close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IFFI 2019: रजनीकांत को 'आइकन ऑफ गोल्डन जुबली अवॉर्ड' से किया जाएगा सम्मानित

रजनीकांत को उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए साल 2000 में 'पद्मभूषण' और 2016 में 'पद्मविभूषण' से सम्मानित किया जा चुका है.

IFFI 2019: रजनीकांत को 'आइकन ऑफ गोल्डन जुबली अवॉर्ड' से किया जाएगा सम्मानित
आईएफएफआई 2019 का आयोजन इस साल के आखिर में गोवा में होगा.

नई दिल्ली: सुपरस्टार रजनीकांत (Rajinikanth) पिछले चार दशकों से भी अधिक समय से दुनिया भर में लोगों के दिलों पर राज कर रहे हैं. साउथ फिल्मों से बॉलीवुड का शानदार सफर तय करने वाले सुपरस्टार रजनीकांत ने अपनी फिल्मी करियर की शुरुआत साल 1975 में तमिल फिल्म 'अपूर्व रागंगल' से की थी. रजनीकांत को उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए साल 2000 में 'पद्मभूषण' और 2016 में 'पद्मविभूषण' से सम्मानित किया जा चुका है. 

अब, सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट के जरिए घोषणा की है कि रजनीकांत को भारत के 50 वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह (IFFI 2019) में 'आइकन ऑफ गोल्डन जुबली अवॉर्ड' से सम्मानित किया जाएगा. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, 'मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि पिछले कई दशकों से भारतीय सिनेमा में उनके (रजनीकांत) उत्कृष्ट योगदान के लिए IFFI 2019 में उन्हें 'आइकन ऑफ गोल्डन जुबली अवॉर्ड' से सम्मानित किया जाएगा.'

वहीं, जावड़ेकर के इस ट्वीट के बाद रजनीकांत ने भी एक ट्वीट करते हुए भारत सरकार का शुक्रिया अदा किया. बता दें, आईएफएफआई का आयोजन इस साल के आखिर में गोवा में होगा. गौरतलब है कि रजनीकांत को बतौर लीड हीरो का रोल एसपी मुथुरमन की फिल्म 'भुवन ओरु केल्विकुरी' में मिला था. इसके बाद मुथुरमन और रजनी ने 25 फिल्मों में साथ काम किया था. रजनीकांत की पहली हिंदी फिल्म टी रामा राव की 'अंधा कानून' थी. इसमें उनके साथ अमिताभ बच्चन लीड और हेमा मालिनी ने बतौर लीड एक्‍टर काम किया था. 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें