Breaking News

'किसी वृद्ध पुरुष के युवा महिला से शादी पर दुनिया को ऐतराज नहीं, लेकिन इसका उलटा हो तो...'

बेबाकी से अपनी राय रखने के लिए मशहूर अभिनेत्री और फिल्मकार पूजा भट्ट ने दोहरे मानदंड अपनाने वाले लोगों पर निशाना साधा है. पूजा ने सोमवार को ट्वीट किया, "दुनिया को किसी वृद्ध पुरुष के युवा महिला से विवाह करने पर कोई आपत्ति नहीं होती, लेकिन जब इससे उलटा होता है तो वे प्रहार करते हैं. दोहरे मानदंड."

'किसी वृद्ध पुरुष के युवा महिला से शादी पर दुनिया को ऐतराज नहीं, लेकिन इसका उलटा हो तो...'
पूजा भट्ट ने दोहरे मापदंड अपनाने वालों पर निशाना साधा

मुंबई : बेबाकी से अपनी राय रखने के लिए मशहूर अभिनेत्री और फिल्मकार पूजा भट्ट ने दोहरे मानदंड अपनाने वाले लोगों पर निशाना साधा है. पूजा ने सोमवार को ट्वीट किया, "दुनिया को किसी वृद्ध पुरुष के युवा महिला से विवाह करने पर कोई आपत्ति नहीं होती, लेकिन जब इससे उलटा होता है तो वे प्रहार करते हैं. दोहरे मानदंड."

पिछले साल पूजा ने अपनी शराब की लत और उससे छुटाकारा पाने के बारे में सार्वजनिक तौर पर खुलासा किया था. पूजा ने बताया था कि वह शराब की लत छोड़ने की कोशिश कर रही हैं और उन्होंने पिछले चार महीनों से शराब को हाथ भी नहीं लगाया है.

दरअसल, पूजा का ये ट्वीट फ्रांस के नए राष्ट्रपति और उनकी पत्नी पर कमेंट करने वाले लोगों को लेकर था. फ्रांस में सबसे कम उम्र के राष्ट्रपति के तौर पर इमैनुअल मैक्रों की जीत जिस तरह कुछ अलग है उसी तरह उनकी लव स्टोरी भी बेहद खास है. 39 साल के मैक्रों की पत्नी ब्रिगेट ट्रोगनेक्स उनसे उम्र में 24 साल बड़ी है. 

चोकोलातिएर्स में 1953 में जन्मीं ब्रिगेट, मैक्रों की लिटरेचर टीचर थीं. तब वह शादीशुदा थीं और उनके तीन बच्चे भी थे. ब्रिगेट से पढ़ते हुए मैक्रों उन्हें पसंद करने लगे और 17 साल की उम्र में ही उनसे शादी करने का फैसला ले लिया.

लेकिन, मैक्रों के माता-पिता को उनके इस बढ़ते लव अफेयर से चिंता सताने लगी. इसलिए उन्होंने मैक्रों को हाई स्कूल के आखिरी साल में वहां से दूर भेज दिया. हालांकि, बाद में ब्रिगेट ने तलाक ले लिया और पेरिस में मैक्रों से फिर मिलीं.

2007 में की शादी

साल 2007 में दोनों ने शादी कर ली. उस वक्त मैक्रों की उम्र 29 साल और ब्रिगेट 53 साल की थी. इस कपल के कोई बच्चा नहीं हैं, लेकिन मैक्रों कहते हैं कि उनकी पत्नी के तीन बच्चे और सात पोता-पोती ही उनका परिवार हैं.

पहले ही चुनाव में जीते

बता दें कि इमैनुअल मैक्रों फ्रांस के सबसे युवा राष्ट्रपति होंगे. उन्होंने मैरी ल पेन को हराया. रिपोर्ट्स के मुताबिक मैक्रों को करीब 64 प्रतिशत वोट मिले हैं. मैक्रों एक पूर्व बैंकर हैं. ये उनका पहला राष्ट्रपति चुनाव था. बता दें कि 2012 में मेक्रों को प्रेसिडेंट ओलांद का एडवाइजर बनाया गया था. बाद में 2014 में वित्त मंत्रालय का कार्यभार दिया गया. नवंबर 2016 में मैक्रों को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया गया. उन्हें पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी समर्थन दिया था.