उन्होंने कहा कि मैं नैतिकता की दुहाई देकर किए जाने वाले इस तरह के हमलों का शिकार बनने वाली सभी महिलाओं के दर्द को महसूस करती हूं। मुझे पता है कि यह इंसान भारत के युवाओं का प्रतिनिधित्व नहीं करता क्योंकि मुझपर हुए कायराना हमले से गुस्साए युवकों की संख्या इस कायर आदमी से कहीं ज्यादा है।