अभिनेत्री नंदिता दास ने किया CAA का विरोध, बोलीं- 'भारतीय होने का सबूत मांग रहे'

नंदिता दास (Nandita Das) ने कहा कि इसके विरोध में देश के स्टूडेंट्स ने आवाज उठाई है और इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

अभिनेत्री नंदिता दास ने किया CAA का विरोध, बोलीं- 'भारतीय होने का सबूत मांग रहे'

नई दिल्ली: सीएए और एनआरसी के विरोध में एक और अभिनेत्री और लेखिका सामने आ गई है. नाम है नंदिता दास (Nandita Das). जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (Jaipur Literature Festival) में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने खुलकर सीएए और एनआरसी का विरोध किया. उन्होंने कहा कि इसके विरोध में देश के स्टूडेंट्स ने आवाज उठाई है और इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

TIFF में लैंगिक असमानता का विरोध करेंगी नंदिता दास, यूं दिया जवाब

नंदिता दास ने कहा कि यह एक ऐसा कानून है, जिसके जरिये आपसे भारतीय होने का सूबत मांगा जा रहा है. उन्होंने कहा कि दिल्ली की तरह शाहीन बाग हर जगह बन रहे है. उन्होंने कहा कि देश में बेरोजगारी इतनी बढ़ गई है, जो पहली कभी नही थी. साथ ही देश की आर्थिक हालत में बदतर होते जा रहे है. उन्होने कहा कि देश में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब धर्म के नाम पर लोगों को विभाजित किया जा रहा है.

 फिल्मों में उपलब्धि के लिए नंदिता दास सम्मानित, मिलेगा एशिया पैसिफिक स्क्रीन अवार्ड

उन्होंने कहा कि फिल्मी जगत के लोग भी पहली बार इस तरह के कानून के खिलाफ बोलने लगे है और सभी को बोलने का हक है. वहीं नसीरूद्दीन शाह और अनुपम खेर के बीच बयानबाजी से नंदिता दास बयान देने से बचती नजर आई. उन्होंने कहा कि मैं अपनी बात कहूंगी, जो मुझे बोलने की आजादी है. उन्होंने कहा कि मैने 40 फिल्मे की है और सभी को बोलने की आजादी है.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें