'जीवनरक्षक' है पीपल, पत्ते से लेकर छाल तक ये हैं 10 फायदे, आप भी जानिए

पीपल के अलग-अलग हिस्सों जैसे पत्ते, छाल के इस्तेमाल से बुखार, अस्थमा, खांसी, त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं से राहत पाई जा सकती है. 

'जीवनरक्षक' है पीपल, पत्ते से लेकर छाल तक ये हैं 10 फायदे, आप भी जानिए
आयुर्वेद की सुश्रुत संहिता और चरक संहिता में पीपल के औषधीय गुणों के बारे में बताया गया है.

नई दिल्ली: ZEE आध्यात्म में हम प्राकृतिक औषधियों की बात करते हैं. ऐसे पेड़-पौधे जिनका प्रयोग शरीर को निरोग रखने में किया जा सकता है. प्रकृति आपके जीवन का एक अहम हिस्सा है. हम आज पीपल के पवित्र वृक्ष के बारे में बताएंगे जो अपनी प्राणवायु के लिए जाना जाता है. आयुर्वेद की सुश्रुत संहिता और चरक संहिता में पीपल के औषधीय गुणों के बारे में बताया गया है. पीपल के अलग-अलग हिस्सों जैसे पत्ते, छाल के इस्तेमाल से बुखार, अस्थमा, खांसी, त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं से राहत पाई जा सकती है. 

जानिए पीपल के वृक्ष और पत्ते के औषधीय गुण: 
1. पीपल तनाव कम करता है.  
2. पीपल से आंखों की सभी समस्याएं ठीक हो जाती हैं. 
3 पीपल के पत्तों को छांव में सुखाकर मिश्री के साथ इसका काढ़ा बनाकर पीने से सर्दी-जुकाम में काफी लाभ होता है. 
4. भूख बढ़ाने के लिए पीपल का प्रयोग करें. 
5. शारीरिक कमजोरी को दूर करता है. 
6. सर्दी-खांसी में पीपल से फायदा होता है. पीपल के पेड़ की छाल का अंदरूनी हिस्सा निकालकर सुखा लें. सूखे हुए इस भाग का चूर्ण बनाकर खाने से सांस संबंधी सभी समस्याएं दूर हो जाती है.
7. पीपल के पत्तों का इस्तेमाल कब्ज या गैस की समस्या में दवा के तौर पर किया जाता है. इसे पित्‍त नाशक भी माना जाता है, इसलिए पेट की समस्याओं में इसका प्रयोग लाभप्रद होता है.
8. त्वचा पर होने वाली समस्याओं जैसे दाद, खाज, खुजली में पीपल के कोमल पत्तों को खाने या इसका काढ़ा बनाकर पीने से लाभ होता है.
9. फोड़े-फुंसी जैसी समस्या होने पर पीपल की छाल का घिसकर लगाने से फायदा होता है.
10. त्वचा का रंग निखारने के लिए भी पीपल की छाल का लेप या इसके पत्तों का प्रयोग किया जा सकता है. यह त्वचा की झुर्रियों को कम करने में भी मदद करता है. 

VIDEO

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.