महंगा हुआ मटन, तो लोगों ने खुद से खोल ली दुकान और फिर...

दुकानदारों ने महंगाई का हवाला देते हुए मटन के दाम 520 रुपए किलो कर दिए थेे. 

महंगा हुआ मटन, तो लोगों ने खुद से खोल ली दुकान और फिर...
दाम बढ़ने से लोगों को परेशानी होने लगी.(फाइल फोटो)

कोल्हापुर,प्रताप नाईक: महाराष्ट्र के कोल्हापुर की पहचान तीन कारणों से होती है. नंबर एक कोल्हापुरी चप्पल, नंबर दो महालक्ष्मी का ऐतिहासिक मंदिर और नंबर तीन तीखे, मसालेदार नॉनवेज फूड. लेकिन जब कोल्हापुर के मटन दुकानदारों ने मटन के दाम बढ़ा दिए तो लोगों ने एक अनोखी लड़ाई लड़कर उन्हें जवाब दिया. दरअसल दुकानदारों ने महंगाई का हवाला देते हुए मटन के दाम 520 रुपए किलो कर दिए. मटन के दाम बढ़ाने वाली एक्शन कमिटी और मटन विक्रेताओं ने आपस में चर्चा कर दाम बढ़ा दिए थे. दाम बढ़ने से लोगों को परेशानी होने लगी क्योंकि नॉनवेज फूड के बिना उन्हें खाना बिल्कुल अच्छा नहीं लगता था.

पहले तो लोगों ने दुकानदारों को समझाने की कोशिश की कि लेकिन वो किसी कीमत पर दाम घटाने को तैयार नहीं हुए. ऐसे में दुकानदारो को सबक सिखाने के लिए संयुक्त राजारामपुरी तरुण मंडल आगे आया. मंडल के कार्यकर्ताओं ने नो प्रॉफिट नो लॉस के आधार पर अपने स्टाल लगाए और वहां बाजार भाव से 100 रुपए किलो सस्ता यानी 420 रुपए किलो के भाव पर मटन बेचना शुरू कर दिया.

यह भी देखें:-

खास बात ये कि इन स्टाल पर फूड और सेफ्टी के सारे नियमों का सख्ती से पालन होता था. मंडल के इस प्रयास से लोग खुश हैं और उन्हें सस्ते दाम पर मटन मिल रहा है.