close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमिताभ बच्चन से पहले ये 49 दिग्गज ले चुके हैं दादा साहेब फाल्के सम्मान, जानें इस अवॉर्ड की अहमियत

नई जेनरेशन के बच्चों के जेहन में सवाल उठना लाजिमी है कि ये दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) कौन थे, जिनके नाम पर फिल्म जगत का सबसे बड़ा सम्मान है. इस सम्मान का कितना महत्व, यह अब तक किस-किस को मिला है आदि ऐसे ही सवालों का जवाब नीचे जानिए.

अमिताभ बच्चन से पहले ये 49 दिग्गज ले चुके हैं दादा साहेब फाल्के सम्मान, जानें इस अवॉर्ड की अहमियत
दादा साहेब फाल्के भारतीय फिल्म जगत का सबसे बड़ा सम्मान है.

नई दिल्ली: बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) को भारतीय फिल्म जगत का सबसे बड़ा सम्मान दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) सम्मान (Dadasaheb Phalke Award) से समानित किया जाएगा. अमिताभ को साल 2018 के लिए यह सम्मान दिया जाएगा. नई जेनरेशन के बच्चों के जेहन में सवाल उठना लाजिमी है कि ये दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) कौन थे, जिनके नाम पर फिल्म जगत का सबसे बड़ा सम्मान है. इस सम्मान का कितना महत्व, यह अब तक किस-किस को मिला है आदि ऐसे ही सवालों का जवाब नीचे जानिए.

कौन थे दादा साहेब फाल्के
दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) भारतीय फिल्म जगत के पितामह हैं. उन्होंने भारत की पहली फिल्म राजा हरिश्चन्द्र का निर्माण किया था. बताया जाता है कि उस दौर में दादा साहब फाल्के ने 'राजा हरिश्चंद्र' का बजट 15 हजार रुपये था. 30 अप्रैल 1870 को मराठी परिवार में जन्मे दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) की पढ़ाई नासिक में हुई थी. दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) का पूरा नाम धुंडिराज गोविंद फाल्के था. उन्होंने सर जेजे स्कूल ऑफ आर्ट, मुंबई में नाटक और फोटोग्राफी की ट्रेनिंग ली. इसके बाद जर्मनी में फिल्म बनाने का काम सीखा था. बॉलीवुड के पितामह दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) का निधन 16 फरवरी 1944 को हुआ था. दादासाहब फाल्के एक जाने-माने प्रड्यूसर, डायरेक्टर और स्क्रीनराइटर थे जिन्होंने अपने 19 साल लंबे करियर में 95 फिल्में और 27 शॉर्ट फिल्में बनाईं.

इस महान आत्मा को सम्मान देने के लिए भारत सरकार ने साल 1969 में उनके नाम पर भारतीय फिल्म जगत का सबसे बड़ा सम्मान दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) देना शुरू किया था. दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke) सम्मान (Dadasaheb Phalke Award) में एक स्वर्ण कमल मेडल और 10 लाख रुपये दिए जाते हैं.

लाइव टीवी देखें-:

इन शख्सियतों को मिल चुका है दादा साहेब फाल्के (Dadasaheb Phalke)

  1. 2018: अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan)
  2. 2017: विनोद खन्ना
  3. 2016: कासिनाथुनी विश्वनाथ
  4. 2015: मनोज कुमार
  5. 2014: शशि कपूर
  6. 2013: गुलज़ार
  7. 2012: प्राण हिंदी
  8. 2011: सौमित्र चटर्जी
  9. 2010: के बालचंदर
  10. 2009: डी रामनायडू
  11. 2008: वी के मूर्ति
  12. 2007: मन्ना डे
  13. 2006: तपन सिन्हा
  14. 2005: श्याम बेनेगल
  15. 2004: अदूर गोपालकृष्णन
  16. 2003: मृणाल सेन
  17. 2002: देव आनंद
  18. 2001: यश चोपड़ा
  19. 2000: आशा भोसले
  20. 1999: हृषिकेश मुखर्जी
  21. 1998: बी.आर चोपड़ा
  22. 1997: कवि प्रदीप
  23. 1996: शिवाजी गणेशन 
  24. 1995: राजकुमार
  25. 1994: दिलीप कुमार
  26. 1993: मजरूह सुल्तानपुरी
  27. 1992: भूपेन हजारिका
  28. 1991: भालजी पेंढारकर
  29. 1990: अक्किनेनी नागेश्वर राव
  30. 1989: लता मंगेशकर
  31. 1988: अशोक कुमार
  32. 1987: राज कपूर
  33. 1986: नागी रेड्डी
  34. 1985: वी. शांताराम
  35. 1984: सत्यजीत रे
  36. 1983: दुर्गा खोटे
  37. 1982: एल. वी. प्रसाद
  38. 1981: नौशाद
  39. 1980: पैदी जयराज
  40. 1979: सोहराब मोदी
  41. 1978: रायचंद बोराल
  42. 1977: नितिन बोस
  43. 1976: कानन देवी
  44. 1975: धीरेन्द्र नाथ गांगुली
  45. 1974: बोम्मिरेड्डी नरसिम्हा रेड्डी
  46. 1973: रूबी मायर्स (सुलोचना)
  47. 1972: पंकज मुलिक
  48. 1971: पृथ्वीराज कपूर
  49. 1970: बीरेंद्रनाथ सरकार
  50. 1969: देविका रानी