ग्रीन टी का सेवन वजन घटाने में मददगार

  वजन घटाने के लिए ग्रीन टी सप्लीमेंट्स लेने पर विचार कर रहे हैं, तो एक बार और सोचिए। शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि इसका स्वास्थ्य पर बेहद हानिकारक प्रभाव हो सकता है. यहां तक कि आपका लीवर (जिगर) खराब हो सकता है। ग्रीन टी सप्लीमेंट्स लेने की बजाय अगर आप ग्रीन टी का सेवन करते हैं, तो न सिर्फ आपका लीवर खराब होने का जोखिम कम होगा, बल्कि यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद साबित होगा। निष्कर्ष में यह बात सामने आई है कि सप्लीमेंट्स लेने के पहले ग्रीन टी का सेवन उसके प्रतिकूल प्रभावों को कम कर सकता है। पेंसिलवेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर साइंस में फूड साइंस के प्रोफेसर जोश लैंबर्ट ने कहा, सप्लीमेंट्स लेने की बजाय ग्रीन टी के सेवन के फायदे का आपको खुद अहसास होगा और लीवर से संबंधित जोखिम से भी बचे रहेंगे।

ग्रीन टी का सेवन वजन घटाने में मददगार

न्यूयॉर्क:  वजन घटाने के लिए ग्रीन टी सप्लीमेंट्स लेने पर विचार कर रहे हैं, तो एक बार और सोचिए। शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि इसका स्वास्थ्य पर बेहद हानिकारक प्रभाव हो सकता है. यहां तक कि आपका लीवर (जिगर) खराब हो सकता है। ग्रीन टी सप्लीमेंट्स लेने की बजाय अगर आप ग्रीन टी का सेवन करते हैं, तो न सिर्फ आपका लीवर खराब होने का जोखिम कम होगा, बल्कि यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद साबित होगा। निष्कर्ष में यह बात सामने आई है कि सप्लीमेंट्स लेने के पहले ग्रीन टी का सेवन उसके प्रतिकूल प्रभावों को कम कर सकता है। पेंसिलवेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर साइंस में फूड साइंस के प्रोफेसर जोश लैंबर्ट ने कहा, सप्लीमेंट्स लेने की बजाय ग्रीन टी के सेवन के फायदे का आपको खुद अहसास होगा और लीवर से संबंधित जोखिम से भी बचे रहेंगे।

ग्रीन टी में 'कैटेकिंस' तथा 'पॉलिफिनॉल्स' होता है, जो स्वाभाविक एंटीऑक्सिडेंट है। जानवरों पर किए गए कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि पॉलिफिनॉल्स मोटापा कम करने में कारगर भूमिका निभाता है। लैंबर्ट ने कहा कि हमारा मानना है कि यह अध्ययन इस बात की ओर संकेत करता है कि जो लोग ग्रीन टी का सेवन करते हैं, वे ग्रीन टी सप्लीमेंट्स के कारण होने वाले लीवर के बुरे प्रभावों के प्रति बेहद कम संवेदनशील होंगे। यह अध्ययन पत्रिका 'फूड एंड केमिकल टॉक्सिकोलॉजी' में प्रकाशित हुआ है।

 

न्यूयॉर्क(नवभारत). वजन घटाने के लिए ग्रीन टी सप्लीमेंट्स लेने पर विचार कर रहे हैं, तो एक बार और सोचिए. शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि इसका स्वास्थ्य पर बेहद हानिकारक प्रभाव हो सकता है. यहां तक कि आपका लीवर (जिगर) खराब हो सकता है. ग्रीन टी सप्लीमेंट्स लेने की बजाय अगर आप ग्रीन टी का सेवन करते हैं, तो न सिर्फ आपका लीवर खराब होने का जोखिम कम होगा, बल्कि यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद साबित होगा.निष्कर्ष में यह बात सामने आई है कि सप्लीमेंट्स लेने के पहले ग्रीन टी का सेवन उसके प्रतिकूल प्रभावों को कम कर सकता है.पेंसिलवेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर साइंस में फूड साइंस के प्रोफेसर जोश लैंबर्ट ने कहा, "सप्लीमेंट्स लेने की बजाय ग्रीन टी के सेवन के फायदे का आपको खुद अहसास होगा और लीवर से संबंधित जोखिम से भी बचे रहेंगे."ग्रीन टी में 'कैटेकिंस' तथा 'पॉलिफिनॉल्स' होता है, जो स्वाभाविक एंटीऑक्सिडेंट है. जानवरों पर किए गए कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि पॉलिफिनॉल्स मोटापा कम करने में कारगर भूमिका निभाता है.लैंबर्ट ने कहा, "हमारा मानना है कि यह अध्ययन इस बात की ओर संकेत करता है कि जो लोग ग्रीन टी का सेवन करते हैं, वे ग्रीन टी सप्लीमेंट्स के कारण होने वाले लीवर के बुरे प्रभावों के प्रति बेहद कम संवेदनशील होंगे."यह अध्ययन पत्रिका 'फूड एंड केमिकल टॉक्सिकोलॉजी' में प्रकाशित हुआ है. - See more at: http://navabharat.org/index.php/health/113823-%E0%A4%97%E0%A5%8D%E0%A4%B...