ED का सवाल- सुशांत के साथ रिया ने मिलकर बनाई कंपनी, बाद में क्यों छोड़ी?

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने की आरोपी अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से दर्ज धन शोधन मामले में केंद्रीय एजेंसी के सामने पेश हुईं.

ED का सवाल- सुशांत के साथ रिया ने मिलकर बनाई कंपनी, बाद में क्यों छोड़ी?

मुंबई: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने की आरोपी अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) की ओर से दर्ज धन शोधन मामले में केंद्रीय एजेंसी के सामने पेश हुईं.

अभिनेत्री बलार्ड एस्टेट क्षेत्र में स्थित एजेंसी के कार्यालय में दोपहर से ठीक पहले पेश हुईं. रिया अपने भाई शोविक के साथ आई थीं.

सुशांत सिंह केस में आज ईडी ने सुशांत की बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी, रिया के चार्टर्ड अकाउंटेंट रितेश शाह, भाई शोविक और खुद रिया चक्रवर्ती से पूछताछ की. 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, ईडी के अलग-अलग अधिकारियों ने अलग केबिन में इनसे पूछताछ की. अब तक चारों को एक साथ बिठाकर पूछताछ नहीं हुई है.

रिया और शोविक चक्रवर्ती से उनके कुल बैंक अकाउंट्स की जानकारी मांगी गई.

ईडी ने इन दोनों से उनके और उनके परिवार के सभी सदस्यों के सभी बैंक अकाउंट्स और उनके स्टेटमेंट्स से जुड़े कुछ सवाल पूछे.

कंपनी में रिया, शोविक और सुशांत की भूमिका
रिया से उनके पिछले कुछ सालों में हुई आमदनी और निवेश के बारे में भी पूछा गया.

रिया और शोविक सुशांत की जिन दो कंपनियों में डायरेक्टर थे उन कंपनियों के बारे में, उनके क्लाइंट्स, ऑपरेशन्स, स्टाफ और कंपनी के बिजनेस मॉडल के बारे में भी सवाल किया गया.

कंपनी में रिया, शोविक और सुशांत की भूमिका के बारे में पूछा गया. डिसीजन मेकिंग पावर किसके थे ये भी पूछा गया.

इन कंपनियों में पैसों के लेन देन के बारे में इन चारों से अलग अलग सवाल किए गए.

रिया से एक अहम सवाल ये भी पूछा गया कि आखिर उन्होंने कंपनी बनने के कुछ महीने बाद ही डायरेक्टर का पद क्यों छोड़ा ?

ईडी अधिकारी अब इन चारों के बयान को आपस में मिला कर जांच कर सकते हैं और मेल न खाने वाली जानकारियों को लेकर इन सब से दूसरे राउंड की पूछताछ भी हो सकती है.  वहीं जरूरत पड़ने पर अगली पूछताछ इन सभी को आमने सामने बैठाकर भी हो सकती है.

पेशी को टालने का अनुरोध खारिज
चकवर्ती की कारोबारी प्रबंधक श्रुति मोदी भी एजेंसी द्वारा तलब किए जाने के बाद पेश हुईं. मोदी सुशांत सिंह  राजपूत के लिए भी काम करती थीं.

अधिकारियों ने कहा कि चक्रवर्ती, मोदी और शोविक के बयान धनशोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दर्ज किये गए.

उन्होंने बताया कि राजपूत के दोस्त और उनके साथ रहने वाले सिद्धार्थ पिठानी को भी धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने शनिवार को पेश होने के लिए तलब किया है. इन्हें भी अभिनेता के पिता द्वारा बिहार पुलिस को दी गई शिकायत के बाद दर्ज धनशोधन मामले के संबंध में तलब किया गया है.

पिठानी अभी मुंबई से बाहर बताए गए हैं. वह यह कह चुके हैं कि वह 14 जून को अभिनेता के बांद्रा स्थित फ्लैट में थे. अभिनेता ने 14 जून को फांसी लगा ली थी.

ऐसा कहा जा रहा है कि आईटी पेशेवर पिठानी एक साल से राजपूत के साथ रह रहे थे. वह इस मामले में मुंबई पुलिस द्वारा दुर्घटनावश मौत रिपोर्ट (एडीआर) जांच में अपना बयान पुलिस में दर्ज करा चुके हैं.

राजपूत के पिता द्वारा खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगाए जाने के बाद चक्रवर्ती ने शुरू में यह कहते हुए एजेंसी के समक्ष पेश होने से इनकार कर दिया था कि उसकी याचिका उच्चतम न्यायालय के समक्ष लंबित है.

चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा, “इस तथ्य के मद्देनजर कि ईडी ने मीडिया को सूचित किया है कि पेशी को टालने के अनुरोध को खारिज कर दिया गया है, रिया ईडी के अधिकारियों के समक्ष पेश हुई हैं.”

अधिवक्ता ने एक बयान जारी कर कहा कि चक्रवर्ती कानून का पालन करने वाली नागरिक हैं और जांच में सहयोग करेंगी.

चक्रवर्ती ने न्यायालय में याचिका दायर करके बिहार पुलिस द्वारा दर्ज मामले को स्थानांतरित कर मुंबई पुलिस को सौंपे जाने का अनुरोध किया था. इस याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई होगी.

चक्रवर्ती ने अदालत में दी अपनी याचिका में कहा था कि वह सुशांत के साथ लिव-इन रिलेशन में थीं.

एजेंसी चक्रवर्ती से अभिनेता के साथ उनकी दोस्ती, संभावित कारोबारी लेन-देन और बीते कुछ सालों में उनके बीच की स्थितियों को लेकर सवाल कर सकती है. एजेंसी के पीएमएलए के तहत चक्रवर्ती के बयान दर्ज करने की संभावना है. ऐसी संभावना है कि ईडी के सवाल चक्रवर्ती के आय, निवेश, कारोबारी लेन-देन और पेशेवर करारों और संपर्कों से जुड़े हो सकते हैं.

खार इलाके की संपत्ति की भी जांच
रिया से जुड़ी शहर के खार इलाके की संपत्ति की भी जांच प्रवर्तन निदेशालय द्वारा की जा रही है और एजेंसी इसकी खरीद के स्रोत और मालिकाना हक का पता लगाने में जुटी है.

एजेंसी सुशांत के चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) संदीप श्रीधर से और उनके गृह प्रबंधक और कर्मचारी सैमुअल मिरांडा से दो बार पूछताछ कर चुकी है. राजपूत के पिता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि मिरांडा को चक्रवर्ती ने उनके बेटे द्वारा भर्ती किए गए कर्मचारी को हटाकर नौकरी पर रखा था. निदेशालय चक्रवर्ती के चार्टर्ड अकाउंटेंट रितेश शाह को भी पूछताछ के लिए तलब कर चुकी है.

बता दें कि पटना में रहने वाले सुशांत के 74 वर्षीय पिता केके सिंह ने 25 जुलाई को चक्रवर्ती, उनके माता-पिता (संध्या चक्रवर्ती और इंद्रजीत चक्रवर्ती), उनके भाई शोविक, मिरांडा, मोदी और अज्ञात लोगों पर धोखाधड़ी और उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया था.

ये भी देखें-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.