मोटापा आपको दे सकती है ये गंभीर बीमारी, इसके बारे में शायद ही जानते हों आप

जवानी में जब मोटे लोगों ने अपना वजन सामान्य कर लिया तो उससे गठिया का खतरा टल गया.

मोटापा आपको दे सकती है ये गंभीर बीमारी, इसके बारे में शायद ही जानते हों आप

नई दिल्ली: शरीर के वजन को कम करके गठिया रोग से पीड़ित मरीजों के लक्षण में कमी लाई जा सकती है. यह खास तौर पर घुटनों के पुराने ऑस्टियोअर्थराइटिस (Osteoarthritis) यानि गठिया की स्थिति को गंभीर करता है, जिससे पीड़ित व्यक्ति असहज और घातक पीड़ा का अनुभव करता है. बोस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के अनुसार जवानी का मोटापा और जोड़ों के बीच गहरा संबंध होता है. जवानी में जब मोटे लोगों ने अपना वजन सामान्य कर लिया तो उससे गठिया का खतरा टल गया.

बोस्टन यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर एंड्रूय स्टोक्स ने बताया कि हमारा शोध बताता है कि सामाजिक और संरचनात्क कारक जैसे ज्यादा खाना और मोटापा किस तरह जोड़ों के दर्द को बढ़ाते हैं और ये रोग गठिया में बदलकर भयानक तकलीफ और अपंगता की वजह बन सकता है.

शोधकर्ताओं ने बड़े डाटा का इस्तेमाल करते हुए 40-69 साल के लोगों को सर्वे में शामिल किया. शोधकर्ताओं ने इस दौरान उनका वजन, BMI, हड्डियों और जोड़ों के दर्द की समस्याओं का अध्ययन किया.

ये भी पढ़ें, सेहत के लिए बड़ा गुणकारी है 'अदरक का पानी', जानें इसके भरपूर लाभ

वजन घटने से गठिया की परेशानी में भी सुधार आता है. जीवनशैली में बदलाव लाकर वजन को तो कम किया ही जा सकता है, साथ ही गठिया में भी सुधार लाया जा सकता है. ये बदलाव आहार के साथ-साथ रहन सहन में भी जरूरी हैं. प्रतिदिन व्यायाम करना, खाने के बाद आधे घंटे की वॉक, मॉर्निंग वॉक, लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करना, जंक फूड से दूर रहना आदि से रोगियों को काफी राहत मिलती है.

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ये भी देखें-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.