पहले बने गाने, फिर लिखी गई फिल्म की स्क्रिप्ट, पढ़िए 'आशिकी' बनने की पूरी कहानी

नदीम-श्रवण की जोड़ी ने कुछ बेहद कर्णप्रिय गाने बनाए थे. टी सीरीज के दफ्तर में जब महेश भट्ट ने ये गाने सुने, तो फौरन कहा कि वे इन गानों को अपनी फिल्म में लेंगे. कौन-सी फिल्म, इसका कोई पता नहीं था. महेश भट्ट को गाने इतने अच्छे लगे कि उस दिन उन्होंने तय किया कि वे एक म्यूजिकल कहानी लिखेंगे.

पहले बने गाने, फिर लिखी गई फिल्म की स्क्रिप्ट, पढ़िए 'आशिकी' बनने की पूरी कहानी
आशिकी के हीरो-हीरोइन रातोरात फेमस हो गए. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: ठीक तीस साल पहले आज के ही दिन आशिकी फिल्म रिलीज हुई थी और इसने पहले ही दिन बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा दिया. महेश भट्ट ने 'आशिकी' में दो नए चेहरे लॉन्च किए थे, जो उन दिनों के हिसाब से बहुत अलग थे. लंबे बालों और ओवल चेहरे वाले राहुल राय और सांवली, लंबी अनु अग्रवाल.

गानों की वजह से बनी फिल्म
ये वो दिन थे, जब एक बार फिर मेलोडियस गाने लौटने लगे थे. नदीम-श्रवण की जोड़ी ने कुछ बेहद कर्णप्रिय गाने बनाए थे. टी सीरीज के दफ्तर में जब महेश भट्ट ने ये गाने सुने, तो फौरन कहा कि वे इन गानों को अपनी फिल्म में लेंगे. कौन-सी फिल्म, इसका कोई पता नहीं था. महेश भट्ट को गाने इतने अच्छे लगे कि उस दिन उन्होंने तय किया कि वे एक म्यूजिकल कहानी लिखेंगे. जब उन्हें कोई कहानी नहीं मिली, तो उन्होंने तय किया कि वो अपनी लाइफ की कहानी पर फिल्म बनाएंगे. उनकी पहली वाइफ, पूजा की मम्मी लॉरेन एक अनाथाश्रम में रहती थीं. उनसे उन्नीस साल के महेश भट्ट की मुलाकात बिलकुल उसी हाल में हुई थी, जैसे फिल्म में दिखाया गया है. बस फर्क इतना था कि लॉरेन एक मॉडल नहीं बनीं, हाउस वाइफ बन कर रह गई.

पूजा भट्ट ने क्यों नहीं की फिल्म?
जब महेश भट्ट ने फिल्म की कहानी लिखी, तो सबसे पहले वे पूजा के पास गए. पूजा को अपनी ही मां का रोल प्ले करना था. इससे पहले पूजा महेश भट्ट के साथ डैडी फिल्म में काम कर चुकी थीं. पर उनका मन फिल्मों से उचट गया था. वो नहीं चाहती थीं कि फिल्मों में काम करें. पूजा के मना करने के बाद महेश को नई हीरोइन ढूंढने में काफी मशक्कत हुई. आखिरकार उन्होंने अनु अग्रवाल को फाइनल किया. हालांकि उनकी यूनिट में कई लोगों ने कहा कि सांवली हीरोइन नहीं चलेगी. पर महेश भट्ट ने तय कर लिया कि उनकी हीरोइन अनु ही होगी.

मुहूर्त शॉट में पूजा को हुआ पछतावा
फिल्म में मुहूर्त शॉट देने के लिए महेश ने पूजा को आमंत्रित किया था. उस वक्त फिल्म की पब्लिसिटी देख कर पूजा को बहुत अफसोस हुआ कि उन्होंने फिल्म क्यों नहीं की. उन्होंने कोशिश की कि पापा उन्हें हीरोइन बना दें. पर महेश भट्ट ने मना कर दिया. पूजा को इस बात का आज भी अफसोस है कि 'आशिकी' में हीरोइन का रोल करने से उन्होंने मना कर दिया.

खैर इसके अगले साल जब महेश भट्ट ने 'दिल है कि मानता नहीं' के लिए पूजा से बात की तो उसने फौरन हां कह दिया.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.