टीवी पर 'रामायण' के प्रसारण के बाद लोगों ने शुरू किया Swara Bhaskar को Troll करना

लोगों की बोरियत को दूर करने के लिए दूरदर्शन ने भी अस्सी के दशक में अपने मशहूर सीरियल 'रामायण' को पुन: प्रसारित किए जाने का फैसला लिया गया.

टीवी पर 'रामायण' के प्रसारण के बाद लोगों ने शुरू किया Swara Bhaskar को Troll करना
फाइल फोटो

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) से जंग को जीतने के लिए सरकार की ओर से देश में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. लोगों की बोरियत तो दूर करने के लिए दूरदर्शन ने भी अस्सी के दशक में अपने मशहूर सीरियल 'रामायण' (Ramayana) को पुन: प्रसारित किए जाने का फैसला लिया. जहां इससे कई लोगों को बीतें दिनों की याद आई, तो कुछ ने इसके खुलकर मजे भी लिए. सोशल मीडिया पर इस मशहूर कार्यक्रम को दिखाए जाने के बाद मीम्स बनाने का सिलसिला जारी रहा. मंगलवार की सुबह से ट्विटर पर 'रामायण' के दो मशहूर महिला पात्र रानी कैकेयी और उनकी नौकरानी मंथरा ट्रेंड करती रहीं थीं.

एक यूजर ने लिखा, "आज रामायण के एपिसोड से मैंने जो सीखा, वह कुछ इस प्रकार है : जैसे कूटनीति वाले लोगों से दूर रहें नहीं तो आपके अपनों को आप खुद वनवास दोगे. वही दुसरे ने लिखा, "मैंने हमेशा हनुमान और लक्ष्मण जैसा सच्चा मित्र चाहा, लेकिन मुझे मंथरा और विभीषण मिले. कुछ ने तो अभिनेत्री स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) की तुलना मंथरा से करते हुए उन्हें 'आज के जमाने की मंथरा' कहना तक शुरू कर दिया.

'रामायण' और 'महाभारत' से सीख लेते हुए एक दर्शक ने ट्वीट करते हुए लिखा, "31 मार्च सुबह नौ और दोपहर बारह बजे , नकारात्मक लोग/शब्द/विचार को दूर रखा जाना चाहिए मंथरा के जैसे, अन्यथा कैकेयी की तरह आप अपने ही परिवार को तबाह कर देंगे. किस्मत लिखी होती है, लेकिन इंसान को मेहनत करने की आवश्यकता भी है."

सरकार ने कोरोना काल में लिए इस फैसले के कई खास मायने हैं. पिछले कुछ दिन से दरअसल सोशल मीडिया पर इस तरह के मैसेज भी चल रहे थे की पुराना जमाना लौट आया है. सड़कों पर ट्रैफिक नहीं है. लोग घरों पर ही हैं और इसी बीच ये फैसला हो गया की टीवी पर रामायण लौट रही है. लोग भी अपने बच्चों को उस समय का दर्पण दिखा सकेंगे. 

गौरतलब है कि जब 33 साल पहले रामायाण टीवी पर आया करती थी तब किसी प्रधानमंत्री ने टीवी पर आकर ये नहीं कहा था की घर में ही रहना, लेकिन पूरा देश टीवी से चिपका रहता था. आज कल के छोटे बच्चे भले ही ना जानते हों की जब आप रामायण देखते थे तो वो क्या दौर हुआ करता था. वो क्या माहौल हुआ करता था. क्योंकि आपने उस माहौल को जिया है. रविवार की सुबह सड़कों पर कर्फ्यू जैसा माहौल हो जाया करता था. जब रामायण खत्म होती थी उसके बाद ही कोई टीवी के सामने से हिलता था. लेकिन आज सड़कों पर नहीं निकलने की मजबूरी के बीच रामायण फिर प्रसारित होने हो रही है.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें