Zee Rozgar Samachar

इस बात को सुन मीडिया के सामने ही रो पड़े थे रणवीर सिंह, जानिए पूरा किस्सा

2010 में 'बैंड बाजा बारात' फिल्म के रिलीज होने के बाद एक प्रेम कान्फ्रेंस में जब फिल्म के हीरो 'बिट्टू शर्मा' उर्फ रणवीर सिंह से यह पूछ गया कि आउटसाइडर होते हुए भी आपको यशराज बैनर की फिल्म में काम करने का मौका कैसे मिल गया, तो रणवीर सिंह ने कहा, मेरे टैलेंट की वजह से. रणवीर सिंह का जवाब लोगों को पसंद नहीं आया

इस बात को सुन मीडिया के सामने ही रो पड़े थे रणवीर सिंह, जानिए पूरा किस्सा
बैंड बाजा बारात में रनवीर की जोड़ी जमी थी अनुष्का शर्मा के साथ

नई दिल्ली: 2010 में बैंड बाजा बारात फिल्म के रिलीज होने के बाद एक प्रेम कान्फ्रेंस में जब फिल्म के हीरो बिट्टू शर्मा उर्फ रणवीर सिंह से यह पूछ गया कि आउटसाइडर होते हुए भी आपको यशराज बैनर की फिल्म में काम करने का मौका कैसे मिल गया, तो रणवीर ने कहा, मेरे टैलेंट की वजह से.

रणवीर का जवाब पसंद नहीं आया
रणवीर का यह एटीट्यूड एक अंग्रेजी दा मीडियाकर्मी को रास नहीं आया. बहुत जल्द मीडिया में यह बात फैल गई कि रणवीर सिंह के पिताजी ने 'बैंड बाजा बारात' फिल्म में अपने बेटे को लेने के लिए पैसा लगाया है. 'बैंड बाजा बारात' एक हिट थी, तीसरे सप्ताह के बाद इस फिल्म ने जोर पकड़ा और बॉक्स ऑफिस पर चलने लगी.

रणवीर को बहुत बुरा लगा
इस फिल्म की कामयाबी के बाद जब अनुष्का शर्मा के साथ रणवीर के अफेयर की खबरें उड़ने लगीं, रणवीर एक बार फिर मीडिया की नजरों में आ गए. फरवरी 2011 में रणवीर सिंह मीडिया के सामने रो ही पड़े. वजह थी, मीडिया का यह कहना कि बैंड बाजा बारात में उनके पिताजी का पैसा लगा है. यह बात सुन कर रणवीर सिंह रो पड़े.

रणवीर सिंह लगातार यह कहते रहे कि वे बाहर के हैं और उनके पिताजी के पास इतने पैसे भी नहीं थे कि उनके लिए फिल्म बना सकें. यही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई यह बात साबित कर दे, तो वे इंडस्ट्री छोड़ कर चले जाएंगे. उन्हें अपने बल पर इंडस्ट्री में आना है और शुरुआत में इस तरह के अलीगेशन लगने के बाद उन्हें कोई और अपनी फिल्म में नहीं लेगा. रणवीर सिंह को वाकई इस बात को ले कर बहुत बुरा लग रहा था कि उन पर फिल्म में पैसा लगाने का आरोप लगाया जा रहा है.

उनके बचाव में फिल्म के निर्देशक मनीष उतर आए. मनीष ने यह स्पष्ट किया कि फिल्म में यशराज का पैसा लगा है, रणवीर का नहीं. यशराज फिल्म अपनी फिल्मों में बहुत देख-समझ कर कास्ट चुनता है.

रणवीर को जल्दी से स्टार बनना था
रणवीर अपनी पहली फिल्म की कामयाबी से खुश नहीं थे. उन्हें लग रहा था उन्हें जल्दी से अपनी आने वाली दो-तीन फिल्मों में अपने आपको साबित करना होगा, ताकि उनके ऊपर से यह ठप्पा निकल सके. इसके दो साल बाद रणवीर ने आलोचनाओं का मुकाबला करना सीख लिया. जब उनकी फिल्में एक के बाद एक हिट होने लगीं, वे संजय लीला भंसाली और फरहान अख्तर के प्रोडक्शन में काम करने लगे, उन्होंने खुद ही अपना मजाक बनाना शुरू कर दिया कि इन सभी फिल्मों में भी मैं ही पैसा लगा रहा हूंं.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें  

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.