जानें कौन सी चाय सेहत के लिए बेहतर है, काली या दूध वाली

कई लोग दिनभर में 7-8 कप चाय पी जाते हैं. ज्यादातर लोगों को दूध वाली चाय अधिक पसंद आती है. फिटनेस फ्रीक होने के नाते ग्रीन टी, ब्लैक टी या फिर ब्लैक कॉफी पीना पसंद करते हैं. 

जानें कौन सी चाय सेहत के लिए बेहतर है, काली या दूध वाली
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: चाय पीना सभी पसंद करते हैं, चाहे सर्दी का मैसम हो या फिर गर्मी का. अधिकतर लोगों की नींद ही चाय की प्याली से खुलती है. वहीं कई लोग दिनभर में 7-8 कप चाय पी जाते हैं. ज्यादातर लोगों को दूध वाली चाय अधिक पसंद आती है. फिटनेस फ्रीक होने के नाते ग्रीन टी, ब्लैक टी या फिर ब्लैक कॉफी पीना पसंद करते हैं. चाय तो सभी पीते हैं, लेकिन कौन सी चाय स्वास्थ्य के लिहाज से बेहतर है, यह सभी लोग नहीं जानते हैं. तो जानिए दूध वाली चाय या फिर काली चाय, कौन सी पीना बेहतर होती है.

दूध वाली चाय शरीर के लिए फायदेमंद है या नहीं
दूध और चीनी मिलाने से चाय के गुण कम हो जाते हैं. चाय में दूध मिलाने से एंटी-ऑक्सीडेंट तत्वों की एक्टिविटी भी कम हो जाती है जबकि चीनी डालने से कैल्शियम घट जाता है. इससे वजन बढ़ता है और इससे एसिडिटी की आशंका बढ़ जाती है. चाय में टैनिन होता है जो दूध चीनी से मिलकर ड्रिंक को खराब कर देता है. दूध में मौजूद प्रोटीन चाय के फायदे को खत्म करता है. नतीजतन दूध वाली चाय शरीर के लिए फायदेमंद नहीं बल्कि नुकसानदेय होती है.

ये भी पढ़ें- बेहद बदबूदार होने के बावजूद इस देश के लोग रोज खाते हैं ये फूड

ब्लैक टी वजन कम कर सकती है
कुछ लोग वजन घटाने के लिए ग्रीन या ब्लैक टी पीते है, इसमें मौजूद विशेष तत्व पेट यानी गट में पहुंच कर काफी असरकारी हो जाते हैं. यह तत्व वजन घटाने और शरीर को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाते हैं. माना जाता है कि ब्लैक और ग्रीन टी दोनों में प्रोबायोटिक्स तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर में प्रतिरोधक सूक्ष्मजीवों को बढ़ाने में मददगार हैं. इसलिए ऐसी चाय शरीर के लिए बेहतर पेय होती है.