close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लता मंगेशकर ने PM नरेंद्र मोदी से कहा, आपके आने से देश की छवि बदली

पीएम मोदी ने अमेरिका रवाना होने से पहले लता मंगेश्कर को फोन कर जन्मदिन की बधाई दी थी.

लता मंगेशकर ने PM नरेंद्र मोदी से कहा, आपके आने से देश की छवि बदली
मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में चौथी बार 'मन की बात' (Man ki Baat) मासिक रेडियो बुलेटिन पर देशवासियों को संबोधित किया.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra  Modi) के 'मन की बात' कार्यक्रम में विशेष अतिथि प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने कहा कि आपके (मोदी) आने के बाद देश की छवि बदली है और इससे मुझे काफी खुशी मिली है. दरअसल, मोदी ने अमेरिका रवाना होने से पहले लता मंगेश्कर को फोन कर जन्मदिन की बधाई दी थी. 'मन की बात' (Mann Ki Baat) कार्यक्रम में उस फोन रिकॉर्डिंग को सुनाया जो उन्होंने सुर-सम्राज्ञी लता मंगेशकर के समय रिकॉर्ड की थी. रेडियो बुलेटिन ने बताया कि कहा कि आज की मन की बात में देश की महान शख्सियत की बात करूंगा. हम सभी हिंदुस्तानवासियों को उनके प्रति बहुत सम्मान है और लगाव है. वो उम्र में हम सभी से बहुत बड़ी हैं, हम उन्हें लता दीदी कहते हैं. लता दीदी 28 सितंबर को 90 वर्ष की हो रही हैं. जानिए, पीएम मोदी और लता मंगेशकर के बीच क्या-क्या बातचीत हुई...

पीएम मोदी: आपको जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं, अग्रिम बधाई दे दूं. आपका स्वास्थ्य अच्छा रहे, आपका आशीर्वाद हम सभी पर बना रहे, बस यही प्रार्थना और आपको प्रणाम करने के लिए मैंने, अमेरिका जाने से पहले ही आपको फ़ोन कर दिया.

लता मंगेशकर: आपका फोन आएगा, यह सुनकर मैं बहुत खुश हुई थी. आपका कब वापस आना होगा?

पीएम मोदी: मेरा आना होगा 28 की देर रात्रि और 29 की सुबह, तब तक आपका जन्मदिन हो गया होगा.

पीएम मोदी: मुझे तो खुशी है कि जब आप गर्व से कहती हो कि आपकी मां गुजराती थीं. जब भी मैं आपके पास आया तो आपने मुझे कुछ न कुछ गुजराती व्यंजन खिलाया.

लता मंगेशकर: आप क्या हैं, आपको खुद को पता नहीं है. मैं जानती हूं कि आपके आने से भारत का चित्र बदल रहा है. मुझे बहुत खुशी होती है. बहुत अच्छा लगता है.

पीएम मोदी: बस, दीदी... आपका आशीर्वाद बना रहे. पूरे देश पर बना रहे. हम जैसे लोग कुछ न कुछ अच्छा करते रहे हैं. मुझे आपने हमेशा प्ररेणा दी है. आपकी चिट्ठी भी मुझे मिलती रहती है और आपकी कुछ न कुछ भेंट-सौगात मुझे मिलती रहती है. इससे मुझे एक अपनापन और पारिवारिक नाते का विशेष आनंद मिलता रहता है.
 
लता मंगेशकर: मैं आपको बहुत तकलीफ नहीं देना चाहती हूं. क्योंकि मुझे पता है आप कितने व्यस्त होते हैं और क्या-क्या करना पड़ता है. मुझे अच्छा लगा जब आप अपनी माता जी से मिलकर आए उनके पैर छूकर आए. तो मैंने भी किसी को उनके पास भेजा और उनका आशीर्वाद लिया.

पीएम मोदी: मेरी मां को याद है और वो मुझे बता रही थी.

लता मंगेशकर: टेलीफोन पर उन्होंने मुझे आशीर्वाद दिया तो मुझे बहुत खुशी हुई।

पीएम मोदी: हमारी मां बहुत खुश हुई थीं. मैं आपका बहुत आभारी हूं कि आप हमारी चिंता करती है. मैं आपको एक बार फिर जन्मदिन की बधाई देता हूं. इस बार मुंबई आया था तो मन करता था रूबरू आ जाऊं, लेकिन समय की इतनी व्यस्तता थी कि आपसे मिलने आ नहीं सकता. जल्द मैं आपसे मिलने आऊंगा और आपके हाथ से गुजराती चीज खाऊंगा.

लता मंगेशकर: ये मेरा सौभाग्य होगा.