ब्यूटी पेजेंट के लिए लोकल मार्केट से खरीदा था गाउन, ऐसे जीता था Sushmita Sen ने मिस यूनिवर्स का खिताब

आज ही के दिन छब्बीस साल पहले सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) बनी थीं मिस यूनिवर्स

 ब्यूटी पेजेंट के लिए लोकल मार्केट से खरीदा था गाउन,  ऐसे जीता था Sushmita Sen ने मिस यूनिवर्स का खिताब
फाइल फोटो

नई दिल्ली: 21 मई 1994 को फिलीपीन्स में हुए मिस यूनिवर्स पेजेंट में 18 साल की सुष्मिता सेन दूसरी विश्व सुंदरियों को हरा कर उस साल मिस यूनिवर्स बनीं. सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) के इस सक्सेस को नाकामयाब बनाने वालों के लिए यह करारी हार थी. इस सुंदरी के इस इतिहास को रचे आज पूरे 26 साल हो चुके हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि बिंदास लाइफस्टाइल के लिए जानी जाने वाली सुष्मिता ने ब्यूटी पेजेंट के लिए लोकल मार्केट से गाउन लिया था. आइए इस मौके पर आपको बताते हैं सुष्मिता सेन के बारे में कुछ ऐसे ही अनसुने किस्से...

सुष्मिता फेवरेट क्यों नहीं थी?
सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) ने ग्लेमर की दुनिया से थीं, ना फ्लूएंट इंग्लिश बोलती थी और ना दूसरों का कहना मानती थी. उस साल पहले से फेमस मॉडल ऐश्वर्या राय ने भी पेजेंट में एंट्री की थी. ऐश के डर से कई दूसरी लड़कियां मिस इंडिया शो से अलग हो गईं. सबको उम्मीद थी कि मिस इंडिया ऐश ही बनेगी.

मार्केट सरोजिनी नगर से गाउन खरीदा
सुष्मिता निखालिस रॉ थी. ब्यूटी पेजेंट के लिए दिल्ली के डाउन मार्केट सरोजिनी नगर से अपना गाउन खरीद कर मुंबई गई थी. उसकी तरफ तो किसी ने ध्यान भी नहीं दिया था. लेकिन उसका आत्मविश्वास उसे अंतिम राउंड तक ले गया. सुष्मिता को उम्मीद नहीं थी कि वह जीतेगी. उसका किसी से कंपटीशन भी नहीं था. वह तो मजे के लिए इस पेजेंट में हिस्सा लेने आई थी. उसका काफी मजाक भी उड़ाया जाता, दूसरों की तरह वह अंग्रेजी फर्राटे से नहीं बोलती थी, उसका फैशन भी अजीब था. उसे मेकअप करना भी नहीं आता था. लेकिन जब वह बोलती थी तो बहुत खरा और सही बोलती थी. हर राउंड के जज उसकी बातों से बहुत प्रभावित होते रहे. लास्ट राउंड में भी ऐश ने रटा-रटाया जवाब दिया और सुष्मिता ने दिल से अपनी बात कही. जब वह मिस इंडिया बनी तो कई स्पॉन्सर्स निराश हो गए.

पासपोर्ट हुआ था चोरी
मिस यूनिवर्स कंपटीशन के लिए ठीक फिलीपींस जाने से पहले सुष्मिता्मिता का पासपोर्ट चोरी हो गया. आयोजकों ने कहा, यह अच्छा मौका है. सुष्मिता्मिता की जगह ऐश्वर्या राय को भेज देते हैं. सुष्मिता ने उस समय अपने पापा से कहा था—मेरे साथ ऐसा नहीं होना चाहिए. मैं बहुत ईमानदार हूं. अगर मैं कंपटीशन में भाग लेने फिलीपींस नहीं जा पाई तो और किसी को नहीं जाना चाहिए. ऐन वक्त पर उसका डुप्लीकेट पासपोर्ट तैयार हो गया और सुष्मिता फिलीपींस चली गई. इसके बाद जैसा कहते हैं रेस्ट इज हिस्ट्री. सुष्मिता्मिता सेन देश की पहली यूनिवर्स बनीं.

असफलता से नहीं घबराती सुष्मिता
आज छब्बीस साल बाद सुष्मिता बेशक एक कामयाब एक्ट्रेस नहीं बन पाई, पर वह एक कामयाब एंटरप्रेन्योर है. इंडिया और दुबई में रेने के नाम से ज्वेलरी स्टोर चलाती है, अपना स्पा है और ब्यूटी कॉन्टेस्ट में भाग लेने को इच्छुक लड़कियों को ट्रेन करती है.

सुष्मिता ने हमेशा लीक से हट कर काम किया. पच्चीस साल की थी तो बड़ी बेटी रेने को गोद लिया और इसके दस साल बाद छोटी बेटी एलिसा को गोद लिया. सिंगल मदर बनने में उसे कभी दिक्कत नहीं आई. इस बीच उसने कम से कम पांच नाकामयाब अफेयर किए. विक्रम भट्ट के साथ तो काफी सीरियसली इन्वॉल्व रहीं. वे जो भी काम करती हैं अपनी बेटियों को बता कर करती हैं. इस समय उनकी बेटी रेने इक्कीस साल की है. छोटी बेटी ग्यारह साल की.

सुष्मिता के पैर खींचने वाले थे कौन?
इंडस्ट्री में कुछ लोग थे, जो सुष्मिता्मिता को एक कामयाब एक्ट्रैस बनते नहीं देखना चाहते थे. हालांकि ऐश और सुष्मिता ने कभी खुल कर एक-दूसरे की बुराई नहीं की, पर ऐश के फेन्स ने यह कमी पूरी कर दी. ऐश के एक एक्स बॉय फ्रेंड ने सुष्मिता के विरुद्ध इंडस्ट्री में झंडा बुलंद कर दिया. इसके बाद उसे कई बड़ी फिल्मों से हाथ धोना पड़ा.

सुष्मिता की खुशी का राज
सुष्मिता्मिता सेन बीच में डिप्रेशन में चली गई थीं. वजन भी बढ़ा लिया था. लेकिन पिछले तीन सालों से वे अपने आप में पूरी तरह खुश हैं. अपने से उम्र में कई साल छोटे बॉय फ्रेंड रोहमन शाल के साथ स्टर्डी रिलेशनशिप में हैं. माना जा रहा है कि जल्द ही दोनेां शादी करने वाले हैं.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें