शशि कपूर को 'बबुआ' बिग बी ने ब्लॉग लिख कर दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

'हम ज़िंदगी को अपनी कहाँ तक सम्भालते... इस क़ीमती किताब का काग़ज़ ख़राब था'

शशि कपूर को 'बबुआ' बिग बी ने ब्लॉग लिख कर दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि
अमिताभ ने लिखा, शशि उन्हें बबुआ कहा करते थे. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिग्गज अभिनेता शशि कपूर का सोमवार शाम को मुंबई के कोकिलाबेन अस्पातल में निधन हो गया. उनके निधन की खबर मिलते ही पूरे बॉलीवुड में शोक की लहर फैल गई. शशि कपूर काफी लंबे वक्त से किडनी की समस्या से जूझ रहे थे उनके निधन की खबर सुनते ही महानायक उन्हें श्रद्धांजली देने पहुंचे. अमिताभ बच्चन, शशि कपूर के साथ 'त्रिशूल', 'सुहाग' और 'दीवार' जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं और शशि कपूर के निधन पर बिग बी ने उन्हें अपने ब्लॉग में याद किया. 

अपने ब्लॉग की शुरुआत अमिताभ ने रुमी जाफरी की दो लाइन से की. उन्होंने लिखा, ''हम ज़िंदगी को अपनी कहाँ तक सम्भालते... इस क़ीमती किताब का काग़ज़ ख़राब था''. अपने ब्लॉग की शुरुआत अमिताभ बच्चन ने उस वक्त से की जब उन्होंने पहली बार शशि कपूर को एक मैगजीन के कवर पर देखा था. उस दौरान अमिताभ बच्चन फिल्म इंडस्ट्री में अपना नाम बनाने के लिए स्ट्रगल कर रहे थे. 

ब्लॉग में अमिताभ लिखते हैं, शशि कपूर की तस्वीर एक मैगजीन के कवर पर छपी थी. इस तस्वीर में वह मर्सिडीज कार के साथ खड़े थे और मैगजीन का आधे से ज्यादा पेज केवल उनकी तस्वीर से भरा हुआ था और इस पर लिखा था, राज और शम्मी कपूर के छोटे भाई शशि कपूर जल्द ही डेब्यू करने जा रहे हैं. इस तस्वीर को देख अमिताभ बच्चन को लगा था कि अगर फिल्म इंडस्ट्री में आसपास ऐसे लोग हों तो मेरा कोई चांस नहीं. 

हालांकि, बाद में दोनों की जोड़ी को बड़े पर्दे पर काफी पसंद किया गया. 1975 में आई फिल्म 'दीवार' में दोनों ने भाइयों की भूमिका निभाई थी और इस फिल्म में शशि कपूर का एक डायलॉग था मेरे पास मां है. यह डायलॉग आज भी कई लोगों की जुबान पर चढ़ा हुआ है. दोनों की जोड़ी 'एहसास' (1979), 'सुहाग' (1979), 'त्रिशूल' (1978), 'नमक हलाल' (1982), 'रोटी कपड़ा और मकान' (1974) समेत कई फिल्मों में नजर आई और दर्शकों द्वारा सराही भी गई.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें