'पानीपत' में इतिहास से छेड़छाड़ की बात पर अर्जुन कपूर ने दी सफाई, बोले: 'हमने समय का ध्यान रखा है!'

 फिल्म में पार्वती बाई के किरदार के रूप में अभिनेत्री कृति सैनन द्वारा बोले गए कुछ संवादों को लेकर फिल्मकारों को कानूनी नोटिस भेजा है.

'पानीपत' में इतिहास से छेड़छाड़ की बात पर अर्जुन कपूर ने दी सफाई, बोले: 'हमने समय का ध्यान रखा है!'

नई दिल्ली: अभिनेता अर्जुन कपूर ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी अपनी अगली फिल्म की रिलीज की तैयारी में व्यस्त हैं. उनका कहना है कि निर्माताओं ने फिल्म में उस वक्त के दौर का पूरा ध्यान रखा है. फिल्म के ट्रेलर के रिलीज होने के बाद से इस पर कई सवाल उठाए गए हैं. इनमें से एक सवाल गुरुवार शाम को सामने आया, जब ऐसे खबर आई कि पेशवा बाजीराव की आठवीं पीढ़ी के वंशज नवाबजादा शादाब अली बहादुर ने फिल्म में पार्वती बाई के किरदार के रूप में अभिनेत्री कृति सैनन द्वारा बोले गए कुछ संवादों को लेकर फिल्मकारों को कानूनी नोटिस भेजा है.

अली बहादुर ने इसे 'बेहद अपमानजनक' बताते हुए कहा है कि उन्होंने केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड से इस लाइन को हटाने की मांग की है. यह संवाद कुछ इस प्रकार है : "मैंने सुना है पेशवा जब अकेले मुहिम पर जाते हैं तो एक मस्तानी के साथ लौटते हैं."

फिल्म 'पानीपत' पर फिर विवाद, अफगान सरकार के बाद अब मराठा मोर्चा ने किया विरोध

इस पूरे विवाद पर अर्जुन ने कहा, "मुझे इस बारे में नहीं पता है, ऐसे में कुछ कहना नासमझी होगी." फिल्म को लेकर चल रहे विवादों के इस दौर के बारे में अर्जुन ने कहा, "मुझे जो केवल एक चीज पता है वह यह कि हमारी फिल्म 'बाजीराव मस्तानी' के समय के 20 साल बाद के समय की कहानी है, तो हमने कालखंड का पूरा अनुसरण किया है और 'बाजीराव मस्तानी' पर तो एक पूरी फिल्म बनी है. मुझे नहीं लगता कि हम कहीं गलत हो सकते हैं."

यह फिल्म सन 1761 में मराठा योद्धाओं और अब्दाली के बीच लड़ी गई पानीपत की तीसरी लड़ाई पर आधारित है, जो छह दिसंबर को रिलीज हो रही है. फिल्म में संजय दत्त, जीनत अमान भी प्रमुख किरदारों में हैं.

बॉलीवुड की और भी खबरें यहां पढ़ें