Breaking News

ग्लेमर कॉन्टेस्ट मामले में महेश भट्ट की सफाई, महिला आयोग ने जारी किया था नोटिस

महिला आयोग और उनकी अध्यक्ष की तरफ से जैसे ही कड़ा रुख अख्तियार किया गया, फौरन ही महेश भट्ट की तरफ से उनके वकील ने बयान जारी कर दिया.

ग्लेमर कॉन्टेस्ट मामले में महेश भट्ट की सफाई, महिला आयोग ने जारी किया था नोटिस
फाइल फोटो

नई दिल्ली: महिला आयोग और उनकी अध्यक्ष की तरफ से जैसे ही कड़ा रुख अख्तियार किया गया, फौरन ही महेश भट्ट की तरफ से उनके वकील ने बयान जारी कर दिया. दरअसल महेश भट्ट, उर्वरी रौतेला, ईशा गुप्ता, मौनी रॉय, प्रिंस नरूला और वीजे रणवीर को महिला आयोग ने सोशल एक्टिविस्ट योगिता भयाना की शिकायत पर गवाही देने के लिए नोटिस जारी किए थे, लेकिन किसी भी सेलेब्रिटी ने महिला आयोग के नोटिस को तवज्जो नहीं दी, इससे महिला आयोग की चेयरपर्सन रेखा शर्मा भड़क गईं और फिर उन्होंने सीरियस एक्शन की बात जब ट्वीट पर की तो महेश भट्ट ने अपना जवाब भेज दिया. हालांकि अभी तक बाकी सितारों का कोई बयान सामने नहीं आया है.

क्या है मामला
आईएमजी वेंचर्स के प्रमोटर सनी वर्मा ने हाल ही में कोरोना काल में ही एक सौंदर्य प्रतियोगिता का ऑनलाइन आयोजन किया था, जिसके प्रमोशन के लिए इन सभी सितारों ने वीडियो बनाए और शेयर किए. प्रतियोगिता का नाम था ‘मिस्टर एंड मिस एशिया ग्लेमर 2020’. इन सभी वीडियोज को लेकर योगिता भड़ाना ने एक वीडियो बनाया औऱ सनी वर्मा का पूरा काला चिट्ठा सबके सामने रखा और उन पर यौन शोषण के आरोप लगाए. उन्‍होंने ये भी कहा कि मुझे नहीं चाहते हुए भी ये बोलने में शर्म आती हैं कि कैसे बॉलीवुड के नामचीन सितारे इस गोरखधंधे वाली कंपनी के लिए प्रोमोशन करते हैं.

इसके बाद महिला आयोग एक्शन में आया, वो ये जानना चाहता था कि जिस कंपनी के लिए ये सब सितारे प्रमोशन कर रहे थे, उस कंपनी के प्रमोटर पर ऐसे आरोप हैं. आखिर इन सितारों की भूमिका क्या है? हालांकि महेश भट्ट का कोई प्रमोशनल वीडियो सामने नहीं आया, लेकिन उनका चेहरा इस प्रतियोगिता के पोस्टर पर साफ दिखता है. जाहिर है, महिला आयोग की तरफ से उनको भी नोटिस भेजा गया.

जब महिला आयोग सख्त हुआ कि कैसे उनके नोटिस का कोई जवाब नहीं दे रहा है, ये गंभीर मसला है और एक और मोहलत देते हुए अगली तारीख 18 अगस्त की तय कर दी तो केवल महेश भट्ट की तरफ से उनकी लॉ फर्म नायक, नायक एंड कंपनी ने महिला आयोग को जवाब भेजा है, जिसमें कहा गया है कि उनका आईएमजी वेंचर्स नाम की कंपनी से कोई लेना देना नहीं है औऱ ना ही उनको अभी तक महिला आयोग का कोई नोटिस ही मिला है, तो उन्होंने मांग की है कि उनको पहले नोटिस दिया जाए.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें