close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'भाभी जी घर पर हैं' में अब दोनों भाभियों के बीच होगा चुनावी 'दंगल'

जी हां, आपकी चहेती अंगूरी और अनीता भाभी अब चुनावी दंगल लड़ने वाली हैं और सबसे दिलचस्‍प यह जानना होगा कि इस दंगल में इन दोनों के पति किस का साथ देते हैं.

'भाभी जी घर पर हैं' में अब दोनों भाभियों के बीच होगा चुनावी 'दंगल'
'भाभी जी घर पर हैं' में अंगूरी भाभी और अनीता भाभी का चुनावी अंदाज.

नई दिल्‍ली: इन दिनों देशभर में चुनावी माहौल गर्म हो रखा है और चारों तरफ चुनावी रैलियां और भाषण सुनाई दे रहे हैं. ऐसे में कॉमेडी टीवी सीरियल 'भाभी जी घर पर हैं' में भी चुनाव का रंग चढ़ने वाला है और इस बार एक दूसरे के आमने-सामने होंगी भाभियां. जी हां, आपकी चहेती अंगूरी और अनीता भाभी अब चुनावी दंगल लड़ने वाली हैं और सबसे दिलचस्‍प यह जानना होगा कि इस दंगल में इन दोनों के पति किस का साथ देते हैं. आने वाली दिनों में आप इस शो में भाभियों का कुछ ऐसा ही अवतार देखने वाले हैं.

जानकारी के अनुसार यह शो कानपुर की पृष्‍ठभूमि में सेट किया गया है और अब शो में कानपुर नगर निगम चुनाव में चुनाव देखने को मिलेगा. अपने स्‍वाभाव के अनुसार जहां अंगूरी भाभी भोली-भाली पार्टी से चुनाव लड़ेंगी तो वहीं तेज तर्रार पार्टी के सदस्य अनीता भाभी को अपना कैंडिडेट बनाएंगे. अनीता भाभी की प्‍लानिंग है कि वह कानपुर को साफ और प्रोग्रेसिव बनांएगी. वहीं भोली भाली अंगूरी भाभी महिलाओं के अधिकार के लिए लड़ने का फैसला लेती हैं.

अंगूरी भाभी का चुनाव चिन्‍ह जहां दिल का निशान है तो वहीं अनीता भाभी ने खटियो को अपना चिन्‍ह चुना है.

bhabhi ji ghar par hain, shubhangi atre

यहां साफ कर दें कि अपनी-अपनी फितरत के अनुसार विभूति और तिवारी जी अपनी-अपनी पत्‍नियों को छोड़ अपनी भाभियों के साथ नजर आएंगे. जहां तिवारी जी अनीता भाभी के कैंपेन में जुड़ते हैं तो वहीं विभूति नारायण मिश्रा, अंगूरी भाभी को अपना सपोर्ट देते हैं.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें